"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

इगलास| विद्यार्थी सकारात्मकता के साथ राष्ट्र हित में करें कार्य: गिरीश चंद्र त्रिपाठी

0


- उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष ने किया मंगलायतन विवि का दौरा

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। उच्च शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने मंगलायतन विश्वविद्यालय का दौरा किया। उनके द्वारा शिक्षण व्यवस्थाओं की जांच की गई और विश्वविद्यालय के संकायों का निरीक्षण करने के साथ व्यवस्थाओं का जायजा लिया। प्राध्यापकों से चर्चा करते हुए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विचार रखे।


बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति रहे उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष का मंविवि पहुंचने पर कुलपति प्रो. केवीएसएम कृष्णा व कुलसचिव बिग्रेडियर समरवीर सिंह ने चित्र व प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। विद्यार्थियों से संवाद करते हुए अध्यक्ष ने कहा कि राष्ट्र का निर्माण करने में सामर्थवान, सक्षम, सुसंस्कृत, प्रतिबद्ध लोगों की भूमिका होती है, इसमें शिक्षा का भी अहम योगदान है। हमें स्वयं के स्वार्थ को छोड़कर राष्ट्र हित को सर्वाेपरि रखना चाहिए। उन्होंने चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, रामप्रसाद बिस्मिल का उदाहरण भी दिया। कहा कि आपको अपनी दक्षता को पहचानकर सकारात्मकता के साथ राष्ट्र हित में कार्य करना चाहिए। आज स्वार्थ व अहंकार के कारण दुनिया में दिक्कतें खड़ी हो रही हैं।  

डीन एकेडमिक प्रो. उल्लास गुरुदास ने विवि की गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा के संबंध में आगामी पांच वर्ष की कार्य योजना प्रस्तुत की। प्रो. रविकांत ने भारत में उच्च शिक्षा के भविष्य पर अपना दृष्टिकोण रखा तो वहीं प्रो. राजीव शर्मा ने रोजगार परक शिक्षा और मजबूत उद्योग के संबंध में अपनी प्रस्तुति दी। उच्च शिक्षा परिषद अध्यक्ष ने विभिन्न संकायों का निरीक्षण कर विवि में विद्यार्थियों और सीटों की संख्या, किए गए शोध कार्य, प्लेसमेंट आदि की जानकारी की। अध्यक्ष ने विश्वविद्यालय की व्यवस्थाओं को लेकर संतुष्टता जाहिर की तो वहीं पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए विवि परिसर में पौधा रोपण किया। इस अवसर पर बोर्ड सदस्य विकास त्रिपाठी, मुकेश गोयल, ज्वाइंट रजिस्ट्रार प्रो. दिनेश शर्मा, प्रो. जेएल जैन, प्रो. शिवाजी सरकार, प्रो. आरिफ सुहेल, प्रो. वीपी सिंह, प्रो. अब्दुल बदूद, प्रो. महेश कुमार, प्रो. आरके शर्मा, डा. देवप्रकाश दहिया, डा. सौरभ कुमार, मोहन माहेश्वरी, तरुण शर्मा, मयंक प्रताप सिंह, विकास वर्मा, रामगोपाल आदि मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)