जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

26 नवंबर से लखनऊ में किसानों का तीन दिवसीय महापड़ाव, हजारों किसान जुटेंगें

0


 *एम एस पी कानूनी गारंटी, संपूर्ण कर्जा माफी की लड़ाई तेज करने की तैयारी*

 *जिले से बड़ी संख्या में किसान ट्रेनों से आज रवाना होंगें* 


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़। संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर 26 नवंबर से देश की सभी राजधानियों में किसान महापड़ाव होगा। लखनऊ में भी इको गार्डन में राज्य भर से हजारों किसान-मजदूर जुटेंगें। लखनऊ में किसान महापड़ाव में भागीदारी के लिए क्रांतिकारी किसान यूनियन की राज्य कमेटी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में बताया गया कि महापड़ाव से एमएसपी की कानूनी गारंटी, संपूर्ण कर्जा माफी, किसान पेंशन जैसी बाकी सभी मांगों के एकबार फिर आंदोलन के लिए राजधानियों की ओर किसान कूच करेगा। साथ ही योगी सरकार के किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली देने की वादे को किसान जोरदार आवाज से याद दिलाएंगें।


  इसके अलावा महापड़ाव के दौरान यूनियन की ओर से आजमगढ़ में  मंदूरी एयरपोर्ट के विस्तारीकरण को रद्द करने, बलिया में घाघरा नदी के कटान को रोकने और प्रभावित गांवों को मुआवजा देने, लखनऊ के चिनहट में टाटा-टेल्को द्वारा पक्की नौकरी देने और बाकी मुआवजा देने, ग्रेटर अलीगढ़ के नाम पर जबरन जमीन हड़पने के और बिजली विभाग द्वारा जबरन दोबारा बिल वसूली मामले में कार्यवाही जैसी जिलास्तरीय आंदोलनों की मांग को मजबूती के साथ राजभवन के सामने रखा जाएगा।


  बैठक में तय किया गया सभी जिलों से यूनियन के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में लखनऊ रवाना होंगें। बैठक में राज्य प्रभारी शशिकांत के अलावा एटा जिलाध्यक्ष  से अनिल यादव, सुशील यादव, आजमगढ़ मंडल प्रभारी रामनयन यादव, प्रेमनारायण यादव, बलिया संयोजक बलवंत यादव, अलीगढ़ जिलाध्यक्ष नगेन्द्र चौधरी, लखनऊ मंडल प्रभारी विनोद सिंह, जिलाध्यक्ष एकादशी यादव, जिला प्रभारी दिनेश रावत, सीतापुर जिला संयोजक विमलेन्द्र सिंह, फिरोजाबाद प्रभारी कमलेश कमल, कासगंज प्रभारी अजय लोधी, हाथरस प्रभारी श्याम बिहारी सिंह, गाजीपुर प्रभारी शिवपूजन यादव, इलाहाबाद प्रभारी जीतू सिंह आदि शामिल हुए।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)