जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

स्वावलंबन एवं विकास के पथ पर अग्रसर, उत्तर प्रदेश एवं राष्ट्रीय बालिका दिवस की दी डबल बधाई

0

अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ| उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्य कार्यक्रम कल्याण सिंह हैबीटेट सेंटर में आयोजित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागीय योजनाओं के  लाभार्थियों को प्रमाण वितरित कर योजनाओं का प्रचार प्रसार किया गया। मा0 जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विजय सिंह ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश दिवस के साथ ही राष्ट्रीय बालिका दिवस भी है। माननीय मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में महिलाओं एवं बालिकाओं को स्वरोजगार स्थापना के पर्यापत अवसर प्रदान किये जा रहे हैं। सरकार द्वारा महिला सशक्तीकरण के लिए विकासोन्मुखी योजनाओं के संचालन के साथ ही मिशन रोजगार के तहत बड़े पैमाने पर स्वरोजगार के नए अवसर सृजित किए जा रहे हैं। युवाओं को रोजगार एवं नौकरियां प्रदान की जा रही हैं।

        मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर ने कहा कि विभिन्न प्रकार की सांस्कृतिक विरासतों, आध्यात्म व असीम संभावनाओं वाला प्रदेश बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था, सुदृढ़ कानून व्यवस्था प्रदेश के विकास की नई गाथा लिख रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी को उत्तर प्रदेश का निवासी होने पर गर्व होना चाहिए। यह वह धरती है, जहां भगवान श्रीराम, भगवान श्रीकृष्ण ने अवतार लिया। उन्होंने कहा कि दरअसल हम अपने पर गर्व करना भूल गए हैं। अपने श्रेष्ठता के बोध को भुला बैठे हैं। उसको पाने, मानने और जानने के लिए इस तरह के आयोजन का होना अत्यंत आवश्यक है।


        मा0 एमएलसी डॉ. मानवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि नया उत्तर प्रदेश सुशासन और सुरक्षा का केंद्र बनने के साथ ही आत्म निर्भरता, नारी सुरक्षा, स्वावलंबन एवं विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा है। उन्होंनेे कहा कि प्रदेश ने इतिहास, अध्यात्म, संस्कृति, साहित्य, कला, पर्यटन सभी क्षेत्रों में चमत्कारिक ऊंचाइयों को प्राप्त करते हुए देश ही नहीं अपितु विश्व पटल पर अपने को साबित कर दिखाया है।

        मा0 एमएलसी चौ0 ऋषिपाल सिंह ने सभी को यूपी दिवस एवं राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मा. प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन में एवं मा. मुख्यमंत्री जी की अगुवाई में प्रदेश विभिन्न क्षेत्रों में मिसाल कायम करते हुए विकसित प्रदेश बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने जनसामान्य की खुशहाली व उन्नति की कामना करते हुए कहा कि लाभार्थी परियोजनाओं को धरातल पर ले जाकर पात्र एवं जरूरतमंदों को लाभान्वित किया जा रहा है।


        उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष कृष्ण पाल सिंह ने कहा कि 24 जनवरी 1950 को यूनाइटेड प्राविन्सेज से नाम बदलकर उत्तर प्रदेश कर दिया गया था। उन्होने बताया कि वर्ष 2000 में उत्तर प्रदेश से उत्तरांचल प्रान्त को अलग करके उत्तराखण्ड राज्य की स्थापना की गयी। अथक प्रयास द्वारा भारत में उत्तर प्रदेश आर्थिक क्षेत्र के रूप मे तीसरा सबसे बड़ा राज्य है। इसी के साथ ही उत्तर प्रदेश आर्थिक एवं सामाजिक विकास, शिक्षा एवं स्वास्थ्य, कानून व्यवस्था के क्षेत्र में निरन्तर अपना कीर्तिमान स्थापित कर रहा है।

        जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने हमें गंगा-यमुना, राम-कृष्ण, शिव, गंगा-यमुना का दोआब, अद्वितीय सांस्कृतिक एवं एतिहासिक विरासत प्रदान की है। उन्होंने प्रदेश वासियों के साथ ही उत्तर प्रदेश में निवासित अन्य प्रदेशों के नागरिकों को भी उत्तर प्रदेश दिवस की शुभकामनाएं दीं जो इसके विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे मौजूदा राजनैतिक नेतृत्व, कोविड प्रबंधन एवं प्रयागराज कुम्भ के भव्य आयोजन पर देश-विदेश में थीसिस लिख जा रहा है। उन्होंने ब्लॉक गोण्डा के ग्राम प्रधान तलेसरा गजेन्द्र सिंह द्वारा तैयार गई पुस्तक ’’आईए मेरा गॉव देखिए’’ का उदाहरण देते हुए कहा कि गॉव में सीसीटीवी, अमृत सरोवर, सामुदायिक शौचालय, पंचायत सचिवालय, पुस्तकालय, स्कूल-कॉलेज, हैल्थ एण्ड वैलनेस सेंटर, मनरेगा पार्क, ओपन जिम समेत अन्य सुविधाएं हैं जो शहर के ही समान हैं। उन्होंने सभी ग्राम प्रधानों से आव्हान किया कि ग्राम पंचायत निधि की धनराशि का सदुपयोग करते हुए ग्रामों में मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश का देश एवं दुनियां में इसलिए सम्मान है कि अब यह बीमारू प्रदेश नहीं रहा अब वह मॉडल प्रदेश बन चुका है। और सह सब कुछ इसलिए संभव हो सका कि जब यहां के निवासियों एवं अधिकारियों ने नेतृत्व की मंशा को धरा पर उतारा। उन्होंने कहा कि यहां जितने भी लोगों को सम्मानित किया गया है इसका मतलग यह नहीं है कि अलीगढ़ में केवल इतने ही लोगों ने उत्कृष्ठ कार्य किये हैं। यहां तो बस उनके प्रतीक के रूप में कुछ लोगों को सम्मानित किया गया है ताकि अन्य लोग भी प्रेरित हो सकें।


        डीएम ने कहा कि आज यह सुखद संयोग है कि उत्तर प्रदेश दिवस के साथ ही राष्ट्रीय बालिका दिवस भी है। अगर हमने आधी दुनियां की बात करना छोड़ दिया या उनके विकास के बारे में नहीं सोचा तो विकसित भारत का जो संकल्प मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा लिया गया है उसे प्राप्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित जनों को राष्ट्रीय मतदाता दिवस एवं गणतंत्र दिवस पर उनके कर्तव्यों का भी बोध कराया। उन्होंने कहा कि जो सबसे बड़ा होता है उसकी जिम्मेदारी भी उतनी ही बड़ी होती है। आज उत्तर प्रदेश देश के पॉचवें हिस्से के रूप में अपना प्रतिनिधित्व कर रहा है। इसलिये यहां के निवावियों की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है कि वह प्रदेश को आगे बढ़ाने में निरन्तर प्रयासरत रहें ताकि 1/5 हिन्दुस्तान आगे बढ़ सके।


