जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

#AMU_news: क्लाइंट परामर्श प्रतियोगिता का समापन, 14 मई को अंतर्राट्रीय सम्मेलन

0

अलीगढ मीडिया न्यूज़, अलीगढ|  अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के विधि संकाय द्वारा आयोजित दो दिवसीय क्लाइंट परामर्श प्रतियोगिता पुरस्कार वितरण के साथ संपन्न हो गई। प्रतियोगिता के अंतिम दौर के निर्णायक मंडल में राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय के कुलपति, प्रोफेसर चन्द्रशेखर, और भारत के सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता रुद्र प्रताप सिंह, तुषार खैरनार और तर्शित भारद्वाज शामिल थे।

प्रोफेसर चन्द्रशेखर ने भारत में स्नातकोत्तर कानूनी शिक्षा परिदृश्य पर चर्चा की और देश की कानूनी शिक्षा में मौलिक योगदान के लिए एएमयू के विधि संकाय की सराहना की।

इससे पूर्व अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रोफेसर एम.जेड.एम. नोमानी, डीन, विधि संकाय ने प्रोफेसर चन्द्रशेखर का परिचय कराया और कम समय में राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय में एलएलएम और पीएचडी कार्यक्रम शुरू करने के उनके प्रयासों के लिए उनकी सराहना की।

प्रोफेसर हशमत अली खान ने दोनों विश्वविद्यालयों के बीच सहयोग विकसित करने की आवश्यकता जताई।

प्रोफेसर नोमानी के साथ प्रोफेसर चन्द्रशेखर ने विजेता टीम जिसमें कृति राठी और अक्सा महक और उपविजेता टीम जिसमें आयुष मुदगल और सैयद फजल उर रहमान नियाजी शामिल थे, को पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्रदान किये।

अधिवक्ता रुद्र सिंह, तुषार खैरनार और तर्शित भारद्वाज ने एएमयू के लॉ पासआउट्स के साथ काम करने के अपने अनुभव साझा किए, जिन्होंने भारत के सर्वोच्च न्यायालय में अपनी इंटर्नशिप पूरी की।

--------------------------

दृष्टिबाधितों के लिए किबो एक्सएस में प्रशिक्षण कार्यक्रम 11 मई को

अलीगढ मीडिया न्यूज़, अलीगढ़ 10 मईः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की मौलाना आजाद लाइब्रेरी द्वारा 11 मई, 2024 को प्रातः 11 बजे दृष्टिबाधित उपयोगकर्ताओं के लिए किबो एक्सएस में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यूनिवर्सिटी लाइब्रेरियन प्रोफेसर निशात फतिमा ने बताया कि किबो एक्सएस डिवाइस एक अभिनव उपकरण है जिसे दृष्टिबाधित छात्रों, शोधार्थियों और शिक्षकों को उनकी शैक्षिक गतिविधियों में पहुंच और सहयोग बढ़ाने के लिए डिजाइन किया गया है।

उन्होंने कहा कि ‘यह उपयोगकर्ताओं को मुद्रित सामग्री तक पहुंचने और समझने में सक्षम बनाने के लिए उन्नत ऑप्टिकल कैरेक्टर रिकग्निशन (ओसीआर) तकनीक, टेक्स्ट-टू-स्पीच क्षमताओं और स्पर्श इंटरफेस का उपयोग करता है, जिससे सीखने और अनुसंधान को अधिक सुलभ और आकर्षक बनाया जा सकता है।‘

उन्होंने कहा कि मौलाना आजाद लाइब्रेरी दिव्यांगें को सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। किबो एक्सएस सबसे अच्छे समाधानों में से एक है जो विभिन्न वैश्विक भाषाओं में सामग्री को सुनने, अनुवाद करने, डिजिटाइज करने और ऑडियोटाइज करने में मदद करता है। यह कार्यक्रम इसके लाभों को बेहतर ढंग से समझने और किबो एक्सएस डिवाइस तक प्रभावी ढंग से पहुंचने और उपयोग करने में मदद करेगा।

