जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

#Breaking: कमिश्नर के दफ्फर मे सरकारी नौकरी और डकार रहा था PM-Kisan Samman Nidhi , शिकायत पर हुए FIR के आदेश

0


 ... पढ़िए, तत्कालीन लोकसेवक के खिलाफ UP का पहला मुक़दमा

चंचल वर्मा,अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| प्रधानमंत्री मोदी द्वारा देशभर के किसानों को दीं जा रहीं PM-Kisan Samman Nidh का लाभ जो सरकारी सेवा मे कार्यरत किसान चोरी छुपे प्राप्त कर रहे हैं उनके लिए यह सावधान कराने वाली महत्वपूर्ण खबर हैं. अलीगढ जिले मे ऐसे ही एक सरकारी सेवारत किसान के खिलाफ मुक़दमा दर्ज कराने के आदेश अलीगढ पुलिस को दिए हैं | अब पुलिस मामले की जाँच करेगी और पता लगाएगी कि सरकारी मुलाजिम होने के बावजूद भी आरोपी ने किसान सम्मान निधि का लाभ क्यों प्राप्त किया? मामला अलीगढ जिले का हैं|

 

         जानकारी के अनुसार आरोपी जीतेन्द्र कुमार तिवारीअलीगढ़ मण्डल के कमिश्नर कार्यालय मे तैनात था| और अपने पद का दुरूपयोग करते हुए उसने खुद प्रधानमंत्री द्वारा लोकहित में जारी किसान सम्मान निधि कि 9 किस्त प्राप्त कर ली थी| जब इस मामले की जानकारी RTI कार्यकर्त्ता और अधिवक्ता हर्ष मित्तल कोई हुईं तो उन्होंने जिलाधिकारी स्वागत मामले की शिकायत की| शिकायतकर्ता द्वारा कि गई शिकायत उपरान्त उक्त प्राप्त कि गई 9 किस्त की धनराशि 18000/ रुपये आरोपी लोक सेवक द्वारा सरकारी खाते में वापस करा दिये|

     लेकिन लोकसेवक द्वारा अपने पद का दुरूपयोग कर प्रधानमंत्री द्वारा लोकहित में जारी किसान सम्मान निधि को प्राप्त की, इस मामले मे आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होने पर उन्होंने आरोपी के खिलाफ न्यायालय द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने की गुहार लगायी| दलीलों और तथ्यों के आधार पर मामले मे कोर्ट ने आरोपी जितेन्द्र कुमार तिवारी तत्कालीन लोकसेवक कार्यालय आयुक्त अलीगढ़ मण्डल अलीगढ़ द्वारा अपने पद का दुरुपयोग कर को अपराध का दोषी माना है। और क्वार्सी पुलिस को मुक़दमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं| किसान सम्मान निधि से जुड़ा यह पूरे उत्तर प्रदेश में पहला मामला है जिसके किसी सरकारी मुलाजिम पर मुक़दमा हुआ हो|

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)