अच्छी खबर| इंडिया टुडे बेस्ट यूनिवर्सिटी सर्वे 2022 द्वारा एएमयू को चौथा स्थान

0


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़| इंडिया टुडे-एमडीआरए बेस्ट यूनिवर्सिटी सर्वे 2022 में एएमयू को चौथा स्थान प्राप्त हुआ है। सर्वेक्षण में अपनाई जाने वाली कार्यप्रणाली बेहद कड़ी है और विश्वविद्यालयों को 120 से अधिक विशेषताओं के आधार पर निष्पक्ष रूप से स्थान दिए गए हैं। देश में एक हजार से अधिक विश्वविद्यालयों के साथ, इंडिया टुडे ग्रुप की सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की वार्षिक रैंकिंग का देश के शैक्षणिक कैलेंडर में एक विशेष स्थान है।


सबसे ज्यादा पीजी कोर्स कराने के मामले में एएमयू को देश में प्रथम स्थान दिया गया है जबकि गत तीन वर्षों के दौरान मिले 15 पेटेंटों के साथ एएमयू को दूसरे स्थान पर रखा गया है। इस के अतिरिक्त 36 पेटेंट दायर करने के साथ इसे देश के सरकारी विश्वविद्यालयों की श्रेणी में तीसरे स्थान पर रखा गया है।


विश्वविद्यालय के सभी वर्गों को बधाई देते हुए एएमयू के कुलपति, प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा कि एएमयू को लगातार देश के शीर्ष संस्थानों में स्थान दिया गया है और इंडिया टुडे-एमडीआरए सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों के सर्वेक्षण 2022 ने फिर से प्रमाणित किया है कि इसके शिक्षक, छात्र, गैर-शिक्षण कर्मचारी और पूर्व छात्र सामूहिक रूप से इसके शैक्षणिक और अनुसंधान मानकों को आगे बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं।


एएमयू रैंकिंग समिति के अध्यक्ष प्रो एम सालिम बेग ने कहा कि यह परिणाम विश्वविद्यालय रैंकिंग समिति के सदस्यों द्वारा की गई कड़ी मेहनत का प्रमाण हैं। उन्होंने एएमयू बिरादरी को बधाई दी और कहा कि यह गर्व की बात है कि पेटेंट दाखिल करने और पेटेंट मिलने के अलावा असाधारण रूप से अन्य आधारों पर अच्छा करने के अलावा सबसे अधिक पीजी पाठ्यक्रमों के लिए अमुवि को नंबर 1 विश्वविद्यालय  का स्थान दिया गया है।


अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय रैंकिंग समिति के संयोजक प्रोफेसर मोहम्मद नवेद खान ने कहा कि इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा उसके सहयोगी एमडीआरए के साथ किया गया सर्वेक्षण भारतीय विश्वविद्यालयों की शैक्षणिक और ढांचागत स्थिति पर एक निश्चित निर्णय के रूप में उभरा है और एएमयू बिरादरी इस उपलब्धि के लिए बधाई की पात्र हैं।


-----------------------------------


स्तनपान सप्ताह के तहत विशेष कार्यक्रम आयोजित

अलीगढ़, 10 अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के गृह विज्ञान विभाग में स्तनपान सप्ताह के अवसर पर स्लोगन राइटिंग व चार्ट मेकिंग गतिविधियों का आयोजन किया गया, जिसमें छात्राओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। विभाग की अध्यक्ष प्रो. फरजाना अलीम ने बताया कि ‘स्तनपान सबसे अच्छा पोषण है’ विषय पर छात्राओं और शिक्षकों द्वारा एक समूह चर्चा भी आयोजित की गई। इसमें बच्चे के लिए मां के दूध के महत्व पर जोर दिया गया। कार्यक्रम के आयोजन में डॉ. मरियम फातिमा और डॉ. इरम असलम ने अहम भूमिका निभाई।


-------------------------


हर घर तिरंगा अभियान पर स्लोगन लेखन प्रतियोगिता


अलीगढ़, 10 अगस्तः भारत सरकार के ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के वनस्पति विज्ञान विभाग ने एक स्लोगन लेखन प्रतियोगिता आयोजित की जिसमें महम फातिमा ने प्रथम पुरस्कार और निकंदरी सिंह ने द्वितीय पुरस्कार प्राप्त किया। जबकि अर्शी फातिमा, सिदरा हनफी और ऐमन फातिमा को सांत्वना पुरस्कार से सम्मानित किया गया।


