जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

चित्र प्रदर्शनी में भगवान श्रीराम मंदिर का सेल्फी प्वाइंट करा रहा अयोध्याधाम की अनुभूति

0



सूचना विभाग द्वारा स्थापित चित्र प्रदर्शनी ने दर्शकों का मन मोहा, सभी ने की सराहना

दूसरे दिन प्रदर्शनी देखने के लिए उमड़ा जनसमूह


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ़| सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा स्थापित की गई तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी में दूसरे दिन बड़ी संख्या में खिलाड़ियों एवं जनसामान्य ने अपनी सहभागिता दर्ज कराई। सहायक निदेशक सूचना संदीप कुमार ने दर्शकों को गाइड करते हुए केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों, उपलब्धियों, निर्णय, रोजगारपरक जानकारियों, केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित कीर्तिमानों पर आधारित एवं संचालित योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई। उन्होंने बताया कि तीन दिवसीय चित्र प्रदर्शनी में महिलाओं, किशोरियों को स्वावलंबी बनाए जाने, किसान हित में लिए गए निर्णयों, रोजगार स्थापना, कौशल विकास मिशन, आध्यात्मिक विरासत एवं धरोहरों के बारे में चित्र के माध्यम से समझाया गया है। चित्र प्रदर्शनी में भगवान श्रीराम मंदिर का सेल्फी प्वाइंट सभी के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। जनसामान्य माॅडल के साथ सेल्फी लेकर अयोध्याधाम की अनुभूति कर रहे हैं। 


चित्र प्रदर्शनी में दर्शाया गया है कि चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार करते हुए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ’’आयुष्मान भारत’’ एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना, अंत्योदय कार्ड के साथ ही गरीब कल्याण को समर्पित डबल इंजन की सरकार द्वारा पावर फॉर ऑल के तहत घरों में निःशुल्क बिजली कनेक्शन, उज्जवला योजना के तहत करोडों़ परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए हैं। इसी प्रकार सरकार द्वारा अंत्योदय और पात्र गृहस्थी महिलाओं को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालयों का निर्माण कर पात्रों को लाभान्वित किया गया है। स्वरोजगार से युवाओं को नई उड़ान प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना लागू की गई है, जिसके तहत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम को प्रोत्साहित करने और युवाओं को स्वरोजगार प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का संचालन किया जा रहा है। उद्योग स्थापना के लिए 25 लाख रुपए तक एवं सेवा क्षेत्र में 10 लाख रूपये तक का ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। सुरक्षित गोवंश के लिए प्रदेश के साथ जिले में भी वृहद गौ-संरक्षण केंद्र एवं गौआश्रय स्थल स्थापित किए गए हैं। गोवंश रखने पर प्रति गौवंश लाभार्थी को 1500 रूपये प्रति माह की आर्थिक सहायता दी जा रही है। मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना के अंतर्गत पशुपालकों को गोवंश दिए गए हैं। कन्या सुमंगला योजना में लाभार्थी बालिकाओं को 06 चरणों में 25 हजार रूपये की धनराशि प्रदान की जा रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)