जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

कम सिचाई में अच्छी पैदावार के गेहूं और जौ के बीज हो रहे तैयार, दलहनी फसलों को भी प्राथमिकता

0

 


गजेंद्र कुमार, अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ : अलीगढ़ के क्वार्सी कृषि फार्म शोध केन्द्र में किसानों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिये अच्छी गुणवत्ता के बीज बनाने का शोध हो रहा है। इस साल रबी और दलहनी फसलों के   बीजों को कृषि फार्म के द्वारा तैयार किया जा रहा है। यह बीज कम पानी में अच्छी पैदावार देंगे। मतलब जहाँ पानी की उपलब्धता बेहद कम हैं, वहाँ भी इस किस्म के द्वारा फसल की जा सकेगी।  

               

दलहनी फसलों को सुपीरियर किस्म बनाने की तैयारी

अलीगढ़ में रामघाट रोड पर स्थित क्वार्सी कृषि फार्म हाउस में कृषि मेले से लेकर बीजों के शोध पर कार्यक्रम आयोजित होते है। जिसमें किसानों भी शामिल हो सकते हैं।इस साल दलहनी फसल में चना ,मटर, अलसी, मसूर की फसल पर रिसर्च चल रहा है। इनको भौगोलिक व वातावरण के अनुकूल परिस्थिति के दौरान फसल को परखा जा रहा है। इसके साथ ही किसानों को दलहनी और तिलहनी फसलों के प्रति शोधकर्ताओं से प्रेरित किया जा रहा है, सिंचाई की सुविधा कम होने की वजह से दलहनी फसलों को एक पानी की सिंचाई करके किसान फसल की अच्छी ले सकता है । इस रिसर्च में दलहनी फसल में आने वाली मटर की बौनी प्रजाति तैयार की जा रही है,जिसमें पौधा छोटा और फलियां अधिक होंगी। 

          

कृषि प्रशिक्षक ने दलहनी फसलों को प्राथमिकता देने की दी सलाह

कषि प्रशिक्षक अमर सिंह ने बताया कि क्वार्सी फार्म हाउस के रिसर्च सेंटर पर रबी की फसल जैसे गेेहूं और जौ कि ऐसी प्रजातियों तैयार कर रहे हैं,जिसमें एक सिंचाई में पक कर तैयार हो जाती है। अबकी बार हमने जो की एक ऐसी किस्म तैयार की है, जिसमें दो बालियान निकलती हैं। यहां किसान अक्सर फसल को देखने आते हैं,और रिजल्ट अच्छा देखकर बीज ले कर जाते हैं। इसी के साथ उन्होंने कहा कि किसान दलहनी फसलों को ज्यादा प्राथमिकता दें। जिससे पानी के साथ-साथ बचत भी हो, ऐसा करने से जमीन उपजाऊ होगी और अधिक पैदावार देगी।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)