जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

एएमयू शिक्षक द्वारा रूटलेज द्वारा प्रकाश्ज्ञित पुस्तक में एक अध्याय का योगदान |AMU NEWS

0

 


अलीगढ मीडिया न्यूज़, अलीगढ| अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी गेम्स कमेटी द्वारा गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में खेलों के माध्यम से आपसी एकता के बढ़ावे के उद्देश्य से आयोजित मिनी मैराथन प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में निधि चैधरी- प्रथम, वैशाली गोस्वामी- द्वितीय, आयुषी चैधरी तृतीय स्थान पर रही तथा बालक वर्ग में  मोहम्मद कमर  प्रथम, पुष्पेंद्र कुमार शर्मा- द्वितीय, मोहम्मद अजीम तृतीय स्थान पर रहे ।


रविवार को प्रातः घने कोहरे की परवाह किए बिना मिनी मैराथन में भाग लेने हेतु एएमयू स्कूल एवं विभागों से बालक एवं बालिकाओं में कुल तीन सौ से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतिभा किया । दौड़ प्रारम्भ होने से पहले एएमयू रजिस्ट्रार मोहम्मद इमरान ,आईपीएस द्वारा वार्म अप एवं एरोबिक व्यायाम को स्वयं उनके द्वारा सामूहिक रूप से एक साथ प्रतिभागियों को कराया गया । बालिकाओं की दौड़ के उदघाटन की झंढ़ी वीमेन्स कॉलेज की प्राचार्य प्रोफेसर नईमा गुलरेज ने दिखाई। बालक वर्ग की दौड़ का उद्घाटन एएमयू कुलपति प्रोफेसर मोहम्मद गुलरेज, एएमयू रजिस्ट्रार मोहम्मद इमरान आईपीएस तथा सचिव यूनिवर्सिटी गेम्स कमेटी सैयद अमजद अली रिजवी द्वारा संयुक्त रूप से किया गया । अतिथियों का स्वागत एथलेटिक क्लब के अध्यक्ष प्रोफेसर जमीरउल्लाह खान द्वारा किया गया ।


मुख्य अतिथि कुलपति प्रोफेसर मोहम्मद गुलरेज ने कहा कि इस मिनी मैराथन रेस में हार या जीत महत्वपूर्ण नहीं बल्कि महत्वपूर्ण है देश के लिए बलिदान हुए बलिदानियों को याद करते हुए उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलने हेतु प्रण करना । एथलेटिक ग्राउंड से प्रारंभ होने वाली मिनी मैराथन  पुरानी चुंगी, शमशाद मार्केट, तस्वीर महल, टेलीफोन एक्सचेंज, कल्याण सिंह हैबिटेट सेंटर होते हुए यूनिवर्सिटी कैंपस का चक्कर लगाते हुए एथलेटिक ग्राउंड तक लगभग 10 किलोमीटर की दूरी धावकों द्वारा तय की गई । निर्णायक मंडल में एएमयू गेम्स कमेटी के डिप्टी डायरेक्टर अनीस उर रहमान खान , असिस्टेंट डायरेक्टर अरशद महमूद सहित गेम्स कमेटी के सभी खेल प्रशिक्षक एवं एथलेटिक्स कोच रियाज, पूर्व कोच हामिद अली ,सरफराज, इमरान खान शिब्ली , सोहेल फारूकी, सरदार हुसैन , डॉक्टर नाजिया खान डॉक्टर फैसल शेरवानी , शहाब , राकेश  सहित स्कूल के व्यायाम शिक्षक कामरान, जीशान हैदर ,नौशाद, फिरोज सुलतान, अमित कुमार, मोहम्मद वसीम, अशरफ, अदनान और आमिर शमिल रहे । कार्यक्रम का संचालन मजहर उल कमर द्वारा किया गया ।


------------------------------


एएमयू शिक्षक द्वारा रूटलेज द्वारा प्रकाश्ज्ञित पुस्तक में एक अध्याय का योगदान


अलीगढ़, 22 जनवरीः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अंग्रेजी विभाग में सहायक प्रोफेसर डॉ. ए.के. मुनीर द्वारा ‘द रूटलेज कम्पेनियन टू लिटरेचर एंड द ग्लोबल साउथ’, में एक अध्याय का योगदान दिया गया है जिसका शीर्षक ‘मालाबार तट पर उभयचर काव्यः कप्पप्पातु और मप्पिला साहित्यिक संस्कृति में जहाज का क्रोनोटोप’ है।


‘उभयचर काव्य’ और बख्तिन के प्रसिद्ध ‘क्रोनोटोप’ के विश्लेषण को मिलाकर, यह अध्याय ‘वैश्विक दक्षिण’ से तुलनात्मक साहित्य और विश्व साहित्य के वर्तमान क्षेत्रों में हस्तक्षेप के बड़े उद्देश्य के साथ एक बहुभाषी ‘जहाज गीत’ को पढ़ने का एक प्रयास है। इस अध्याय में हिंद महासागर क्षेत्र में मालाबार तट की बहुभाषी अरबी मलयालम साहित्यिक संस्कृति में जहाज कालक्रम के विश्लेषण के लिए वैश्विक दक्षिण के भीतर समकालीन मेरीटाइम के अध्ययन पर निर्मित उभयचर कविताओं के विश्लेषण की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। इस अध्याय में कप्पप्पतु पर ध्यान केंद्रित किया गया है जो सदियों से चली आ रही साहित्यिक उत्पादन और प्रदर्शन वाली संस्कृति के इतिहास में एक ऐतिहासिक मोड़ का प्रतीक है।


एएमयू के अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर मोहम्मद आसिम सिद्दीकी ने प्रतिष्ठित रूटलेज लिटरेचर कंपेनियंस श्रृंखला में प्रकाशित होने के लिए डॉ. मुनीर को बधाई दी। अल्फ्रेड जे. लोपेज और रिकार्डो क्विंटाना-वेलेजो द्वारा संपादित, रूटलेज कंपेनियन अपने विकास के एक महत्वपूर्ण क्षण में क्षेत्र का एक व्यापक अवलोकन प्रदान करता है। तीन भागों पर आधारित, इस खंड में दुनिया भर के 25 योगदानकर्ताओं के मूल अध्याय शामिल हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)