जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

#Aligarh: जिला पर्यावरण, जिला गंगा संरक्षण एवं जिला वृक्षारोपण समिति बैठकों का आयोजन

0

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ| जिलाधिकारी विशाख जी की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में जिला पर्यावरण, जिला गंगा संरक्षण एवं जिला वृक्षारोपण समिति बैठकों का आयोजन किया गया। बैठक में प्लास्टिक वेस्ट, ई-वेस्ट, सॉलिड वेस्ड, कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिशन वेस्ड, बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट के संबंध में विचार विमर्श करने के साथ ही जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक में एनजीटी के आदेशों पर सूचना उपलब्ध कराए जाने और नोडल अधिकारी द्वारा कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई। जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक में आगामी वित्तीय वर्ष के लिए वृक्षारोपण कराए जाने एवं स्थल चयन के संबंध में समीक्षा कर जिलाधिकारी द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।


बैठक में प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद अलीगढ़ का वर्ष 2024-25 के लिए वृक्षारोपण का 43.6 लाख का लक्ष्य है। इस संबंध में लगभग सभी विभाग अपनी कार्ययोजना प्रस्तुत कर चुके हैं। सभी विभागों को पूर्व में ही लक्ष्य का आवंटन किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि मियावाकी पद्धति द्वारा वेटलैंड के पास वृक्षारोपण कराए जाने से बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे। इस पर डीएम ने कहा कि शेष सभी विभाग अपनी कार्ययोजना शीघ्र प्रस्तुत करें। वन विभाग एवं उद्यान विभाग वृक्षारोपण के दृष्टिगत नर्सरी में तैयारी पूरी करें। इस वर्ष वन विभाग द्वारा 50 लाख पौधों एवं उद्यान विभाग द्वारा 2.75 लाख पौधों का उगान किया जा रहा है। डीएम ने सभी विभागों को निर्देश दिए गए कि वह समय रहते पौधों के संबंध में मांग पत्र प्रस्तुत करें, जिससे उन्हें गुणवत्तापूर्ण पौधे उपलब्ध हो सकें। डीएम ने वृक्षारोपण के संबंध में नगर विकास विभाग एवं अलीगढ़ विकास प्राधिकरण को निर्देशित किया कि खाली पड़ी भूमि पर मियांवाकी पद्धति द्वारा पौधारोपण कराया जाए। उन्होंने सभी बीडीओ को वृक्षारोपण के लिए ग्राम पंचायतों में खाली पड़ी भूमि का चिन्हांकन कर बाग विकसित करने के निर्देश दिये जिससे कि सामाजिक एवं पर्यावरण लाभ के साथ-साथ भविष्य में ग्राम पंचायतों में राजस्व के साधनों का भी विकास हो सके। उन्होंने रेलवे विभाग की खाली पड़ी भूमि को वृक्षारोपण के लिए चिन्हित करने के निर्देश दिये।


जिलाधिकारी ने नदियों के पुनर्जीवन एवं संरक्षण के लिए विशेष निर्देश देते हुए काली नदी के पुनर्जीवन एवं संवर्धन हेतु राजस्व विभाग, ग्राम विकास विभाग ,पंचायती राज विभाग, वन विभाग को इस संबंध में कार्य योजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि विशेष वृक्षारोपण के रूप में जिले में दो स्थानों- अलीगढ़ रेंज में असगरपुर एवं खैर रेंज में मानपुर में मित्र वन की स्थापना भी की जा रही है। आगामी वृक्षारोपण के लिए कंट्रोल रूम की स्थापना की जा चुकी है। जिलाधिकारी ने गंगा नदी में रिवर फ्रंट डेवलपमेंट के लिए सिंचाई विभाग को फिजिबिलिटी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने गंगा नदी पर घाट निर्माण विशेष रूप से घाट पर हाट कार्यक्रम के अंतर्गत संभावनाएं तलाशने के भी निर्देश दिये। इसी प्रकार से पर्यटन की संभावना को तलाशने में पर्यटन विभाग को भी निर्देशित किया गया। गंगा ग्राम के संबंध में उन्होंने विशेष निर्देश दिए कि इन ग्रामों से अपशिष्ट जल का डिस्चार्ज गंगा नदी में ना किया जाए, डीपीआरओ एवं खंड विकास अधिकारी को प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग को बायो मेडिकल वेस्ट के ट्रीटमेंट के निर्देश देते हुए कहा कि वह जीपीएस युक्त वाहन द्वारा ही बायोमेडिकल वेस्ट का परिवहन करें एवं एंड टू एंड मॉनिटर किया जाए। उन्होंने नगर निगम को लेगेसी वेस्ट के प्रबंधन के लिए शीघ्र कार्य योजना बनाने एवं क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को एनजीटी से संबंधित सभी मामलों की नोडल अधिकारी के रूप में मॉनिटर करने एवं निस्तारित करने के आवश्यक निर्देश दिये।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)