जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

प्रधानमंत्री ने अलीगढ एयरपोर्ट का आजमगढ़ से किया गया वर्चुअली लोकार्पण

0


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ : मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा आजमगढ़ से अलीगढ़ समेत उत्तर के 05 एवं अन्य प्रदेशों के एयर पोर्ट, अतिरिक्त टर्मिनल और विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर आजमगढ़ में मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी, मा0 उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य जी, मा0 कैबिनेट मंत्री श्री सूर्य प्रताप साही, श्री ए0के0 शर्मा, श्री योगेन्द्र उपाध्याय, श्री ओमप्रकाश राजभर, मा0 प्रदेश अध्यक्ष चौ0 भूपेन्द्र सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे। आजमगढ़ में आयोजित कार्यक्रम का धनीपुर एयरपोर्ट पर मा0 जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों एवं आमजन की उपिस्थति में सजीव प्रसारण देखा व सुना गया। अलीगढ़ एयरपोर्ट का कुल क्षेत्रफल 69.28 एकड़ है। टर्मिनल भवन का क्षेत्रफल 1250 वर्गमीटर, परियोजना लागत 29.40 करोड़ है। अलीगढ़ से पहली उड़ान सोमवार 11 मार्च को लखनऊ के लिए रवाना होगी। 

मा0 प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आज आजमगढ़ का सितारा चमक रहा है। एक जमाना था जब दिल्ली से कोई कार्यक्रम हो तो देश के अन्य राज्य उसके साथ जुड़ते थे आज आजमगढ़ में कार्यक्रम हो रहा है और देश के अलग-अलग कोने से हजारों लोग हमारे साथ जुड़े हुए हैं। आज केवल आजमगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश के विकास के लिए कई विकास परियोजनाओं का यहां से शुभारंभ हो रहा है जिस आजमगढ़ को देश के पिछड़ेे इलाकों में गिना जाता था, आज वही देश के लिए विकास का नया अध्याय लिख रहा है। आज आजमगढ़ से कई राज्यों में लगभग 34782 करोड रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है। आजमगढ़, श्रावस्ती, मुरादाबाद, चित्रकूट, अलीगढ़ के नए एयरपोर्ट के साथ ही जबलपुर, ग्वालियर, लखनऊ, पुणे, कोल्हापुर, दिल्ली और आदमपुर एयरपोर्ट पर नए टर्मिनल भवन का उद्घाटन हुआ है। आज कडप्पा, बेल्लारी और हुबली तीन हवाई अड्डों पर नए टर्मिनल भावनाओं का शिलान्यास भी किया गया है, यह सारे प्रयास देश के सामान्य जन के लिए हवाई जहाज की यात्रा को और ज्यादा सुलभ बनाएंगे। यह विकास की मेरी अनंत यात्रा का अभियान है और 2047 तक विकसित भारत बनाने के संकल्प के लिए तेज गति से दौड़ रहा हूं और तेज गति से देश को दौड़ा रहा हूॅ। 