विभाग की अध्यक्ष प्रो. गजाला परवीन एवं कार्यक्रम के आयोजक प्रो. अनवर शहजाद ने कहा कि कार्यक्रम में विभाग के स्नातकोत्तर छात्रों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।


---------------------------------------

’आजादी का अमृत महोत्सव के तहत एएमयू में अनेक व्याख्यान व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन

अलीगढ़, 10 अगस्तः देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में विशेष व्याख्यान और अन्य कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।


कला संकाय ने 11 अगस्त को दोपहर 12 बजे ‘राष्ट्रीय आंदोलन और इसकी विरासत’ पर व्याख्यान का आयोजन किया है। एएमयू के इतिहास विभाग के प्रोफेसर मोहम्मद सज्जाद कला संकाय लाउंज में उपरोक्त विषय पर व्याख्यान देंगे। मास कम्यूनिकेशन विभाग में कर्नल आरके सिंह 11 अगस्त को रात 10.00 बजे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम को लोक प्रसारण विभाग में संबोधित करेंगे। विभाग के अध्यक्ष प्रो. पिताबास प्रधान ने कहा कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहकुलपति प्रो. मोहम्मद गुलरेज होंगे, जबकि सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन प्रोफेसर असमर बेग कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे।


हिंदी विभाग में आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में प्रो. नईमा गुलरेज़ (प्रिंसिपल, वीमेन्स कॉलेज) मुख्य अतिथि होंगी, जबकि श्री राकेश कुमार पटेल, एडीएम सिटी, अलीगढ़ विशिष्ट अतिथि होंगे।


इनोवेशन काउंसिल और यूनिवर्सिटी इनक्यूबेशन सेंटर (आईसी एंड यूआईसी) ने एएमयू के छात्रों के लिए ‘पिछले 75 वर्षों में भारत में नवाचार’ विषय पर एक ऑन-द-स्पॉट भित्ति / दीवार पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया है।


प्रो. एस. इम्तियाज हसनैन (अध्यक्ष, आईसी और यूआईसी) और प्रो मुहम्मद सज्जाद अतहर (समन्वयक, आईसी और यूआईसी) ने कहा कि प्रतियोगिता भारत की स्वतंत्रता का जश्न मनाने के लिए कैरेट के भवन में स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम का आयोजन फाइन आर्ट्स विभाग और सेंटर आफ एडवास्ड स्टडी अध्ययन केंद्र के सहयोग से किया जा रहा है।


-------------------------------


एएमयू के मौलाना आजाद पुस्तकालय ने स्कोपस और मेंडेली पर वेबिनार का आयोजन किया

अलीगढ़, 10 अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के मौलाना आजाद पुस्तकालय ने एल्सेवियर के सहयोग से ‘स्कोप्स एंड मेंडेली के साथ अपने शोध कार्यप्रवाह में सुधार’ शीर्षक से एक वेबिनार का आयोजन किया, जिसमें अकादमिक के विशेषज्ञों ने लेखों की खोज और उन्नत उपकरणों का उपयोग करने पर विचार व्यक्त किये।


डॉ. शुभ्रा दत्ता (ग्राहक सलाहकार, एल्सेवियर) ने कहा कि स्कोपस और मेंडेली सॉफ्टवेयर शोधकर्ताओं को उनके शोध के दौरान आने वाली समस्याओं को हल करने के लिए नवीन सेवाएं प्रदान करते हैं।


एएमयू के 140 से अधिक शिक्षकों और शोधार्थियों को संबोधित करते हुए, उन्होंने बताया कि कैसे स्कोपस और मेंडेली शोधकर्ताओं को गुणवत्तापूर्ण शोध पत्रिकाओं, पुस्तकों और सम्मेलन की कार्यवाही तक पहुंच प्रदान करते हैं।


डॉ. शुभ्रा ने कहा कि ये टूल आपको अधिक आत्मविश्वास के साथ शोध करने, कहीं से भी अपनी लाइब्रेरी एक्सेस करने और अपने डेस्कटॉप से दस्तावेज़ आयात करने में मदद करते हैं।


