टीबी रोगी की सूचना पर निजी आयुष चिकित्सक भी पाएंगे प्रयोतसाहन भत्ता| HelthNews

0

 


अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के आह्वान पर क्षय रोग को 2025 तक भारत को टीबी को जड़ से समाप्त करने के लिए शासन द्वारा दिशा निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत जिले में अगर कोई प्राइवेट आयुष (होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक व यूनानी) चिकित्सक किसी भी क्षय रोग की खोज करेंगें तो उन्हें प्रोत्साहन भत्ते के पांच सौ रुपए दिए जाएंगे। साथ ही क्षय रोगी का निःशुल्क इलाज कराने के साथ ही उसे निक्षय पोषण भत्ता भी दिया जाएगा। यह बात जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अनुपम भास्कर ने कही।


जिला क्षय रोग अधिकारी ने कहा कि ऐसे टीबी रोगी जो आर्थिक रूप से पिछड़े है, उनके लिए समाज के प्रत्येक वर्ग को आगे आना चाहिए, ताकि टीबी की दवाई के साथ उन्हें पोषण सामिग्री भी मिल सके। साथ ही वह सब आर्थिक और मानसिक रूप से भी स्वस्थ हो सकें। इसके अतिरिक्त अन्य क्षय रोगियों को गोद लेने के लिए भी लगातार समुदाय को प्रोत्साहित किया जा रहा है।


जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अनुपम भास्कर ने बताया कि इसके लिए अब सरकार द्वारा सरकारी और निजी चिकित्सकों द्वारा टीबी रोगियों का नोटिफिकेशन कराना अनिवार्य कर दिया गया है। क्षय रोग विभाग के प्रावधान में प्रत्येक के लिए है, कि प्राइवेट डॉक्टरों और होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक या यूनानी चिकित्सक के अलावा अन्य कोई भी कैपिसट या फिर संस्था के माध्यम से भी क्षय रोग से ग्रसित मरीजों की सूचना मिलती हैं, तो सूचना मिलने पर क्षय रोग विभाग की टीम तुरंत अस्पताल तक पहुंचाने का काम करेगी। साथ ही निजी चिकित्सकों को टीबी रोगियों की सूचना देने पर क्षय रोग विभाग से 500 रुपए की प्रोत्साहन राशि तथा, यदि टीबी से ग्रसित मरीज अपना इलाज पूरा हो चुका हो तो 500 रुपये की अतिरिक्त प्रोत्साहन धनराशि भी दी जाती है। उन्होंने कहा खोजने वाले व्यक्ति को कुल हजार रुपए का क्षय रोग विभाग द्वारा प्रदान किए जाएंगे।


जिला कार्यक्रम समन्वयक सतेन्द्र कुमार ने बताया कि प्राइवेट होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक व यूनानी चिकित्सकों के लिए शासन ने नई पहल शुरू की है। जनपद में हर तरह के मरीज चिकित्सकों के यहां आते हैं। ऐसे मरीज जो क्षय रोग से पीड़ित हैं। उन्हें क्षय रोग विभाग में रेफर करके उनका सही समय पर इलाज करा सकते हैं। 



...इन केन्द्रों पर होगा इलाज निःशुल्क:

मलखान सिंह जिला चिकित्सालय, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जिला संयुक्त चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज और सीएचसी अकराबाद, सीएचसी अतरौली, सीएचसी खैर, टप्पल व जटटारी, सीएचसी इगलास, सीएचसी गोंडा,  गभाना, पनेठी, सीएचसी हरदुआगंज, सीएचसी जवां, मडराक, लोधा, चंडौस, छर्रा, बिजौली एवं शाहजमाल ऊपरकोठ, बन्ना देवी, नौरंगाबाद पर टीबी की जांच व इलाज के लिए ब्लाक के सभी चिकित्सा पर सुविधा निःशुल्क उपलब्ध है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top