जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

पुलिस भर्ती परीक्षा के बाद समीक्षा अधिकारी परीक्षा भी हुई निरस्त,परीक्षार्थियों के हित में सरकार का बड़ा फैसला

0

 


अलीगढ़,गजेंद्र कुमार-उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बार फिर से छात्रों व युवाओं के हित में फैसला लिया है, समीक्षा अधिकारी एवं सहायक समीक्षा अधिकारी(RO/ARO) के पेपर लीक होने की वजह से युवा परीक्षा को को रद्द करने की मांग कर रहे थे। जिस पर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक्शन लेते हुए परीक्षा को रद्द कर दिया है,इसके साथ ही इस परीक्षा को भी 6 माह के अंतर्गत करने के आदेश दिए हैं।


यूपी सरकार ने पुलिस भर्ती परीक्षा के बाद युवा आरओ/एआरओ की परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहे थे,जिस पर उत्तर प्रदेश लोकसभा आयुक्त द्वारा परीक्षा को निरस्त कर दिया है। तथा पुलिस भर्ती परीक्षा की तरह ही 6 माह के अंदर करने के निर्देश दिए हैं। दरअसल 11 फरवरी को आयोजित समीक्षा अधिकारी की परीक्षा से एक से डेढ़ घंटे पहले व्हाट्सएप के जरिए पेपर लीक हो गया था, जिसको देख परीक्षार्थी लगातार विरोध कर रहे थे। इसके बाद बड़े पैमाने पर विरोध होने से सीएम योगी ने मामले को संज्ञान में लिया और परीक्षा निरस्त करने की आदेश कर दिया। इसके साथ ही आगामी 6 माह के परीक्षा को दोबारा करने निर्देश दिए हैं। 

आपको बताते चलें 17 और 18 तारीख को हुई यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में भी पेपर लीक के साक्ष्य सामने आए थे। जिसको लेकर भी छात्रों और युवाओं ने प्रदेश भर में जमकर प्रदर्शन और विरोध किया था, युवाओं के भूखे प्यासे रह कर प्रदर्शन करते देखा। तो उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले तो जांच टीम गठित कर साक्ष्य जुटाने के आदेश दिए,जिस पर नाराजगी जताते हुए लगातार परीक्षा को निरस्त करने के विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। जिस पर बड़ा एक्शन लेकर सीएम योगी ने परीक्षा को निरस्त कर छात्रों और युवाओं को राहत दी।


इसके बाद समीक्षा अधिकारी के परीक्षार्थी भी लगातार व्हाट्सएप के जरिए लीक हुए पेपर के साक्ष्य दिखाते हुए पेपर रद्द कराने की मांग कर रहे थे। जिस पर शनिवार को योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखाते हुए परीक्षा को रद्द कर दिया है। और इस प्रकार के आपराधी कृत्य में सम्मिलित व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ वैधानिक/दंडात्मक कार्यवाही करने हेतु यह प्रकरण राज्य की एसटीएफ को संदर्भित करने के भी निर्देश दिए हैं

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)