मा0 मोदी जी ने कहा कि एयरपोर्ट, हाईवे और रेलवे से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ पढ़ाई, पानी और पर्यावरण से जुड़े विकास कार्यों को भी यहां नई गति मिली है। इन विकास परियोजनाओं के लिए मैं उत्तर प्रदेश और देश के सभी राज्यों की जनता को बधाई देता हूं। मैं विशेष रूप से आजमगढ़ के लोगों का आभार व्यक्त करता हूं कि वह इतनी बड़ी संख्या में हमें आशीर्वाद देने आए हैं। उन्होंने आजमगढ़ को अनन्त काल तक विकास का आजन्म गढ़ रहने की भी गारंटी दी। आज यूपी में अलीगढ़, मुरादाबाद, चित्रकूट और श्रावस्ती जैसे जिन शहरों को नए एयरपोर्ट टर्मिनल्स मिले हैं उन्हें कभी छोटा और पिछड़ा शहर कहा जाता था अब यहां भी हवाई सेवाएं शुरू हो रही है क्योंकि इन शहरों में तेजी से विकास हो रहा है यहां औद्योगिक गतिविधियों का विस्तार हो रहा है। जिस तरह हमारी सरकार जन कल्याण की योजनाओं को मेट्रो शहरों से आगे बढ़ाकर छोटे शहरों और गांव जहां तक ले गई वैसे ही आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के काम को भी हम छोटे-छोटे शहरों तक ले जा रहे हैं। छोटे शहर भी अच्छे एयरपोर्ट, अच्छे हाइवे के उतने ही हकदार हैं, जितने कि बड़े मेट्रो शहर हैं। भारत में अब तेजी से शहरीकरण हो रहा है, यह विकास आज से 30 साल पहले होना चाहिए था, जोकि नहीं हुआ, हम उसी को ध्यान में रखते हुए टियर-2, टियर-3 सिटी बनाकर उनकी ताकत बढ़ा रहे हैं ताकि शहरीकरण रूके नहीं बल्कि एक अवसर बनकर उभरे। सबका साथ-सबका विकास का रही विजन डबल इंजन की सरकार का मूल मंत्र है। आज आजमगढ़, मऊ और बलिया को कई रेलवे प्रोजेक्ट की सौगात मिली है। इसके अलावा आजमगढ़ रेलवे स्टेशन का भी विकास किया जा रहा है। सीतापुर, शाहजहांपुर, गाजीपुर, प्रयागराज, आजमगढ़ और कई दूसरे जिलों से जुड़ी रेल परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी हुआ है। प्रयागराज-रायबरेली, प्रयागराज-चकेरी और शामली-पानीपत समेत कई हाईवे का लोकार्पण श्ज्ञिलान्यास भी किया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 5000 किलोमीटर से ज्यादा सड़कों का लोकार्पण हुआ है, यह बढ़ती हुई कनेक्टिविटी पूर्वांचल के किसानों के लिए, यहां के नौजवान और उद्यमियांें के लिए एक सुनहरा भविष्य लिखने जा रही है। सरकार की प्राथमिकता है कि किसानों को उनकी उपज का सही दाम मिले। पहले की तुलना में कई गुना बढ़़ी हुई एमएसपी दी जा रही है, गन्ना किसानों के लिए भी इस साल लाभकारी मूल्य में 08 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। अब गन्ने का लाभकारी मूल्य 315 रुपए से बढ़कर 340 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। आजमगढ़ तो गन्ना बेल्ट में गिना जाता है। इसी उत्तर प्रदेश पहले गन्ना किसानों को उपज का सही और समय से मूल्य नहीं मिलता था। आज गन्ना किसानों को सही समय पर गन्ने का मूल्य मिल रहा है। गन्ना किसानों की मदद के लिए सरकार ने और भी नए क्षेत्रों पर बल दिया है।

