जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

पुलिस थाने मे स्कूली बैग जमा कराने पहुँची पापा की परी, बोली मेरी पढ़ायी बंद करा दो,.. जानिए क्यों??

0

 


*भाजपा युवा नेताओं ने पुलिस प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप*

 *एनकाउंटर,गैंगस्टर और जिला बदर करने के लिए खोली उनकी हिस्ट्री शीट*

*भाजपा युवा नेता की बेटी बोली:पापा पुलिस आपको जेल भेज देगी तो मैं पढ़ नहीं पाऊंगी?*

 *इसलिए में स्कूली बैग आपको दे रही हूं, मेरी पढ़ाई लिखाई यहीं करा दीजिए बंद*


अलीगढ मीडिआ डॉट कॉम, अलीगढ. जनपद अलीगढ़ में जिला प्रशासन के द्वारा भाजपा के युवा नेताओं के क्रिमिनल हिस्ट्री शीट खोले जाने के बाद युवा भाजपाइयों में हड़कंप मचा हुआ है। भाजपा के युवा नेताओं ने अपनी क्रिमिनल हिस्ट्री शीट से खोले जाने के बाद जिला प्रशासन और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। भाजपा युवा नेताओं को डर सता रहा है कि अलीगढ़ पुलिस प्रशासन के द्वारा जिन झूठे मुकदमों को लेकर जिला प्रशासन ने उनकी हिस्ट्रीशीट खोली हैं। उन सभी झूठे मुकदमों में भाजपा के सभी युवा नेता न्यायालय से दोषमुक्त और जमानत पर हैं। लेकिन अलीगढ़ जिला प्रशासन ने भाजपा के युवा नेताओं की उन्हें झूठे मुकदमों के आधार पर हिस्ट्रीशीट खोलते हुए उनको जिला बदर ओर गैंगस्टर की तैयारी करने के साथ ही उनका एनकाउंटर करने की तैयारी की है। पुलिस प्रशासन के द्वारा भाजपा के युवा नेताओं का एनकाउंटर, जिला बदर और गैंगस्टर की तैयारी किए जाने को लेकर उनके द्वारा रविवार को प्रदर्शन किया गया था। भाजपा नेताओं का आरोप है कि इस दौरान जब उनके द्वारा क्रिमिनल हिस्ट्री सीट को लेकर विरोध दर्ज कराया जा रहा था। तभी उसकी मासूम बेटी उसके पास पहुंची और बोली पापा पुलिस ने पहले भी आप को जेल भेज दिया था और अगर इस बार भी पुलिस आपको पकड़ कर जेल भेज देगी तो मैं पढ़ नहीं पाऊंगी? इसलिए पापा में अपना स्कूली बैग आपको दे रही हूं ओर मेरी पढ़ाई लिखाई यहीं बंद करा दीजिए, क्योंकि आपके जेल जाने के बाद में पढ़ नहीं पाऊंगी। जिसके चलते उनकी जान पहचान के परिवार के सभी बच्चों ने अपने-अपने स्कूली बैग युवा भाजपा नेताओं के घरों पर भेज दिए।ओर स्कूली बच्चों ने उनसे कहा कि आज से हम सभी बच्चे अपनी अपनी पढ़ाई बंद करते हुए अपना भविष्य पुलिस को सौंप रहे हैं। जिसके बाद बच्चों के द्वारा भाजपाइयों को सौपे गए स्कूली बैग को लेकर सभी 7 भाजपा युवा नेता सैकड़ों की तादाद में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ स्कूली बैग लेकर थाने पहुंचे और बच्चों के स्कूल बैग दुखी मन से पुलिस को सौंपते हुए कहा कि अब उनके बच्चे तो नहीं पढ़ पाएंगे।


वहीं क्रिमिनल हिस्ट्री खुलने के बाद बच्चों के स्कूली बैग लेकर देहली गेट थाने पहुंचे भाजपा युवा नेताओं के द्वारा स्कूली बैग पुलिस को सौपे जाने के दौरान भाजपा के युवा नेता विनय वार्ष्णेय का कहना है कि 2020 में एक झूठे मुकदमे में उसको फंसाया गया था। और 2020 से सपा सरकार में उसके साथियों को झूठे मुकदमों में फंसाया गया था। जिन सभी मुकदमों में वह लोग दोषमुक्त और जमानत पर हैं। आरोप है कि इन्हीं झूठे मुकदमों के आधार पर जिला प्रशासन और पुलिस के द्वारा उनकी क्रिमिनल हिस्ट्री शीट खोलने की तैयारी की गई है। हिस्ट्रीशीट खुलने के बाद उनको जिला बदर करने के साथ ही गैंगस्टर लगाकर उनकी बची कुची दुकानें और मकान गिराने की तैयारी किए जाने के साथ भाजपा के युवा नेताओं के एनकाउंटर की तैयारी पुलिस प्रशासन द्वारा की जा रही है। जिसका विरोध भाजपा के युवा नेताओं द्वारा अपने हजारों हजार समर्थकों के साथ महानगर में जगह जगह पर किया गया था। 


