जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

आशा एवं एएनएम क्षेत्रीय भ्रमण कर स्वास्थ्य विभाग की संचालित योजनाओं के बारे में लोगों को करें जागरूक

0


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो अलीगढ़, जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अलीगढ़ की जिला स्वास्थ्य समिति (शासी निकाय) की माह जून की मासिक समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मिशन के अंतर्गत संचालित योजनाओं, कार्यक्रमों की भौतिक व वित्तीय प्रगति की विस्तार से समीक्षा की गई। डीएम ने इगलास प्रकरण में ज़िम्मेदार के विरुद्ध अब तक कार्रवाई न किये जाने पर नाराजगी प्रकट करते हुए प्रभावी तरीके से कार्रवाई करने के निर्देश दिए।


जिलाधिकारी ने कहा कि जनसामान्य, बीमार व्यक्तियों, पात्र एवं जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने का दायित्व स्वास्थ्य महकमे पर है, जिसका ज़िम्मेदारी से निर्वहन सुनिश्चित किया जाए। विभाग को बड़ी संख्या में चिकित्सक एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ प्राप्त हुआ है, सीएमओ जनहित में अच्छे से कार्य लेना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महत्व के टीकाकरण कार्यक्रम में किसी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए। छूटे हुए बच्चों का शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जाए। जननी सुरक्षा योजना अंतर्गत शतप्रतिशत लाभार्थियों का भुगतान सुनिश्चित कराया जाए। संस्थागत प्रसव का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ प्रत्येक सीएससी पर संस्थागत प्रसव कराए जाएं। आशाओं का लंबित भुगतान समय से करने के साथ ऐसी आशाएं जो विभाग द्वारा सौंपी गई जिम्मेदारियों दायित्वों का निर्वहन सही ढंग से नहीं कर रही हैं, उनका चिन्हांकन कर सेवा से पृथक किया जाए। सभी डाटा फीडिंग का कार्य समय से पूर्ण कराया जाए। जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत शत प्रतिशत लाभार्थियों का भुगतान कराया जाए। अवैध रूप से संचालित अस्पतालों पर कठोर कार्रवाई संज्ञान में लाई जाए। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक लाभार्थियों को लाभ दिया जाए।


     आयुष्मान गोल्डन कार्ड को लेकर जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि कार्ड बनाने में तेजी लाई जाए। इसके बाद राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबन्धक ने विभिन्न प्रकार का समीक्षात्मक डाटा प्रस्तुत किया जिससे आरसीएच पोर्टल, आरबीएसके, जननी सुरक्षा योजना, मातृ स्वास्थ्य, परिवार नियोजन, बायो मेडिकल वेस्ट, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, आयुष्मान भारत आदि की विस्तार से समीक्षा की गई।


     सीडीओ आकांक्षा राना ने कहा कि शासन की मंशा अनुसार सभी चिकित्सा अधिकारी कार्य करें। उन्होंने कहा कि शासन स्वास्थ्य के कार्यक्रमों को प्राथमिकता पर रखता है। जिसको लेकर उन्होंने सभी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अस्पतालों में समय पर पहुंचना सुनिश्चित करें एवं अपने कार्य को तेजी के साथ गुणवत्तापूर्ण निष्पादन सुनिश्चित करें। अगर किसी प्रकार की शिकायत आती है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।    


       आशा एवं एएनएम फील्ड में जाकर कार्य करें स्वास्थ्य विभाग की संचालित योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करें। अगर किसी भी दशा में आशा एवं एएनएम का कार्य देखने को नहीं मिलता है तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई संज्ञान में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि क्षेत्र में कार्य किया जाता है यो परिलक्षित भी होना चाहिये। सभी स्वास्थ्य कर्मी अपने अपने कार्य संवेदनशीलता एवं मानवीय दृष्टिकोण के साथ पूरा करें ताकि जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं की गतिशीलता बनी रहे और पात्र एवं जरूरतमंद लाभान्वित हो सकें।


बैठक में एचबीएनसी, एसएनसीयू, मंत्रा पोर्टल, सीडीआर अपडेट, कोल्ड चौन, वीएचएनडी सत्र आदि के विषय में विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। सीडीओ ने कहा कि वीएचएनडी सत्र के विषय में एमओआईसी एवं सीडीपीओ समन्वय स्थापित करते हुए सत्र का फीडबैक लें और यह भी देखें कि जहां सत्र लग रहा है वहां वजन मशीन पहुंच रही है या नहीं। डीटीएफ,वीएचएसएनडी, एचएमआईएस को लेकर भी विशेष चर्चा की गई।


 


दस्तक अभियान को गति प्रदान करें

संचारी रोग नियंत्रण के लिए डीएम ने जनसामान्य से अपील करते हुए कहा कि घरों में प्रयोग होने वाले पोंछे को सुखाकर रखें। दस्तक अभियान की समीक्षा करते हुए सीडीओ ने कहा कि तैनात टीमों को भ्रमण के दौरान आम जनमानस को संचारी रोगों से बचाव के संबंध में जागरूक करने और छतों, कूलर, गाड़ियों के टायरों, पुराने निष्प्रयोज्य पड़े बर्तनों में पानी एकत्र न होने देने के बारे में समझाने के निर्देश दिए। उन्होंने दस्तक अभियान के तहत दिए गए दायित्वों का जिम्मेदारी पूर्वक निर्वहन करने के भी निर्देश दिए हैं। अभियान का सफल संचालन कर हम जनसामान्य को कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों से बचा सकते हैं। यदि रोगग्रस्त है तो समय से उसको इलाज भी मिल सकता है।


 


10 अगस्त को खिलाई जाएगी ऐंटी डिवर्मिंग टेबलेट

10 अगस्त को सभी शासकीय परिषदीय स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों पर 1 वर्ष से 19 वर्ष आयु तक के विद्यार्थियों को एल्बेंडाजोल की टेबलेट खिलाई जाएगी। सीडीओ ने डीआईओएस एवं बीएसए को निर्देशित किया है कि वह सुनिश्चित करेंगे कि प्रत्येक विद्यार्थी पेट के कीड़े मारने की दवा अवश्य खा ले।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)