जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस पर गोष्ठी, 'महिला हिंसा को रोकने के लिए जनजागरूकता है जरूरी'

0

अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ़। पूरी दुनिया में महिलाओं को हिंसा, शोषण व उत्पीड़न एवं दुर्व्यवहार के डर का सामना करना पड़ता है। महिला हिंसा के बढ़ते मामले चिंता का विषय है। दुनिया भर में महिलाओं के साथ हो रही हिंसा के बारे में जागरूकता पैदा करने और इसे समाप्त करने के तरीकों का पता लगाने के लिए अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस पर मंगलायतन विश्वविद्यालय में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय की एनएसएस व कदम समूह एवं विज्ञान फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में हुआ। इस दौरान महिलाओं के प्रति बढ़ रही हिंसा को नियंत्रित करने का संकल्प भी लिया गया।


कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित करके की गई। मुख्य अतिथि अलीगढ़ विधायक मुक्ता राजा ने कहा कि यह दिवस नारी को शक्ति शाली और संस्कारी बनाने का अनूठा माध्यम है। विशिष्ठ अतिथि एसडीएम महिमा राजपूत ने कहा कि महिलाओं को संविधान में विशेष अधिकार दिए हैं। ज्ञान अर्जित करने के साथ अपने अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए। यदि किसी महिला के साथ हिंसा हो तो इसकी जानकारी पुलिस के साथ साझा करें। जन जागरूकता से ही महिलाओं व बच्चियों के साथ होने वाली हिंसा को रोका जा सकता है। अध्यक्षीय उद्बोधन में कुलसचिव बिग्रेडियर समरवीर सिंह ने महिला सुरक्षा कानून का सख्त बनाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि यह दिवस महिलाओं की अस्मिता व अस्तित्व से जुड़ा हुआ है। महिलाएं सिर्फ आधी आबादी नहीं है वह समाज में 100 फीसद प्रतिनिधित्व करती हैं। कार्यक्रम को संजय प्रताप सिंह व मनीषा उपाध्याय ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कुलपति प्रो. पीके दशोरा व परीक्षा नियंत्रक प्रो. दिनेश शर्मा ने कार्यक्रम के आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त की। प्रो. सिद्धार्थ जैन ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में प्रशासनिक अधिकारी गोपाल सिंह राजपूत, डा. सोनी सिंह, लव मित्तल का सहयोग रहा। इस अवसर पर डा. स्वाति अग्रवाल, गौरी पाराशर, रवि शर्मा, अरुण शर्मा आदि थे।

विद्यार्थियों ने हैदराबादी व अवधी भोजन के साथ किया नवीन प्रयोग
अलीगढ़।
 मंगलायतन विश्वविद्यालय के होटल मैनेजमेंट विभाग के विद्यार्थियों की विशेष कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यार्थियों ने प्राध्यापक डा. राजीव रंजन व रोबिन वर्मा के सानिध्य में हैदराबादी भोजन को अवधी भोजन के साथ मिलाकर एक नया प्रयोग किया। प्रयोग में तैयार खाना पूर्ण रूप से शाकाहारी व पौष्टिक गुणों से भरपूर था। विद्यार्थियों द्वारा किए गए प्रयोग का कुलसचिव बिग्रेडियर समरवीर सिंह ने अवलोकन किया। उन्होंने विद्यार्थियों द्वारा तैयार किए गए भोजन को चखा और प्रशंसा करते हुए स्वाद को बेहतर बताया। उन्होंने विद्यार्थियों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए मार्गदर्शन किया। वहीं कुलपति प्रो. पीके दशोरा, परीक्षा नियंत्रक प्रो. दिनेश शर्मा, मानवीय संकाय के डीन प्रो. राजीव शर्मा ने विद्यार्थियों द्वारा किए जा रहे नवीन प्रयोग पर प्रशंसा व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं प्रेषित की।
डा. राजीव रंजन ने होटल मैनेजमेंट में रोजगार की बेहतर संभावनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि होटल उद्योग में रोजगार के अवसर बहुतायत में उपलब्ध है। सिर्फ विद्यार्थियों को प्रशिक्षण प्राप्त कर इस क्षेत्र में बेहतर करने की आवश्यकता है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)