जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

अलीगढ मुस्लिम विश्व विद्यालय में हिन्दू छात्र की पिटाई का शर्मनाक वीडियो वायरल

0


अलीगढ़ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, उत्तर प्रदेश. अलीगढ मुस्लिम विश्व विद्यालय में छात्रों की गुंडई का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में समुदाय विशेष के छात्रों ने सुलेमान हॉस्टल में ले जाकर हिंदू युवक के साथ बेरहमी से मारपीट की वारदात को अंजाम दिया है। युवक के साथ बेल्टों से मारपीट करने वाले छात्र का नाम जैद मोहम्मदी बताया जा रहा है। मारपीट के दौरान वायरल वीडियो में छात्र नेता फरहान जुबेरी भी बैठा हुआ नजर आ रहा है। इतना ही नहीं हिंदू युवक से समुदाय विशेष के छात्रों ने जूतों में नाक भी रगड़वाई है। वायरल वीडियो 1 महीने पुराना है। बताया यह भी जा रहा है कि पुलिस ने महज 151 की कार्यवाही करके खानापूर्ति कर दी है। सिविल लाइन थाना इलाके के एएमयू के सुलेमान हॉल का वायरल वीडियो बताया जा रहा है।

वायरल वीडियो को लेकर करणी सेना के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ज्ञानेंद्र सिंह चौहान ने जानकारी देते हुए बताया है कि देखिए एक यह वीडियो है जो काफी वायरल हो रहा है, जिसमें एएमयू कैंपस में एक गरीब व्यक्ति के साथ बेरहमी से मारपीट की जा रही है। कुछ छात्र उसके साथ मारपीट कर रहे हैं। बेहद शर्मनाक और दर्दनाक यह घटना है। जिस तरीके से उसके साथ मारपीट की गई है, अपने पैरों में नाक रगड़वाई गई है। उन्होंने कहा कि इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना है। इस बारे में मैं अलीगढ़ पुलिस प्रशासन से मांग करता हूं। दोषी छात्रों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। अगर कार्रवाई नहीं होती है तो हजारों करणी सेना के कार्यकर्ता स्वयं कार्रवाई करने के लिए बाध्य होंगे।

मीडिया जानकारी के मुताबिक आकाश नाम का युवक प्रॉपर्टी डीलिंग का कार्य करता है। आकाश के दोस्त का महेशपुर गांव के पास होटल है। इस होटल पर मारपीट करने वाले छात्र शराब पीने के लिए आते थे, जिसका विरोध आकाश ने किया था। इसी विरोध के चलते आरोपी छात्र इतने नाराज हो गए। आकाश को धोखे से बुलाकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के सुलेमान हॉल में ले गए। जहाँ 23 जून की दोपहर 3:00 बजे आकाश के साथ इन सभी ने बेरहमी से मारपीट की है, इतना ही नहीं आकाश और मारपीट करने वालों दोनों लोगों को पुलिस ने थाने में बंद कर दिया। थाने से पुलिस ने देर रात आकाश को छोड़ दिया था।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)