जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

जिलाधिकारी ने राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय का किया स्थलीय निरीक्षण, अंतिम पायदान पर दिखा काम

0


*निरीक्षण में लगभग सभी प्रकार के निर्माण कार्य फिनिशिंग स्तर पर पाए गये*

*डीएम ने अंतिम चरणों में चल रहे फिनिशिंग कार्य पूर्ण करने के लिए एक माह का दिया अतिरिक्त समय*

*सहायक अभियंता एवं अवर अभियंता के मध्य कार्यों का आवंटन कर समय से कार्य पूर्ण कराया जाए*

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़| राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य जोकि अपने अंतिम चरण में है का, जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने मंगलवार को स्थलीय निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान पाया कि लगभग सभी प्रकार के कार्य फिनिशिंग स्तर पर हैं। 21 जून 2021 से आरम्भ हुए निर्माण कार्य को दिसम्बर मासान्त तक हर प्रकार से पूर्ण करना था, परन्तु मंगलवार को निरीक्षण के दौरान मै0 ईश्वर सिंह एसोशिएट्स कंसट्रक्शन द्वारा आरएमपीएसयू का निर्माण कार्य पूर्ण करने के लिए एक माह के मोहलत की गुहार लगाई गयी। जिलाधिकारी ने अब तक हुए कार्यों पर संतोष प्रकट करते हुए कहा कि आपके अनुरोध पर जनवरी मासान्त तक का समय दिया जा रहा है, परन्तु प्रत्येक दशा में कार्य पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि अब समय आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। अगर जनवरी माह में कार्य पूर्ण नहीं होता है तो कोई बहाना नहीं चलेगा बल्कि कम्पनी को ब्लैकलिस्टेड करने की संस्तुति शासन को भेज दी जाएगी। डीएम ने स्थलीय भ्रमण के दौरान प्रशासनिक एवं पुस्तकालय भवन, शैक्षणिक भवन एवं छात्रावास, सुविधा केन्द्र, कुलपति आवास, कर्मचारी आवास, विद्युत सबस्टेशन, एसटीपी, रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम समेत सड़क निर्माण का बारीकी के साथ घूम-घूमकर निरीक्षण किया। 

केंद्र एवं राज्य सरकार के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय प्रथम चरण में 22 एकड़ एरिया में निर्माणाधीन है। विश्वविद्यालय 87.96 करोड़ की अनुबंध लागत से ईपीसी मोड पर बनाया जा रहा है। सभी प्रकार के निर्माण कार्यों को 31 दिसम्बर तक पूरा करना था, परन्तु निर्माण कार्य पूर्ण करने के लिए ईश्वर सिंह एसोशिएट्स द्वारा एक माह का अतिरिक्त समय देने की गुहार लगाई गयी। डीएम ने अनरोध पर विचार करते हुए श्रमिकों की संख्या में इजाफा एवं तकनीकी सहयोग से अंतिम चरणों में चल रहे फिनिशिंग का कार्य पूर्ण करने के लिए एक माह का अतिरिक्त समय देने की सहमति प्रदान की। डीएम ने निरीक्षण के दौरान कार्य की गुणवत्ता एवं समयबद्धता के लिए जिम्मेदार अधिकारियों, अधिशासी अभियंता इन्द्रपाल सिंह, सहायक अभियंता अरविन्द सिंह, दिशा अग्रवाल एवं अर्पित राजपूत को पर्यवेक्षणीय दायित्वों का सही ढ़ंग से निर्वहन न करने के लिए कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने यह भी पूछा कि निर्माण कार्यों को मानक व गुणवत्तापूर्ण ढ़ंग से समय से पूरा कराने के लिए उनके द्वारा क्या प्रयास किये गये। इस पर उन्होंने विस्तृत रिपोर्ट तलब करते हुए कहा कि यदि शासन से लेटलतीफी के संबंध में जवाब मांगा जाता है तो उनकी जिम्मेदारी तय की जाएगी। अधिशासी अभियंता इन्द्रपाल को निर्देशित किया गया कि वह सहायक अभियंता एवं अवर अभियंता के मध्य कार्यों का आवंटन कर समय से कार्य पूर्ण कराएं। 

इस दौरान नगर मजिस्ट्रेट रमाशंकर, एडीआई संदीप कुमार समेत संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

---

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)