जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

एक से 31 जुलाई तक जिले में चलाया जाएगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान

0


11  से 31 जुलाई  तक चलाया जायेगा दस्तक अभियान

संचारी रोगों पर हो सीधा वार, नगर व ग्राम पंचायतों में चलाया जाए संचारी अभियान

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान का माइक्रो प्लान सभी विभाग 27 जून तक दे दें

संबंधित विभागीय अधिकारी गण अभियान को सफल बनाने के संबंध में अपनी कार्ययोजना के अंतर्गत करें कार्य


अलीगढ़ मीडिया डिजिटल, अलीगढ : यूपी सरकार जनसामान्य को मच्छर जनित बीमारियों से सुरक्षित बनाने के उद््देश्य से विभिन्न स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित कर रही है। इसी क्रम में जिलाधिकारी विशाख जी0 की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में स्वास्थ्य विभाग व अन्य विभाग के अधिकारियों के साथ संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान और संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण एवं कार्यवाही के संबंध में आहुत बैठक में संबंधित को आवश्यक निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी ने कहा 1 जुलाई से 31 जुलाई 2024 तक जिले में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान संचालित होने जा रहा है। संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत 11 से 31 जुलाई 2024 तक दस्तक अभियान चलाया जाएगा जिसमें आशा घर घर जाकर दस्तक देंगे और संचारी रोगों के प्रति जागरूक करेंगी, इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम को पूर्ण रूप से सफल बनाने एवं गांव-गांव, शहर-शहर के मौहल्लों में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित करते हुए मच्छर जनित बीमारियों से नागरिकों को सुरक्षित बनाने के उद््देश्य से स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ गहन मंथन करते हुए  इस कार्यक्रम को सफल बनाने के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से जिन विभागों को जोड़ा गया है सभी संबंधित विभागीय अधिकारीगण अपनी-अपनी कार्ययोजना 27 जून 2024 तक जिला मलेरिया अधिकारी कार्यालय में जमा कर दें और कार्ययोजना के अंतर्गत कार्य करें और अभियान को सफल बनाएं। डीएम ने खाद्य एवं औषधि विभाग को निर्देशित किया कि खाद्य एवं पेय पदार्थों की गुणवत्ता सुनिश्चित कराएं और अधोमानक खाद्य पदार्थों की रोकथाम के लिए अभियान चलाया जाए। 

जिलाधिकारी ने आईसीडीएस विभाग को निर्देशित किया की कुपोषित बच्चों की पहचान एवं उपचार के लिए कार्यवाही की जाए। आशा एवं एएनएम कार्यकत्रियों के सहयोग से अपने क्षेत्र में संवेदीकरण हो। स्टाफ डायरिया कैंपेन के अंतर्गत अतिरिक्त गतिविधि भी की जाएं। स्वच्छता के प्रति स्कूलों में बच्चों को जागरूक किया जाए। 01 जुलाई को सभी सरकारी कार्यालय में स्वच्छता की शपथ दिलाई जाए। जिलाधिकारी ने फूड सेफ्टी एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन विभाग को निर्देशित किया कि खाद्य एवं पेय पदार्थ की गुणवत्ता सुनिश्चित करने और अधोमानक खाद्य पदार्थ विशेष कर खुले पदार्थ जैसे- बेकार सड़े हुए फल, सब्जी इत्यादि पर अभियान चलाया जाए जिससे कि इनकी बिक्री को रोका जा सके। उन्होंने असुरक्षित तरीके से तैयार किया जा रहे ताजा फलों एवं गन्ने के जूस पर भी नियंत्रण करने के निर्देश दिए।

       विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान में स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, कृषि विभाग, सिंचाई विभाग, दिव्यांगजन विभाग के अधिकारियों को इस कार्यक्रम से मुख्य रूप से जोड़ा गया है। सभी अधिकारीगण संचालित होने वाले अभियान में अपने-अपने विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हुए जनपद वासियों को मच्छर जनित बीमारियों से सुरक्षित बनाने की विशेष कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि  नगर पालिका, नगर पंचायत एवं ग्राम पंचायत विभाग के द्वारा इस दौरान विशेष स्वच्छता अभियान संचालित करते हुए गली-गली एवं मौहल्लों में नालियों की विशेष सफाई पर फोकस किया जाए और जल भराव पर अंकुश लगाते हुए निरंतर स्तर पर फागिंग एवं एंटी लारवा का छिड़काव ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सुनिश्चित किया जाए।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में आशा एवं एएनएम की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका है, विभागीय अधिकारियों के द्वारा इस कार्यक्रम से इन्हें सक्रियता के साथ जोड़ते हुए विशेष अभियान को सफल बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। पंचायती राज विभाग के अधिकारी गण पूरे जनपद में स्वच्छता का विशेष प्लान तैयार करते हुए उसे अंतिम रूप प्रदान किया जाए ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित किया जा सके। वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर इसके संबंध में प्रचार प्रसार करने की दिशा में भी अधिकारियों के द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएं ताकि सभी ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता पर विशेष फोकस हो सके और सभी ग्रामीण वासियों को मच्छर जनित बीमारियों से सुरक्षित बनाया जा सके इस कार्यक्रम को सफल बनाए जाने के लिए सभी विभागों की सक्रियता जरूरी है। मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 नीरज कुमार त्यागी द्वारा बैठक का संचालन किया गया।

बैठक में सीडीओ आकांक्षा राना, सीएमओ, पीडी डीआरडीए, डीडीओ, डीसी एनआरएलएम, डीआईओएस, बीएसए, डीपीओ, डीपीआरओ, डीएसओ, डीएसडब्लूओ, डीएओ, एडीएफ, एएलसी, समस्त बीडीओ एवं एडीओ पंचायत उपस्थित रहे। 

-----

                                                                            

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)