लाभार्थियों को मिले प्रमाणपत्र एवं प्रतिभाओं का हुआ सम्मान 

उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मा0 जनप्रतिनिधियों द्वारा जिला उद्योग केन्द्र की विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में बंटी कुमार, विष्णु शर्मा, विवेक कुमार, विकास कुमार, रेशमपाल धनगर, गुड्डू कुमार, शिवकुमार शर्मा एवं विष्णुकांत झा को टूल किट, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में जतिन शर्मा, राखी राना, गौरव, मनोज कुमार शर्मा, पीएमजीपी योजना में मनोज, सचिन गौड़, पीएम स्वनिधि योजना में नीरज, ज्योति वर्मा, सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन में रवेन्द्र पाल, महेन्द्र पाल एवं कान्ती देवी, प्रमोशन ऑफ ऐग्रिकल्चर मैकेनाइजेशन फ़ॉर इन सीटू मैनेजमेंट ऑफ रेजिडयू के तहत सोमवीर सिंह, उपेंद्र सिंह को अनुदान पर कृषि यंत्र का लाभ दिया गया। पीएम स्वनिधि योजना में नीरज, ज्योति वर्मा को स्वरोजगार स्थापना के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की गई।  प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत कमलेश, यशोदा देवी, संजीदा बेगम को आवास निर्माण के लिए तीन किस्त उपलब्ध कराई गयीं। पीएम आवास ग्रामीण में जमीला बेगम, जुम्मन, रजिया, पिंकी देवी एवं रानी, उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत वर्तिका कंसल, कनिका कंसल, डोली, सयान प्रताप सिंह, सुबोध प्रताप सिंह को लाभान्वित किया गया। जेण्डर चैंपियन योजना में राज्य स्तर पर श्रीमती पूजा रानी एथलेटिक्स, श्रीमती मेघा बैडमिंटन, श्रीमती अनुष्का यादव हॉकी, श्रीमती रानी कश्यप फुटवाल एवं श्रीमती भारती शर्मा बॉक्सिंग, श्रम विभाग द्वारा रोहित बघेल, सुभाष चंद्र, शमीम, रामगोपाल को मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना और लालाराम को कन्या विवाह सहायता योजना से लाभान्वित किया गया। दिव्यांग सशक्तीकरण विभाग द्वारा अवधेश कुमार, इमदाद अली, नौशाद, योगेश कुमार एवं दलवीर सिंह, नवाचार व उपलब्धियों के लिए एनआरएलएम द्वारा जूट बैग में श्रीमती पूनम तोमर, ड्रोन दीदी नीरज कुमारी, सीमा सिंह, बैंक सखी पूनम कुमारी, विद्युत सखी लता सिंह को स्वीकृति प्रमाण पत्र प्रदान किये गये।


        मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजनान्तर्गत मियांवाकी पद्धति से अमृत वन का निर्माण करने पर विकासखंड गोंडा के ग्राम तलेसरा के प्रधान गजेंद्र सिंह, कैमथल के प्रधान पुष्पेंद्र कुमार, ग्राम गहलउ की महिला प्रधान किरण देवी, विश्वकर्मा संकुल का निर्माण करने पर ग्राम प्रधान रायपुर देहली नीरज सिंह, ग्राम प्रधान कासिमपुर शिवकुमार, ग्राम प्रधान कारह कादिलपुर प्रवीण कुमार चौहान, ग्राम पंचायत भवन में पुस्तकालय की स्थापना करने पर ग्राम प्रधान धूमरा उषा देवी, ग्राम प्रधान लाधौआ संध्या सिंह, ग्राम प्रधान सिकंदरपुर मछुआ कल्पना देवी को सम्मानित किया गया।

        इस अवसर पर पीडी डीआरडीए भालचंद्र त्रिपाठी, क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी डॉ नरेंद्र कुमार, स्मिता सिंह जिला प्रोबेशन अधिकारी, अमित जायसवाल जिला कृषि अधिकारी, डीपीआरओ धनंजय जायसवाल, उप कृषि निदेशक यशराज सिंह, उपायुक्त उद्योग बीरेन्द्र कुमार एवं अन्य अधिकारियों द्वारा विभागीय योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम में आरना अग्रवाल द्वारा सरस्वती वंदना, ब्रह्मकुमारी निशा द्वारा भक्ति गीत, कंचन कुमारी एवं सोनू शर्मा द्वारा प्रभु श्री राम आए हैं की मनमोहक प्रस्तुति दी गयी। इस अवसर पर जिला महामंत्री शिवनारायण शर्मा, डीडीओ आलोक आर्य समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण, जिला स्तरीय अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक व लाभार्थी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)