जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

मंगलायतन विश्वविद्यालय में साइबर एवं सामाजिक क्राइम जागरूकता पर हुआ कार्यक्रम

0

 


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ| मंगलायतन विश्वविद्यालय में साइबर एवं सामाजिक क्राइम जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम का आयोजन उत्तर प्रदेश अपराध निरोधक समिति के तत्वावधान में किया गया था। साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ डा. रक्षित टंडन ने युवाओं को इंटरनेट पर बढ़ती निर्भरता को लेकर आगाह किया। उन्होंने बताया कि इंटरनेट के लाभ के साथ नुकसान भी हैं। वर्तमान में साइबर अपराध में बढ़ोतरी हो रही है। साइबर अपराध क्या है और कैसे इस पर नियंत्रण पाया जा सकता है इस संबंध में बारीकी से समझाया। उन्होंने बताया कि स्मार्टफोन यूजर अपनी ईमेल आईडी सबसे ज्यादा सुरक्षित रखें। कोई भी एप डाउनलोड करने से पहले आई एग्री का बटन तभी दबाएं जब आप उसके सारे डेटा सुरक्षा नियम पढ़ चुके हों। साइबर अपराधियों से बचने के लिए टेक्नोलाॅजी का सही ज्ञान होना आवश्यक है।

अलीगढ़ के डीएसपी क्राइम आरके सिसोदिया ने साइबर संबंधित अपराधों की विवेचना कैसे कि जाती है इस संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस तैयार है, इसमें आमजन की सहभागिता व जागरूकता आवश्यक है। उत्तर प्रदेश अपराध समिति लखनऊ के चेयरमैन डा. उमेश शर्मा ने कहा कि जब से संचार सेवाओं में बढ़ोतरी हुई है तब से साइबर अपराध की घटनाएं बढ़ने लगी हैं। जिला बार एसोसिएशन हाथरस के पूर्व सचिव राधा माधव शर्मा ने भी साइबर कानून से संबंधित अपने विचार व्यक्त किए। विद्यार्थियों ने कहा कि कार्यक्रम के आयोजन से उन्हें स्मार्ट फोन चलाने के दौरान साइबर अपराध से बचने की जो जानकारी प्राप्त हुई है वह बहुत की महत्वपूर्ण है। आयोजक सचिव/जेल विजिटर जिला कारागार अलीगढ़ शुभम माहेश्वरी व उनकी टीम के सदस्य विशाल शर्मा रहे। कार्यक्रम के प्रारंभ में विधि के विभागाध्यक्ष डा. हैदर अली ने अतिथियों का अभिनंदन किया। प्रो. सिद्धार्थ जैन ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर प्रो. राजीव शर्मा, प्रो. अनुराग शाक्य, डा. विकास शर्मा, डा. राजेश उपाध्याय, डा. तलत अंजुम, डा. ममता रानी, डा. नियति शर्मा, जितेंद्र यादव, अली अख्तर, लव मित्तल, मोहन माहेश्वरी आदि थे। विद्यार्थियों में मनु उपाध्याय, दुष्यंत तिवारी, देवेंद्र, प्रश्वी, खुशबू, चार्ली, अलीशा, अक्षय, अंजुल का सहयोग रहा।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)