 पेट्रोल में मिलाने के लिए गन्ने से एथेनॉल बनाया जा रहा है, पराली से बायोगैस बन रही है। यूपी में अब चीनी मिलें भी शुरू हो रही है और गन्ना किसानों का भाग्य भी बदल रहा है। केंद्र सरकार जो पीएम किसान सम्मान निधि दे रही है उसका लाभ भी किसानों को मिला है। विकास की इतनी तेज रफ्तार तभी मुमकिन होती है जब सरकार सही नियत और ईमानदारी से काम करती है। डबल इंजन सरकार लगातार काम कर रही है हमारी सरकार में यहां युवाओं के लिए महाराजा सुहेलदेव राज्य विश्वविद्यालय की नींव रखी गई। आजमगढ़ मंडल के हमारे युवाओं को लंबे समय से शिक्षा से लिए बनारस, गोरखपुर या प्रयागराज जाना पड़ता था। बच्चों को दूसरे घर पढ़ने के लिए भेजने पर मां-बाप पर जो आर्थिक बोझ पड़ता था, वह भी मैं समझता हूॅ। अब आजमगढ़ का विश्वविद्यालय हमारे युवाओं के लिए उच्च शिक्षा के रास्ते को आसान करेगा। उत्तर प्रदेश देश की राजनीति और विकास की दिशा व दशा तय कर रहा है। यूपी में जब से डबल इंजन सरकार आई है, यूपी की तस्वीर और तकदीर दोनों बदले हैं। आज उत्तर प्रदेश केंद्रीय योजनाओं को लागू करने में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले राज्यों में है। आंकड़ें इस बात की खुद गवाही दे रहे हैं। उत्तर प्रदेश अब अग्रिम पंक्ति में आकर खड़ा हो गया है। बीते वर्षों में डबल इंजन की सरकार ने उत्तर प्रदेश में लाखों करोड़ रुपए के विकास कार्य कराए हैं, इससे न सिर्फ यूपी का इंफ्रांस्ट्रक्चर बदला है, बल्कि युवाओं के लिए लाखों नए अवसर बने हैं। आज यूपी की पहचान रिकॉर्ड मात्रा में आ रहे निवेश, ग्राउण्ड ब्रकिंग सेरेमनी, एक्सप्रेस-वे के नेटवर्क और हाईवे से हो रही है। यूपी की चर्चा बेहतर कानून व्यवस्था को लेकर हो जाती है। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का जो सदियषें पुराना इंतजार था वह भी पूरा हो गया। अयोध्या, बनारस, मथुरा और कुशीनगर के विकास से यूपी में पर्यटन में बहुत तेजी से बढ़ा है और उसका लाभ पूरे प्रदेश को मिल रहा है।

मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि आजमगढ़ को पिछले 10 वर्ष में न केवल सुरक्षा का एक बेहतर वातावरण देने के लिए बल्कि विकास और आधुनिक और इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ जोड़ने के लिए एवं आजमगढ़ को लोक कल्याणकारी और विभिन्न योजनाओं के साथ जोड़ने के लिए हम सब आदरणीय प्रधानमंत्री जी का हृदय से आभार व्यक्त करते हैं। उत्तर प्रदेश में 9 एयरपोर्ट पूरी तरह क्रियाशील है और 5 नए एयरपोर्ट का आज प्रधानमंत्री जी द्वारा उद्घाटन किया गया है। आज प्रधानमंत्री जी का सपना कि हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई जहाज से यात्रा करे, पूरा हो गया है। दशकों से मांग थी कि आजमगढ़ का अपना एक विश्वविद्यालय हो और आज से हजार वर्ष से पहले अपने सौर्य और पराक्रम से विदेशी हुकूमतों की और विदेशी आक्रांताओं की चूलो को हिलाने वाले महाराजा सुहेलदेव के नाम पर बने विश्वविद्यालय का भी उद्घाटन मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा किया गया है। आज हर देश वासी नए भारत का दर्शन कर रहा है। आज प्रदेश के अंदर रेल की नई परियोजनाओें के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्गों की भी एक नई सौगात प्रदेशवासियों को प्राप्त हो रही है। उन्होंने होली के पहले हजारों करोड़ों रुपए का उपहार उत्तर प्रदेश वासियों को देने के लिए मा0 प्रधानमंत्री जी का आभार प्रकट किया। प्रदेश में लोक कल्याण की तमाम योजनाओं के माध्यम ये लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। हर गरीब को 5 लाख के स्वास्थ्य बीमा कवर का लाभ दिया जा रहा है। किसान सम्मान निधि के माध्यम से करोड़ों किसान लाभान्वित हो रहे हैं। उज्ज्वला योजना के तहत मिले लाभ से हमारी माताओं-बहनों को अब चूल्हा नहीं फूंकना पड़ रहा है। पीएम आवास योजना के तहत हर गरीब को पक्की छत उपलब्ध कराई गई है। जल जीवन मिशन के तहत घर-घर शुद्ध पेयजल पहुॅचाया जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत दिए गए लाभ से अब माताओं-बहनों को खुले में शौच से निजात मिली है। स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तीकरण योजना के तहत विद्यार्थियों को आधुनिक तकनीक से जोड़ने के लिए टैबलेट व लैपटाप दिए जा रहे हैं। केंद्र व प्रदेश सरकार बिना किसी भेदभाव के लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ हर गॉव, गरीब, किसान, नौजवान एवं समाज के हर तबके तक पहुॅचा रही है। सुरक्षा का बेहतर वातावरण उपलब्ध कराते हुए आस्था का पूरा सम्मानकरते हुए समृद्धि का मार्ग प्रशस्त किया जा रहा है। 

