#अलीगढ़ में रिश्वत लेते कैमरे में क़ैद वन रेंजर अरविन्द कुमार और वन दरोगा मुकेश कुमार, निलंबन की कार्रवाई ..Video Breaking

0

चंचल वर्मा, अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम,हरदुआगंज/अलीगढ़। जनपद में वन विभाग में पेड़ काटने की अनुमति देने के बदले रिश्वत मांगने और भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। रिश्वत लेते वीडियो कैमरे में एक वन रेंजर और एक वन दरोगा दस हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए कैद हुए हैं। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही वन विभाग में हड़कम्प मच गया है। जिसके बाद वीडियो का संज्ञान लेते हुए जिला वन अधिकारी ने दोनों अधिकारियों को प्रथमदृष्टया दोषी मानते हुए निलंबन एवं विभागीय कार्रवाई करने की संस्तुति की है। वहीं इसी प्रकरण को लेकर भाकियू भानु गुट ने कलेक्ट्रेट में सोमवार यानी आज धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।


जानकारी के मुताबिक जवां ब्लॉक के अहक गांव के सहायक पंचायत सचिव प्रांजल जादौन ने खेत में लगे सांगौन के 80 पेड़ काटने को करीब तीन माह पहले पेड़ कटवाने को विभागीय अनुमति को आवेदन किया था। आरोप है कि वन रेंजर अरविंद कुमार, वन दरोगा मुकेश कुमार पेड़ काटने की अनुमति देने के बदले 32 हजार रुपये की घूस मांगी। घूस नही देने पर अभी तक अनुमति नही दी गयी है।


इस पर प्रांजुल जादौन अपने चाचा अजीत कुमार के साथ 25 अगस्त को वन विभाग के रेंज कार्यालय में पेड़ काटने की अनुमति लेने के सिलसिले में मुलाकात की। जहां किसान से पेड़ काटने के बदले वन रेंजर अरविंद कुमार एवं वन दरोगा मुकेश कुमार के रिश्वत रुपये देने की मांग की। उनकी मांग पर प्रांजल ने 10 हजार रुपये दे दिए। औऱ रिश्वत लेने का गोपनीय वीडियो भी बना लिया। रविवार को यह वीडियो सोशल मीडिया पर खासा वायरल हो गया।

प्रभागीय वन निदेशक दिवाकर वशिष्ठ ने अलीगढ मीडिया को बातचीत में बताया कि घूस मांगने का वायरल वीडियो को संज्ञान में लेकर दोनों प्रथमदृष्टया दोनों के खिलाफ निलंबन एवं विभागीय कार्रवाई की संस्तृति कर दी गई है। 


 इस मामले को लेकर भाकियू भानु गुट ने सोमवार को कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन का ऐलान किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top