जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

मकान सील करने गई टीम का महिलाओं ने किया विरोध, गाड़ियों में बैठ मौके से भागे एडीए अधिकारी

0




अधिकारियों की धक्का-मुक्की से एक महिला बेहोश, ग्रामीण मलखान सिंह लेकर गए


अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| लोधा क्षेत्र के जिरौली डोर गांव में पहुंचे एडीए अधिकारियों को महिलाओं के विरोध का सामना झेलना पड़ा। आपसी  धक्का -मुक्की में एक महिला के सिर के बल गिर गई। महिला के बेहोश होने से गुस्साए किसानों और महिलाओं ने अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की की, यहां तक कि गुस्से चप्पल -जूते भी उछले। कुछ अधिकारी गाड़ियों में बैठकर किसी तरह गांव से निकल भागे। लेकिन किसानों ने एडीए सचिव दीपा भार्गव को उनकी गाड़ी सहित घेर लिया।


     एडीए टीम  जिरौली डोर में प्रस्तावित क्षेत्र में बने मकानों को सील करने आई थी। अवर अभियंता गंगेश कुमार सिंह के नेतृत्व में एडीए कर्मचारी लोधा थाना पुलिस के साथ करीब 2 बजे गांव में पहुंचे। टीम के आने की सूचना पाते ही गांव के किसान शंकर पाल के मकान पर जुट गए। ग्रेटर अलीगढ़ योजना का विरोध कर रहे किसानों के समझाने पर भी एडीए जबरन सील करने लगे, तो महिलाओं ने विरोध किया। गुस्से में गंगेश कुमार सिंह ने महिलाओं को धक्का दिया। जिससे एक महिला गिरकर बेहोश हो गई। 


   महिला के बेहोश होने पर किसान आक्रोशित हो गए, विरोध में नारेबाजी होने लगी। किसानों ने अधिकारियों को घेर लिया। सूचना पाते ही संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्य प्रादेशिक कमेटी शशिकांत, क्रांतिकारी किसान यूनियन के राज्य कमेटी सदस्य विनोद कुमार सिंह, मंडल प्रभारी सुरेश चन्द्र गांधी, जिला महामंत्री नरेंद्र पाल सिंह,  किसान सभा के राज्य कमेटी सदस्य इदरीश मोहम्मद,भाकियू जिला उपाध्यक्ष मुनेश पाल सिंह, जय किसान आंदोलन के प्रदेश उपाध्यक्ष आत्मप्रकाश सिंह समेत दर्जन भर किसान नेता भी पहुंच गए। किसान नेताओं ने बेहोश महिला को आत्मप्रकाश सिंह जिला मलखान लेकर पहुंचे, जहां उनका इलाज जारी है। मौके पर उपस्थित किसान नेताओं ने समझा-बुझाकर एडीए सचिव दीपा भार्गव को गाड़ी सहित गांव से जाने दिया। 


     घटना के बाद मौके पर किसानों ने आगे की रणनीति पर चर्चा करने के लिए पंचायत की। किसान नेताओं ने एडीए की जबरन जमीन लेने के लिए आंदोलन का नेतृत्व कर रहे नेताओं पर दबाव देने और फंसाने की कार्यवाही विद्वेषपूर्ण कार्यवाही कर रहा है। 20 सालों से घरों में रह रहे किसानों के घरों को बुल्डोजर से ढहाने के नोटिस जारी किए जा रहे हैं। एडीए अधिकारी शासन की आंखों में धूल झोंककर सभी किसानों की सहमति के बिना जबरन ग्रेटर अलीगढ़ बसाना चाहते हैं। अब किसानों ने सोमवार को मंडलायुक्त कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन कर शासन को इस योजना को वापस लेने की मांग की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)