डिप्टी लाइब्रेरियन डॉ. आसिफ फरीद सिद्दीकी ने कहा कि मौलाना आजाद लाइब्रेरी ने दृष्टिबाधित उपयोगकर्ताओं को लाइब्रेरी संसाधनों तक पहुंचने में सहायता करने के लिए विशेष सुविधाएं प्रदान की हैं।

------------------------

एएमयू छात्र को ओयूपी के प्रीटेस्टिंग रिसर्च पार्टनर के रूप में फिर से शामिल किया गया

अलीगढ़ 10 मईरू अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग में एमए के छात्र नवेद आलम को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस (ओयूपी) के ईएलटी प्रीटेस्टिंग डिवीजन द्वारा ‘प्रीटेस्टिंग रिसर्च पार्टनर‘ के रूप में इसके उत्पादों में सुधार के लिए इसमें शामिल होने और इसमें योगदान देने के लिए फिर से आमंत्रित किया गया है।

----------------------

अंग्रेजी विभाग में 14 मई को अंतर्राट्रीय सम्मेलन का आयोजन

अलीगढ मीडिया न्यूज़, अलीगढ़, 10 मईः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग द्वारा आईसीएसएसआर के सहयोग से 14-16 मई को हाइब्रिड मोड में ‘अंतःविषय संदर्भों में उपयुक्त शिक्षण पद्धतियांः समाजशास्त्रीय विविधता का मानचित्रण‘ विषय पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। सम्मेलन में भारत और विदेश से विभिन्न विषयों से जुड़े प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं।

उद्घाटन सत्र 14 मई को प्रातः 9ः30 बजे कॉन्फ्रेंस हॉल, सामाजिक विज्ञान संकाय में आयोजित किया होगा।

कार्यक्रम में पेंसिल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के एडविन एर्ले स्पार्क्स प्रोफेसर, प्रोफेसर सुरेश कैनगाराजा मुख्य भाषण देंगे। प्रोफेसर इम्तियाज हसनैन, प्रोफेसर शोभा सत्यनाथ, दिल्ली विश्वविद्यालय, प्रोफेसर क्रिस एनसन, प्रोफेसर एम.ई. वेद शरण, और प्रोफेसर अविनाश कुमार सिंह, व्याख्यान देंगे।

प्रोफेसर धनंजय सिंह, सदस्य सचिव, आईसीएसएसआर, नई दिल्ली, मानद अतिथि के रूप में और तौसीफुर रहमान, निदेशक, स्टेपिंग क्लाउड कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड बेहतर कक्षा शिक्षण के लिए उचित शिक्षण पद्धतियों को अपनाने की आवश्यकता पर अपने विचार साझा करेगा।

अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष और आयोजन सचिव प्रोफेसर मोहम्मद आसिम सिद्दीकी ने बताया है कि विभिन्न सामाजिक संदर्भों में भाषा के उपयोग की व्यापक समझ प्रदान करने के लिए मानवविज्ञान, मनोविज्ञान और शिक्षा आदि जैसे अन्य क्षेत्रों के साथ समाजभाषाविज्ञान का मिश्रण, अध्ययन करने का एक शानदार तरीका है।

सम्मेलन संयोजक, अंग्रेजी विभाग के प्रोफेसर राशिद नेहाल ने कहा कि विविध समाजभाषाई पृष्ठभूमि के शिक्षार्थियों की जरूरतों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता ।

इस बीच, विभागाध्यक्ष प्रोफेसर मोहम्मद आसिम सिद्दीकी द्वारा अंग्रेजी विभाग के शोध छात्रों के साथ एक प्री-कॉन्फ्रेंस बैठक आयोजित की गई। प्रो. राशिद नेहाल ने छात्रों को सम्मेलन के बारे में जानकारी दी और उन्हें सम्मेलन के विभिन्न सत्रों में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

बैठक में प्रो. जावेद एस. अहमद, डा. मोहम्मद साजिदुल इस्लाम और डॉ. किश्वर जफीर भी उपस्थित थीं।


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)