प्रदेश के मा0 गन्ना विकास एवं चीनी मिलें और जनपद प्रभारी मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि कभी-कभी कोई ऐसा क्षण या समय होता है जब उसमें कोई कार्य होता है तो वह सदियों तक याद किया जाता है, कभी कुछ कार्य ऐसे होते हैं जो युगों में याद किए जाते हैं। जिस प्रकार एएमयू की स्थापना के 200 वर्ष बाद भी हमें उसके संस्थापक की याद दिलाती है। राजा महेंद्र प्रताप यूनिवर्सिटी आने वाली सदियों तक आपको याद रहेगी। ऐसे ही अलीगढ़ हवाई अड्डे का लोकार्पण एक ऐसा ऐतिहासिक दिन है जो अलीगढ़ के स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। आज उत्तर प्रदेश में जो विकास कार्य हुए हैं और जो सुरक्षा का माहौल है उससे यहां इंडस्ट्रीज एवं उद्यमियों के लिए नए अवसर खोले हैं। उद्यमियों के लिए अलीगढ़ से अच्छी जगह उत्तर प्रदेश तो क्या पूरे हिंदुस्तान में कहीं नहीं है। दिल्ली-एनसीआर, एयरपोर्ट बेहतर कनेक्टिविटी के साथ यहां बेहतर सुरक्षा मिलती है। 

मा0 बेसिक शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संदीप सिंह ने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में आज देश ने और खास तौर पर उत्तर प्रदेश ने नई उड़ान भरी है। भारत आज दुनिया में सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली इकोनामी है। माननीय प्रधानमंत्री जी और माननीय मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में आज डबल इंजन की सरकार के द्वारा यह संभव हुआ कि आज उत्तर प्रदेश को भारत के ग्रोथ इंजन के रूप में देखा जाता है। आज विकास की बात होती है और अगर उसके मानक कहीं पर बनाए जाने होते हैं तो उसके मानक के रूप में आज उत्तर प्रदेश को आधार बनाया जाता है। विभिन्न विकास की योजनाओं के माध्यम से आज आम व्यक्ति, गरीब एवं नौजवानों के हाथों को मजबूत बनाने का काम किया गया है। हम सब इस बढ़ते हुए भारत के इस बदलते हुए उत्तर प्रदेश के साक्षी बन रहे हैं। 

मा0 राजस्व राज्यमंत्री श्री अनूप प्रधान ने कहा कि पहले अगर कोई हवाई जहाज से लखनऊ जाना चाहता था तो उसे दिल्ली जाना पड़ता था, जिससे समय और पैसा दोनों ही खर्च होता था। अब अलीगढ़ एयर कनेक्टिविटी से जुड़ चुका है आपको लखनऊ की फ्लाइट यहीं से मिल सकेगी। 

