जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

गांधीपार्क सर्किल पर पुलिस चालान से बेखौफ खड़ी रहती हैं बसें, यातायात व्यवस्था भंग

0

 रोडवेज बसों के अवैध ठहराव से यातायात व्यवस्था भंग

गांधीपार्क सर्किल पर पुलिस चालान से बेखौफ खड़ी रहती हैं बसें

राजस्व हानि कर बिना बुकिंग के ढोया जा रहा है माल

जब वाहन चालक नागरिकों का होता है चालान तो रोडवेज बसों का क्यों नहीं?


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ़। स्मार्ट सिटी अलीगढ़ महानगर में एक ओर जहां यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए हर चौराहे-सड़कों पर यातायात पुलिस कर्मियों को मुस्तैद किए हुआ है, वहीं यूपी रोडवेज की बसें ही यूपी पुलिस की यातायात सुधार व्यवस्था को धता बता कर चौराहों पर ही अवैध ठहराव कर सवारियों को भरने के अलावा बिना बुकिंग के व्यापारिक सामान को ढोती नजर आती हैं।

उक्त शिकायत करते हुए प्रमुख सामाजिक संस्था मानव उपकार के चेयरमैन पंकज धीरज ने जिला पुलिस-प्रशासन और अलीगढ़ रोडवेज डिपो के आलाधिकारियों का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि अन्य जनपदों से शहर अलीगढ़ आने वाले यात्रियों की नजर में स्मार्ट सिटी अलीगढ़ की छवि के विपरीत स्थिति पैदा हो रही है। रोडवेज बस चालक और परिचालक चौराहों के नजदीक बीच सडक पर ही बसों का अवैध ठहराव कर यात्रियों को लेते और उतारते हैं। जिससे बसों के पीछे अन्य वाहनों का जाम लग जाता है। साथ ही बीच सडक पर यात्रियों को उतारने की बजह से उन्हें लेने वाले ई-रिक्शा चालक भी सड़क पर ही ई-रिक्शा खड़ा कर दर्जनों की संख्या में बस के दोनों ओर कूद पडते हैं।

उन्होंने प्रश्न करते हुए पुलिस-प्रशासन और रोडवेज के अधिकारियों से पूछा है कि क्या यातायात नियम विरूद्ध वाहनों के परिचालन में केवल नागरिकों के चालान काटने का ही नियम है? और अगर यह नियम सबके लिए है तो रोडवेज बस चालकों के अवैध बस ठहराव को गांधीपार्क चौराहा, सारसौल चौराहा, एटा चुंगी चौराहा आदि पर क्यों नहीं रोका जाता और चालान क्यों नहीं करे जाते? जबकि परिवहन विभाग द्वारा रोडवेज बसों से केवल अधिकृत बस अड्डों से ही सावारियों को भरने और उतारने की अनुमति है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)