स्कोप्स और मेंडेलीसॉफ्ट का परिचय देते हुए उन्होंने कहा कि दोनों पैकेज अधिक पेशेवर तरीके से ज्ञान और अनुसंधान का प्रबंधन कर सकते हैं।


डॉ. शुभ्रा ने स्कोपस और मेंडेली में उपलब्ध खोज तकनीकों और सुविधाओं का एक लाइव डेमो भी प्रस्तुत किया और बाद में प्रतिभागियों के सवालों के जवाब दिए। आदित्य पाल सिंह (वरिष्ठ लेखा प्रबंधक, एल्सेवियर) ने व्याख्यान और प्रस्तुति में डॉ. शुभ्रा को आवश्यक सहयोग प्रदान किया।


प्रो. निशात फातिमा (विश्वविद्यालय पुस्तकालयाध्यक्ष और वेबिनार संयोजक) ने अपने संबोधन में स्कोपस और मेंडेली में उपलब्ध सुविधाओं पर चर्चा की।


डॉ. आसिफ फरीद सिद्दीकी (कार्यक्रम समन्वयक) ने स्वागत भाषण में कहा कि वेबीनार के आयोजन का उद्देश्य स्कोपस और मेंडली के उपयोग के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। कार्यक्रम समन्वयक डॉ. जफर इकबाल ने कहा कि यह वेबीनार प्रतिभागियों को नए कार्यो से प्रभावी तरीके से परिचित कराएगा। डा. आसिफ फरीद सिद्दीकी और डा. जफर इकबाल ने कार्यक्रम का संचालन किया। मुहम्मद युसूफ ने धन्यवाद ज्ञापित किया।


------------------------------


अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर मुशायरे का आयोजन


अलीगढ़, 10 अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग द्वारा हमेशा की तरह इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर 14 अगस्त रात्रि 7.45 बजे मुशायरे का आयोजन किया जा रहा है। जिसकी अध्यक्षता कुलपति प्रो. तारिक मंसूर करेंगे, जबकि प्रो. आजरमी दुख्त सफ़वी (फ़ारसी विभाग के पूर्व अध्यक्ष और डीन) सम्मानित अतिथि होंगी।


उर्दू विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर मुहम्मद अली जौहर ने बताया है कि फरहत एहसास, खालिद महमूद, अजहर इनायती, अहमद महफूज और सलमा शाहीन मुशायरे में अतिथि कवि, जबकि स्थानीय कवि मेहताब हैदर नकवी, शहाबुद्दीन साकिब, सिराजुद्दीन अजमाली, राहत हसन आबिद अली आबिद और नसीम सिद्दीकी आदि अपना कलाम प्रस्तुत करेंगे। मुशायरा विश्वविद्यालय पॉलिटेक्निक सभागार में आयोजित किया जाएगा।


----------------------------


उर्दू विभाग में स्वतंत्रता दिवस से संबंधित कार्यक्रम

अलीगढ़, 10 अगस्तः ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसकी अध्यक्षता निदेशक उर्दू अकादमी प्रो. कमरुल हुदा फरीदी ने की, जबकि डॉ. आफताब आलम नजमी कार्यक्रम का संचालन किया।


इस अवसर पर बड़ी संख्या में उर्दू विभाग के शिक्षकों और छात्रों ने भाग लिया और जाने-माने कवियों की क्रांतिकारी और देशभक्ति कविताओं का पाठ किया।


बीए के छात्र जुनैद अहमद ने अपनी मधुर आवाज में जोश मलीहाबादी की कविता का पाठ किया, जबकि एमए प्रथम वर्ष की छात्रा नूर शफा ने मुजाहिद आजादी बी अम्मा पर निबंध प्रस्तुत किया। विभाग के एक शोध विद्वान जावेद अशरफ ने मुहम्मद दीन तासीर की एक कविता का पाठ किया, जबकि तल्हा कमाल ने मखदूम मोहिउद्दीन की आज़ादी वतन नामक कविता का पाठ किया। कार्यक्रम संयोजक डॉ. सुल्तान अहमद ने स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को श्रद्धांजलि दी।


कार्यक्रम के अध्यक्ष कमरूल हुदा फरीदी ने स्वतंत्रता दिवस के महत्व को स्पष्ट करते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम नई पीढ़ी के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।