लोकापर्ण समारोह में मा0 सांसद श्री सतीश कुमार गौतम, मा0 विधायक छर्रा ठा0 रवेन्द्र पाल सिंह, मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर, मा0 विधायक इगलास श्री राजकुमार सहयोगी, मा0 एमएलसी डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन श्री दुर्गा शंकर मिश्रा, मा0 विधायक बरौली ठा0 जयवीर सिंह, मा0 एमएलसी चौ0 ऋषिपाल सिंह, डा0 तारिक मंसूर, मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती विजय सिंह, महापौर प्रशांत सिंघल, जिलाध्यक्ष कृष्णपाल सिंह लाला, महानगर अध्यक्ष इंजी0 राजीव शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष ठा0 गोपाल सिंह, चौ0 देवराज सिंह, ठा0 श्यौराज सिंह, जिला महामंत्री पं0 शिवनारायण शर्मा समेत अन्य जनप्रतिनिधि, मण्डलायुक्त चैत्रा वी0, आईजी शलभ माथुर, डीएम विशाख जी0, वीसी एडीए अतुल वत्स, नगर आयुक्त अमित आसेरी, एसएसपी संजीव सुमन, सीडीओ आकांक्षा राना, एडीएम सिटी अमित कुमार भट्ट सहित अन्य प्रशासनिक व विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

कार्यक्रम के अंत में डायरेक्टर एयरपोर्ट एसएस अग्रवाल ने सभी अतिथियों, अधिकारियों, पत्रकार बन्धुओं एवं आमजनमानस का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन मनोज राजपूत द्वारा किया गया। 



*

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनान्तर्गत 20 ग्रामीण मार्गों का हुआ लोकार्पण:*


 मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा रविवार 10 मार्च को अलीगढ़ एयरपोर्ट के साथ ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अर्न्तगत 104.57 करोड़ की 158.16 किलोमीटर की 20 सड़कों परियोजनाओं का भी लोकापर्ण किया गया। टी-1 लोधा से एनएच वाया जिरोली, बुलकगढी लंबाई 6.750 मीटर लागत 4.18 रुपए, एपीए रोड से बिजोली दादो रोड वाया ककराली लम्बाई 8.270 लागत 6.53 करोड़, जिरौली से पन्हेरा वाया लोहगढ़ लम्बाई 9.100 लागत 3.82 करोड़, पीटीए मथुरा रोड से सलपुर करनपुर लम्बाई 7.220 लागत 3.29 करोड़, दादो राजमऊ रोड से नगला पुरविया लम्बाई 6.000 लागत 3.78 करोड़, अलीगढ़ रामघाट रोड (रायपुर) दलपतपुर) से जमानपुर लम्बाई 5.765 लागत 4.18 करोड़, अलीगढ़ मथुरा रोड से सासनी रोड वाया परीला लम्बाई 6.500 लागत 4.63 करोड़, अलीगढ़ अनूपशहर रोड से रामघाट रोड वाया वाजिदपुर लम्बाई 9.300 लागत 6.58 करोड़, चण्डौस से किन्हुआ लम्बाई 5.460 लागत 3.84 करोड़,जीटी रोड दौराऊ रोड से वीरपुरा वाया नगला सरुआ लम्बाई 10.040 लागत 7.39 करोड़, पीटीए रोड से फतेहगढ़ी लम्बाई 8.400 लागत 5.76 करोड़, गोरई से जमो खुर्द लम्बाई 5.200 लागत 3.31करोड़, इगलास से गोरई रोड लम्बाई 8.580 लागत 5.89 करोड़, चण्डौस से डाबर रेलवे स्टेशन लम्बाई 5.460 लागत 3.84 करोड, जीटी रोड अलीगढ रोड से लोहारा नगला बारोन लम्बाई 7.000 लागत 4.68 करोड़, नानऊ सांकरा रोड से भोजपुर लम्बाई 5.615 लागत 3.81करोड़, सिहोर रजवाहा पटरी से बरहद लम्बाई 14.622 लागत 8.31करोड़, हाथरस गौण्डा रोड से असरोई लम्बाई 6.000 लागत 3.84, टी02 से पोथी लालपुर बोर्ड वाया मलिकपुर लम्बाई 7.685 लागत 5.41 करोड़, टेटी गॉव रोड से इगलास वाया हरोथा गोरई लम्बाई 15.200 लागत 11.11करोड़ है। 

-----

                                                  

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)