जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

इन नामचीन आयुर्वेदिक कम्पनियों की 31औषधियां एवं दवाओं पर देशभर में लगा प्रतिबन्ध, देखिये..लिस्ट

0

 *23 मार्च से किसान चलाएंगे लोकतंत्र रक्षा अभियान* 

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डा0 नरेन्द्र कुमार ने अवगत कराया है कि प्रदेश में मिलावटी एवं नकली आयुर्वेदिक औषधियों की रोकथाम के लिये औषधि निरीक्षकों एवं क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारियों द्वारा आयुर्वेदिक औषधि फार्मेसियों एवं विकेताओं के निरीक्षण करते हुये सैम्पल एकत्र कर परीक्षण के लिए राजकीय विश्लेषक आयुर्वेदिक एवं यूनानी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला को भेजे गये थे। जिसमें विभिन्न औषधियों के परीक्षणेपरान्त मिलावटी एवं नकली पाईं गयी हैं।


डा0 कुमार ने मिलावटी औषधियों का विस्तृत विवरण देते हुए बताया है कि परीक्षणोपरान्त विश्वास गुड हेल्थ कैप्सूल आयुर्वदा, पेननिल चूर्ण, एज-फिट चूर्ण, अमृत आयुर्वेदिक चूर्ण, स्लीमेक्स चूर्ण,  दर्द मुक्ति चूर्ण, आर्थाेनिल चूर्ण, योगी केयर, माइकान गोल्ड कैप्सूल, डाइबियन्ट शुगर केयर टैबलैट, हाईपावर मूसली कैप्सूल, डाईबियोग केयर, झन्डु लालिमा ब्लड एण्ड स्किन प्यूरिफायर, हेल्थ गुड सीरप, हेपलिव डीएस सीरप, सिस्टोन सीरप, बायना प्लस आयल, वातारिन आयल, लिव-52, न्यू रिविल, बोस्टा एम आर टैबलेट मिलावटी जबकि ज्वाला दाद, रूमो प्रवाही, सुन्दरी कल्प सीरप, त्रयोदशांग गुग्गल, वेदान्तक वटी, एसीन्यूट्रा लिक्विड, आंवला चूर्ण, सुपर सोनिक कैप्सूल, बोस्टा 400 टेबलेट एवं बायना प्लस कैप्सूल नकली पाए गये।


डा0 कुमार ने बताया है कि जन सामान्य स्वास्थ्य के दृष्टिगत लाइसेंस प्राधिकारी एवं निदेशक आयुर्वेद सेवाएं डा0 पी0सी0 सक्सेना द्वारा उक्त मिलावटी एवं नकली औषधियों के सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में उत्पादन, आपूर्ति एवं बिक्री को तत्काल प्रभाव से प्रतिबन्धित कर दिया गया है। डा0 कुमार ने जनपद अलीगढ एवं हाथरस के सभी औषधि विकेताओं एवं औषधि निर्माताओं को निर्देशित किया है कि वह सूचीबद्ध मिलावटी व नकली औषधियों के निर्माण एवं बिकी पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाना सुनिश्चित करें।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)