जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

मंडल में 53 निवेशकों ने प्रस्ताव के क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारियों से भूमि की मांग की| Aligarh

0


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ़10जून(सूवि) |अलीगढ़ मंडल आयुक्त श्री नवदीप रिणवा द्वारा ग्लोबल इन्वेस्टर समिट 2023 के दौरान मंडल में निवेश के लिए प्राप्त हुए निवेश प्रस्ताव के क्रियान्वयन की समीक्षा की गई। समीक्षा में यह पाया गया कि मंडल में माह जून 2023 तक कुल 892  निवेश  प्रस्ताव प्राप्त हुए, जिसके माध्यम से 71265.36  करोड़ का निवेश होना प्रस्तावित है। प्रदेश सरकार से प्राप्त निर्देशों के क्रम में मंडल आयुक्त द्वारा समस्त जिलाधिकारियों को अवगत कराया गया कि आगामी सितंबर 2023 में प्रथम ग्राउंड ब्रेकिंग सेरिमनी का आयोजन प्रदेश सरकार द्वारा किया जाना प्रस्तावित है । ऐसे में माह सितंबर 2023 तक क्रियान्वित होने वाले निवेश प्रस्ताव की नियमित रूप से समीक्षा की जाए एवं निवेशकों को आने वाली सभी प्रकार की समस्याओं का निराकरण कराया जाए। समीक्षा में यह पाया गया कि मंडल के समस्त जनपदों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संबंधित विभागों एवं निवेशकों के साथ निरंतर वार्ता करके माह सितंबर 2023 में क्रियान्वित होने वाले 244 निवेश प्रस्ताव का चिन्हांकन कर लिया गया है। उक्त चिन्हित निवेश प्रस्ताव को इन्वेस्ट यूपी के निवेश सारथी पोर्टल पर उपलब्ध प्रोजेक्ट फैसिलिटेशन फॉर्म पर शत प्रतिशत पंजीयन कराए जाने के निर्देश मंडल आयुक्त द्वारा समस्त जिलाधिकारियों को दिए गए।


     समीक्षा में  पाया गया कि मंडल में कुल 53 निवेशकों द्वारा अपने प्रस्ताव के क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारियों से भूमि की मांग की गई है, जिसमें कुल 47 निवेशकों को भूमि का विकल्प उपलब्ध कराया जा चुका है। मंडल आयुक्त द्वारा जिला अधिकारी एटा एवं अलीगढ़ को निर्देशित किया गया समस्त निवेशकों को भूमि की उपलब्धता का प्रस्ताव प्रदान किया जाए।


         निवेशकों के कृषि भूमि को अकृषक घोषित कराए जाने संबंधी प्रकरणों की समीक्षा करते हुए यह पाया गया कि मंडल में कुल  20 निवेशकों द्वारा अपनी कृषि भूमि को धारा 80 के अंतर्गत अकृषक घोषित कराए जाने का आवेदन किया है। मंडल आयुक्त द्वारा समस्त जनपदों के उपायुक्त उद्योग को निर्देशित किया गया कि वह निवेशकों से निरंतर संपर्क कर सभी निवेशकों के नियमानुसार आवेदन कराएं एवं उप जिलाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर शीघ्र ही कृषि भूमि को अकृषक घोषित कराए जाने में अपना सहयोग प्रदान करें। जिला अधिकारी हाथरस द्वारा अवगत कराया गया कि भू-उपयोग परिवर्तन से संबंधित 6 प्रकरण यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी के स्तर से लंबित हैं। मंडल आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया कि वह मुख्य कार्यकारी अधिकारी यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी से बात कर शीघ्र निस्तारित कराएं ।


मंडल के समस्त जिलाधिकारियों को संबोधित करते हुए मंडल आयुक्त द्वारा यह निर्देश दिए गए की जनपद स्तरीय एमओयू क्रियान्वयन इकाई की नियमित बैठकर कराएंगे। इसके साथ ही जिला स्तरीय उद्योग बंधु की नियमित बैठकें आयोजित कर उद्यमियों एवं निवेशकों की समस्याओं का सकारात्मक समाधान कराया जाए ।


बैठक में अलीगढ़ के जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह, एटा डीएम अंकित अग्रवाल, कासगंज डीएम हर्षिता मथुर, हाथरस डीएम अर्चना वर्मा सहित निवेश प्रस्तावो से संबंधित समस्त विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे । बैठक का संचालन अलीगढ़ मंडल के संयुक्त आयुक्त उद्योग वीरेंद्र कुमार द्वारा किया गया। 

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)