जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

एएमयू के पश्चिम एशियाई अध्ययन विभाग में कार्याशाला का आयोजन

0


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ|  अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मोहम्मद गुलरेज ने पश्चिम एशियाई और उत्तरी अफ्रीकी अध्ययन विभाग द्वारा आयोजित ‘इकोनोमेट्रिक एनालिसिस ऑफ एफिशिएंसी एंड प्रोडक्टिविटी यूजिंग स्टोकेस्टिक फ्रंटियर एनालिसिस’ विषय पर एक सप्ताह तक चलने वाली कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए इस तरह के प्रशिक्षण-आधारित कार्यशालाओं के महत्व को रेखांकित किया और विश्वविद्यालय में शिक्षण और अनुसंधान में हाल की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया, जो विश्वविद्यालय की हालिया एनआईआरएफ रैंकिंग से स्पष्ट है।


यूजीसी-एचआरडीसी सभागार में कार्यशाला का आयोजन विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड (एसईआरबी), विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार के सहयोग से किया जा रहा है।


फैकल्टी ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के डीन, प्रोफेसर जावेद इकबाल ने फैकल्टी की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला, जबकि मानद अतिथि, प्रोफेसर अतहर अली, सांख्यिकी और आपरेशन्स अनुसंधान विभाग, एएमयू ने सांख्यिकीय विश्लेषण की भूमिका और अनुसंधान में एम्पिरिकल उपकरणों के महत्व पर चर्चा की। उन्होंने अनुसंधान उद्देश्यों के लिए सांख्यिकीय सॉफ्टवेयर, विशेष रूप से आर के उपयोग पर जोर दिया।


मुख्य अतिथि, आईआईटी, कानपुर के आर्थिक विज्ञान विभाग के प्रोफेसर सोमेश कुमार माथुर ने दक्षता विश्लेषण की अवधारणा पर प्रकाश डाला और इस क्षेत्र का एक सिंहावलोकन प्रदान किया। उन्होंने इसके व्यापक अनुप्रयोग पर चर्चा की और आशा व्यक्त की कि कार्यशाला इस क्षेत्र में काम करने वाले शोधकर्ताओं के लिए एक मूल्यवान मंच के रूप में काम करेगी। प्रोफेसर निसार अहमद खान, अर्थशास्त्र विभाग, एएमयू ने ‘दक्षता और उत्पादकता विश्लेषणः सिद्धांत से अभ्यास तक’ विषय पर एक विशेष व्याख्यान दिया।


वर्कशॉप कोऑर्डिनेटर डॉ. तारिक मसूद ने कहा कि इस आयोजन में देश भर के आईआईटी और केंद्रीय और राज्य विश्वविद्यालयों सहित विभिन्न शोध संस्थानों के प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।

इससे पूर्व, विभागाध्यक्ष, प्रो मोहम्मद अजहर ने अतिथियों का स्वागत किया और ‘त्वरित विज्ञान कार्यशाला’ योजना के तहत अनुदान प्रदान करने के लिए एसईआरबी-डीएसटी को धन्यवाद दिया। डॉ. सना समरीन ने कार्यक्रम का संचालन किया और प्रोफेसर रखशंदा फाजली ने धन्यवाद ज्ञापित किया।


-------------------------


प्रोफेसर नजम खलीक आईपीएचए के उपाध्यक्ष (नार्थ) चुने गए

अलीगढ़, 15 जूनः अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जेएन मेडिकल कॉलेज के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर नजम खलीक को इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन (आईपीएचए) के 2023-2025 कार्यकाल के लिए उपाध्यक्ष (नार्थ) चुना गया है। कोलकाता में आयोजित आईपीएचए वार्षिक सम्मेलन 2023 के दौरान आयोजित इस चुनाव में पंजीकृत आजीवन सदस्यों ने मतदान किया।


इस कार्यक्रम का उद्घाटन पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डॉ. सी वी आनंद बोस ने किया। सम्मेलन के दौरान एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. संघमित्रा घोष ने प्रो. नजम खलीक को विजयी चुनाव प्रमाण पत्र भेंट किया।


प्रो. नजम ने अपने भाषण में अपनी सफलता का श्रेय सार्वजनिक स्वास्थ्य और निवारक चिकित्सा के क्षेत्र में अपने निरंतर प्रयासों और समर्पित कार्यों को दिया। उन्होंने सम्मेलन के दौरान स्वास्थ्य प्रणाली सुदृढ़ीकरण वित्तपोषण और मानव संसाधन (एनएचएसआरसी) पर एक वैज्ञानिक सत्र की अध्यक्षता भी की।


 

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)