इस दौरान भाजपा युवा नेता का कहना है कि जिला प्रशासन द्वारा खोली गई उसके क्रिमिनल हिस्ट्री के बाद उसकी मासूम बेटी दुखी मन से अपने पापा के पास पहुंची और बोली कि पापा पुलिस में पहले भी आप को जेल भेज दिया था और अगर इस बार भी पुलिस आपको पकड़ कर जेल भेज देगी तो मैं पढ़ नहीं पाऊंगी? इसलिए पापा में अपना स्कूली बैग आपको दे रही हूं ओर मेरी पढ़ाई लिखाई यहीं बंद करा दीजिए, क्योंकि आपके जेल जाने के बाद में पढ़ नहीं पाऊंगी।


बेटी के मुंह से पढ़ाई लिखाई बंद किए जाने की बात सुनते ही उसके द्वारा दुखी मन से यह बात सोशल मीडिया पर वायरल की गई। जिसके बाद शहर के बच्चों ने कहा कि जब संजू चाचा नहीं होंगे तो उनकी पढ़ाई कैसे होगी।कहा कि जिन 7 भाजपा के युवा नेताओं के क्रिमिनल हिस्ट्री खोली गई है उनके द्वारा जिन बच्चों को पढ़ाया और सुरक्षा दी जा रही है उन सभी के जान पहचान के परिवार के बच्चों ने अपने-अपने स्कूली बैग युवा भाजपा नेताओं के घरों पर भेज दिए। और स्कूली बच्चों ने उनसे कहा कि आज से हम सभी बच्चे अपनी अपनी पढ़ाई बंद करते हुए अपना भविष्य पुलिस को सौंप रहे हैं। जिसके बाद बच्चों के द्वारा भाजपाइयों को सौंपे गए स्कूली बैग को लेकर सभी 7 भाजपा युवा नेता सैकड़ों की तादाद में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ स्कूली बैग लेकर थाने पहुंचे और बच्चों के स्कूल बैग दुखी मन से पुलिस सौंपते हुए कहा कि अब उनके बच्चे तो नहीं पढ़ पाएंगे।जिला बदर गैंगस्टर और एनकाउंटर के खतरे को देखते हुए अलीगढ़ के जनप्रतिनिधियों और डीएम इंद्र विक्रम सिंह सहित एसएसपी कलानिधि नैथानी से हाथ जोड़कर अपील करते हुए अपने आपको बचाने के लिए गुहार लगाते हुए कहा कि हमें बचा लीजिए यह लोग कभी भी हमारा एनकाउंटर करवा देंगे और कभी भी हमें मरवा देंगे। और हम इन लोगों से "न" लड़ने लायक थे ओर "ना" ही लड़ने लायक है। ये लोग भाजपा के 7 युवा नेताओं के साथ कभी भी कुछ भी कर सकते हैं।


आरोप है कि भाजपा के इन सभी 7 युवा नेताओं का कसूर सिर्फ इतना है कि ये सभी भाजपा युवा नेता जिला प्रशासन और पुलिस के आमदनी के बीच रोड़ा बने हुए हैं। क्योंकि समाजवादी सरकार में कट्टीघरों से,  अवैध वसूली से ओर जमीनों के मामले में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की पार्टनरशिप होती थी। इनके इन सभी धंधों पर भाजपा सरकार बनने के बाद उनके द्वारा रोक लगाए हुए थे। कहा कि हम भाजपा के सभी युवा नेता गरीब निर्धन लोगों को संरक्षण बने हुए हैं। यही वजह है कि भाजपा के युवा नेताओं को जेल भेजने की तैयारी करने के साथ ही पुलिस और प्रशासन के द्वारा उनके एनकाउंटर की तैयारी की जा रही है।


बैग जमा करने वालों में विनय वार्ष्णेय,  सन्जू बजाज, संजय शर्मा, ब्रजेश कंटक, सरदार बंटी सिंह, हर्षद हिन्दू, विशाल देशभक्त, नितिन सुपाड़ी, अमित यादव, अरून महादेव, मोहित शर्मा, कपिल गुप्ता, आदी लोग उपस्थित रहे।।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)