जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

मंगलायतन विश्वविद्यालय में तीन दिवसीय कार्यशाला का हुआ समापन| education

0


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ : मंगलायतन विश्वविद्यालय शैक्षिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मुक्त और दूरस्थ शिक्षा और ऑनलाइन शिक्षण कार्यक्रम शुरू करने जा रहा है। प्राध्यापकों के प्रशिक्षण के लिए तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था। सोमवार को राष्ट्रगान के साथ कार्यशाला का समापन हुआ। कार्यशाला में दूरस्थ शिक्षा, स्ट्राइड इग्नू के प्रो. सीआरके मूर्ति, इग्नू के सेंटर फॉर ऑनलाइन एजुकेशन के सहायक निदेशक डा. आशीष के. अवधिया ने प्राध्यापकों को प्रशिक्षण दिया।

प्रो. मूर्ति ने वीडियो लेक्चर को विद्यार्थियों के समक्ष बेहतर तरीके से प्रस्तुत करने का प्रशिक्षण दिया। डा. अवधिया ने बताया कि कैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से शिक्षक बेहतर पठन सामग्री, शोध पत्र आदि तैयार कर सकते हैं। प्रति कुलपति प्रो. सिद्दी वीरेशम ने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले सभी प्राध्यापकों को सुझाव दिया कि ग्रुप बनाकर नवीन पाठ्यक्रम विकसित करें। डायरेक्टर ओडीएल डा. मसूद परवेज ने कहा कि यह कार्यशाला प्राध्यापकों के लिए काफी लाभदायक सिद्ध हुई है। आगे भी इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहेगा। कार्यशाला के आयोजन पर कुलपति प्रो. पीके दशोरा, कुलसचिव ब्रिगे. समरवीर सिंह, परीक्षा नियंत्रक प्रो. दिनेश शर्मा, प्रशासनिक अधिकारी गोपाल राजपूत ने प्रसन्नता व्यक्त की। कार्यशाला में प्रतिभाग करने वाले प्राध्यापकों को प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। संचालन समन्वयक असिस्टेंट रजिस्ट्रार डीडीओई डा. सोनी सिंह ने किया।


 संयोजक डायरेक्टर सीआईक्यूए डा. राजेश उपाध्याय व समन्वयक असिस्टेंट डायरेक्टर डीडीओई लव मित्तल रहे। प्राध्यापकों ने प्रशिक्षण के संबंध में अपने अनुभव साझा किए। इस अवसर पर प्रो. राजीव शर्मा, प्रो. राकेश शर्मा, प्रो. प्रमोद शर्मा, प्रो. अनुराग शाक्य, प्रो. सिद्धार्थ जैन, डा. अशोक उपाध्याय, डा. संतोष गौतम, डा. स्वाती अग्रवाल, डा. प्रभात बंसल, डा. दीपशिखा सक्सेना, डा. उमेश दीक्षित, डा. आफरीन खानम, डा. दीपमाला, मनीषा उपाध्याय, उमेश शर्मा, अशोक गुप्ता, नितिन आदि थे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)