जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

गांव में नोटिस दिए जाने का विरोध, 21 को एडीए प्रशासन से मुलाकात करेगा किसान मोर्चा

0

 


 *23 मार्च से किसान चलाएंगे लोकतंत्र रक्षा अभियान* 

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़|  लोधा क्षेत्र के अटलपुर में ग्रेटर अलीगढ़ योजना के विरोध में चल रहे धरने के 78 वें दिन किसानों की बैठक संपन्न हुई। बैठक में संयुक्त किसान मोर्चा की स्थानीय कमेटी के सदस्य भी पहुंचें। बैठक के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा की प्रादेशिक कमेटी के सदस्य शशिकांत ने एडीए प्रशासन द्वारा जिरौली डोर गांव के मकानों को अतिक्रमण बताने को जबरन जमीन हथियाने की साज़िश बताया। बिना ग्राम सभा की अनुमति के तुगलकी आदेश जारी करते हुए जिले के सैकड़ों गांवों को एडीए के क्षेत्र में शामिल किया गया है। रविवार को जिरौली डोर में एडीए द्वारा मकानों को सील करने की कार्यवाही किसान विरोधी कार्यवाही का हिस्सा रही, मकानों को ध्वस्त करने के नोटिस जारी किए गए हैं। जिन मकानों को नोटिस भेजे गए हैं वे दशकों पहले बने हैं, और परिवार की दूसरी पीढ़ी रह रही है। 

  क्रांतिकारी किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष नगेन्द्र चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार के इशारे पर एडीए प्रशासन विकास के नाम पर किसानों की जमीनें छीनकर पूंजीपतियों को सौंपने की नीति पर चल रहा है। भाकियू के मुनेश पाल सिंह ने कहा एक ओर एडीए दावा कर रहा है कि किसान की सहमति से जमीन ले रहे हैं, दूसरी ओर हमारी जमीन पर हमारे गांव में हमारे मकानों को अतिक्रमण बताकर खुलेआम सरकारी गुंडागर्दी की जा रही है। बैठक के दौरान निर्णय लिया गया कि 21 मार्च को ग्रेटर अलीगढ़ योजना प्रभावित किसान मोर्चा का ग्यारह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल नवागत एडीए उपाध्यक्ष से मुलाकात कर अपनी मांग रखेगा।


   बैठक के दौरान ही संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर 23 मार्च शहीद भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु के शहादत दिवस से लोकतंत्र रक्षा अभियान चलाने का निर्णय लिया गया। बैठक में क्रांतिकारी किसान यूनियन के जिला महामंत्री नरेंद्र पाल सिंह, प्रभावित किसान मोर्चा कमेटी के कृष्ण कांत सिंह, सर्वेश सिंह, शंकर पाल सिंह, चेतन सिंह, जितेन्द्र पाल सिंह, सूर्य प्रताप सिंह, रविन्द्र पाल सिंह आदि प्रमुख किसान नेता शामिल रहेंगें।


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)