जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

अलीगढ के प्रत्येक मंदिरों मे 14 से 20 जनवरी तक होंगे रामचरित मानस के पाठ, आदेश जारी

0


*जिलाधिकारी ने 14 से 22 जनवरी तक आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा की निर्धारित*

*14 से 20 जनवरी तक सभी मंदिरों में रामचरित मानस के 01-01 कांड का होगा पाठ*

*21 जनवरी से 22 जनवरी तक अखण्ड रामायण पाठ किये जाएंगे आयोजित*

*22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह का होगा सजीव प्रसारण*

*डीएम ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन समेत सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के दिये निर्देश*


अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ|अयोध्या में नवनिर्मित श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अवसर पर जिले के राम मंदिरों, हनुमान मंदिरों एवं महर्षि वाल्मीकि मंदिरों में रामकथा, रामायण पाठ, सुंदरकाड एवं भजन कीर्तन के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। 14 से 22 जनवरी तक आयोजित होने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रूपरेखा निर्धारित किये जाने के संबंध में जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में बैठक आयोजित की गयी।

उन्होंने कहा कि यह अत्यंत ही हर्ष का विषय है कि 22 जनवरी को अयोध्या स्थित नव निर्मित मंदिर में भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है, जिसमें मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी समेत देश-प्रदेश के जनप्रतिनिधियों, साधु-संतो एवं लब्ध प्रतिष्ठित संभ्रांत नागरिकों की गरिमामयी उपस्थिति रहेगी। लंबे समय बाद यह शुभ दिन आया है जब भगवान श्री राम मंदिर में विराजमान होंगे। डीएम ने सभी अनुयायीयों से कार्यक्रम को उत्साहपूर्वक मनाए जाने की अपील की है। 

जिलाधिकारी ने 14 से 22 जनवरी तक आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा निर्धारित करते हुए बताया कि सभी राम मंदिरों, हनुमान मंदिरों, वाल्मीकि मंदिरों में 14 जनवरी को बालकांड, 15 जनवरी को अयोध्याकांड, 16 जनवरी को अरण्यकांड, 17 जनवरी को किष्किन्धाकांड, 18 जनवरी को सुन्दरकांड, 19 जनवरी को लंकाकांड एवं 20 जनवरी को उत्तरकांड के पाठ के साथ ही भजन-कीर्तन के कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। उन्होंने बताया कि 21 जनवरी की प्रातः सभी मंदिरों में अखण्ड रामायण पाठ कराई जाए जोकि 22 जनवरी की प्रातः पूर्ण हो जाएगी। उसके पश्चात अयोध्या में आयोजित होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सजीव प्रसारण किया जाएगा। 

जिलाधिकारी ने आयोजन स्थल पर साफ-सफाई, पेयजल, सुरक्षा, दरी बिछावन, ध्वनि, प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित कराते हुए कार्यक्रम सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि लाउडस्पीकरों की आवाज नियंत्रित रहे और कार्यक्रम स्थलों पर सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की जाए, किसी भी अप्रिय घटना के समय रिस्पॉस टाइम जीरो होना चाहिए। उन्होंने वाल्मीकि रामायण में उल्लिखित श्री रामजी के आर्दशों, मानव मूल्यों, सामाजिक मूल्यों का व्यापक प्रचार-प्रसार कर जनमानस को इस अभियान से जोडते हुए निर्धारित अवधि में मंदिरों में दीप प्रज्जवलन, दीपदान के साथ-साथ राम कथा प्रवचन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों को सफल बनाने की अपील की है।  

बैठक में एडीएम प्रशासन पंकज कुमार, एडीएम सिटी अमित कुमार भट्ट समेत सभी एसडीएम, बीडीओ, थाना प्रभारी, सीडीपीओ एवं प्रमुख मंदिरों के पुजारीगण उपस्थित रहे। 

-

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)