"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

उत्तर-प्रदेश | उपमुख्यमंत्री ने रोहिना सिंहपुर में अमृृत सरोवर का किया लोकार्पण


चंचलवर्मा, अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़| जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए आवश्यकतानुसार जल का उपयोग करें। हम सभी को जल की एक एक बूंद की कीमत को समझना होगा। पुराने पड़े तालाबों, पोखरों, कुओं, नदियों को फिर से पुनर्जीवित करना होगा। जल संरक्षण की दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए विशेष व्यवस्था बनाई गई है।मा. मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में अमृत सरोवर निर्माण की प्रक्रिया तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। प्रदेश के सभी जनपदों में अमृत सरोवर निर्माण कार्य तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। विगत 5 वर्षों में जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए चलाए गए अभियान के माध्यम से अनेक विकास खंडों को अतिक्रिटिकल से सामान्य विकास खंडों में बदलने में सफलता प्राप्त हुई है।


      उक्त उद्गार माननीय उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने अलीगढ़ भ्रमण के दौरान विकासखंड धनीपुर के ग्राम रोहिना सिंहपुर में अमृत सरोवर के लोकार्पण के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि मा. प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा एवं मा. मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश चौमुखी विकास कर रहा है। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में वन महोत्सव के दौरान प्रदेश में 35 करोड़ पौधे रोपे गए, वहीं पर जनपद अलीगढ़ में 39 लाख 36 हजार पौधरोपण किया गया। कैच द रैन एवं अमृत सरोवर जैसे कार्यक्रम पूरे देश में आरंभ हुए हैं। प्रदेश भर में पुराने तालाबों, पोखरों को पुनर्जीवित कर अमृत सरोवर बनाने की प्रक्रिया तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। जनपद में 75 अमृत सरोवर निर्माण के सापेक्ष 176 तालाबों पर अमृत सरोवर निर्माण का कार्य प्रगति पर है।


    अलीगढ़ के विकासखंड धनीपुर के ग्राम रोहिना सिंहपुर में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के तहत अमृत सरोवर एवं अमृत वन का फीता काटकर, विधि विधान से पूजा अर्चना कर, नारियल फोड़कर लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के तहत मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत संपूर्ण प्रदेश के प्रत्येक जनपद में 75 अमृत सरोवर का निर्माण करने के निर्देश दिए गए हैं। उत्तर प्रदेश चूंकि बड़ा प्रदेश है, वर्तमान में प्रदेश में 6000 अमृत सरोवर बनाए जा रहे हैं। आने वाले 15 अगस्त को 20 प्रतिशत अमृत सरोवर तैयार हो जाएंगे, जहां पर गांववासी मिलकर देश की आन-बान-शान का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ ही राष्ट्रगान भी गाएंगे। सभी ग्रामवासी मिलकर संकल्प लेंगे कि अमृत सरोवर की हर तरह से रक्षा करेंगे। अमृत सरोवर के इर्द-गिर्द पौधरोपण भी किया गया है। इस अवसर पर मा. उपमुख्यमंत्री जी द्वारा भी पीपल का वृक्ष रोपित कर अमृत वन बनाए जाने की दिशा में एक कदम बढ़ाया। उन्होंने कहा कि जल व वन दोनों ही जीवन का आधार हैं। हमें इनकी अच्छे से देखभाल करते हुये संजोकर संवार कर रखना होगा।


   मुख्य विकास अधिकारी अंकित खंडेलवाल ने बताया कि मा. मुख्यमंत्री जी के दिशा निर्देशन में एवं जिला अधिकारी इंद्र विक्रम सिंह के नेतृत्व में 75 के सापेक्ष जनपद में 176 अमृत सरोवर बनाए जा रहे हैं। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री जी द्वारा प्रतीक स्वरूप विकासखंड धनीपुर के ग्राम रोहिना सिंहपुर में पूरे विधि विधान के साथ 0.311 हेक्टेयर में बनाए गए अमृत सरोवर का लोकार्पण किया गया है। उन्होंने बताया कि इस अमृत सरोवर पर अब तक 2लाख 40 हजार का व्यय हो चुका है। अमृत सरोवर के चारों तरफ फेंसिंग आउटलेट इनलेट ग्रामीणों के बैठने के लिए पांच बैंच और पौधरोपण भी कराया गया है। बरसात के समय अमृत सरोवर में अच्छे से पानी भरेगा जिससे भूगर्भ जल के स्तर में वृद्धि होगी।


       इस अवसर पर विधायक श्री अनिल पाराशर, विधायक श्री रवेन्द्र पाल सिंह, एमएलसी श्री ऋषिपाल सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष ठा0 गोपाल सिंह एवं अन्य जनप्रतिनिधि, ग्रामवासी और अधिकारीगण उपस्थित रहे।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.