विभाग के अध्यक्ष प्रो. मुहम्मद अली जौहर ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह सप्ताह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। स्वतंत्रता सेनानियों को याद करने के लिए इस अवसर पर विभिन्न देशभक्ति और राष्ट्रीय कार्यक्रम आयोजित किए जाने चाहिए।


कार्यक्रम के उप संयोजक डॉ. आफताब आलम नजमी ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत छात्रों को इस कार्यक्रम की प्रकृति और महत्व के बारे में बताया।


--------------------------------


‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता

अलीगढ़, 10 अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर स्किल डेवलपमेंट एंड करियर प्लानिंग एंड वीमेंस कॉलेज द्वारा राष्ट्रव्यापी ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ और ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत आयोजित एक पोस्टर रचनात्मक प्रतियोगिता में, 75 साल की भारत की स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध नेताओं की भूमिका और उनके निरंतर संघर्ष को पोस्टर के रूप में बनाया गया। प्रतियोगिता का आयोजन सेंटर फॉर स्किल डेवलपमेंट एंड करियर प्लानिंग द्वारा किया गया था।


प्रो. नईमा खातून (प्रिंसिपल, वीमेन्स कॉलेज) ने कहा कि पोस्टर्स की थीम ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के जुनून और उत्साह को दर्शाती है। सप्ताह भर चलने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान इन पोस्टरों को नोटिस बोर्ड पर भी लगाया गया।


-------------------------


आजादी का अमृत महोत्सव के तहत पौधरोपण अभियान


अलीगढ़, 10/अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लैंड एण्ड गार्डन विभाग द्वारा राष्ट्रव्यापी ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत एएमयू में वृक्षारोपण अभियान शुरू किया। इसी कड़ी में प्रथम चरण में भमोला आवासीय कॉलोनी में पौधारोपण किया गया।


पौधरोपण अभियान के उद्घाटन समारोह में विभाग के प्रभारी प्रो. जकी अनवर सिद्दीकी ने कहा कि जिला वन अधिकारी दिवाकर वशिष्ठ मुख्य अतिथि और प्रो. अफीफुल्ला खान (ओएसडी डेवलपमेंट एएमयू) विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए। उन्होंने भमोला कालानी में वृक्षा रोपण किया।


डा. तारिक आफताब (सहयोगी सदस्य प्रभारी, भूमि एवं उद्यान विभाग) ने बताया कि अब तक बुकीन, अर्जुन, नीम व अन्य के 200 से अधिक पौधे लगाये जा चुके हैं।


---------------------------


‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर

अलीगढ़, 10 अगस्तः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अजमल खान मेडिकल कॉलेज के इलाज बित तदबीर विभाग के डॉक्टरों और स्नातकोत्तर छात्रों ने राष्ट्रव्यापी ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ समारोह के तहत मदरसा फैजान-ए-मुस्तफा के छात्रों व शिक्षकों तथा अहमद नगर क्षेत्र के निवासियों के लिए एक मुफ्त स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया।


विभाग के अध्यक्ष, प्रोफेसर मोहम्मद अनवर ने कहा कि राष्ट्रीय आयुष चिकित्सा आयोग, आयुष मंत्रालय, ‘हमारा आयुष’ की पहल के अनुसार 150 से अधिक लोगों को चिकित्सा सलाह दी गई है और मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की गई हैं।


उन्होंने कहा कि क्षेत्र के छात्रों, शिक्षकों और निवासियों की पोषण स्थिति, विकास दर और बॉडी मास इंडेक्स के संदर्भ में जांच की गई। शिविर प्रभारी डॉ. एम. शोएब ने मरीजों को हाथ साफ करने के महत्व के बारे में बताया और स्वस्थ व स्वच्छ भोजन करने की सलाह दी।


डॉ. एम. साद ए. खान और स्नातकोत्तर छात्रों ने भी अहमद नगर के निवासियों को स्वास्थ्य देखभाल से संबंधित भारत सरकार की विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी।


अजमल खान तिब्बिया कालिज के सर्जरी विभाग में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें स्तन गांठ की बीमारी से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए चिकित्सकीय सलाह दी गई।


सर्जरी विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर इकबाल अजीज ने कहा कि स्तन कैंसर के सफल इलाज के लिए शुरुआती दौर में पता लगाना बहुत जरूरी है, इसलिए इस संबंध में लोगों में जागरूकता का विशेष महत्व है।


 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top