जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

हादसा या साजिश? एडीजी आगरा की अगुवाई में गठित कमेटी करेगी जांच; CM योगी का बड़ा एक्शन

0

 

अलीगढ मीडिया डिजिटल, हाथरस/अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस के हादसे पर कहा, 'इस पूरी घटना की तह तक जाने के लिए शासन स्तर पर हमने कल भी व्यवस्था बनाई थी लेकिन हमारी प्राथमिकता राहत-बचाव कार्य थी। इस हादसे में 121 श्रद्धालुओं की मृत्यु हुई जो उत्तर प्रदेश के साथ-साथ हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश से जुड़े हुए थे।' सीएम ने कहा, 'इस कार्यक्रम में जो सज्जन अपना उपदेश देने आए थे उनकी कथा संपन्न होने के बाद, उनके मंच से उतरने के पर, उन्हें छूने के लिए महिलाओं का एक दल आगे बढ़ा तभी उनके पीछे एक भीड़ गई। इसी दौरान वे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ते गए। सेवादार भी लोगों को धक्का देते रहे जिसके कारण यह हादसा हुआ। इस पूरी घटनाक्रम के लिए ADG आगरा की अध्यक्षता में एक SIT गठित की गई है जिसने प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी है। कई पहलू हैं जिनपर जांच होना आवश्यक है।


साकार हरि बाबा: 23 वर्ष पहले आगरा में गिरफ्तार हो चुके हैं भोले बाबा, साथ में पकड़े गए थे छह और साथी
उत्तर प्रदेश के आगरा से साकार हरि बाबा को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। वर्ष 2000 में भोले बाबा आगरा में गिरफ्तार किए गए थे। चमत्कारी उपचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। 224/2000 मुकदमा संख्या है। मामले में भोले बाबा सहित सात लोग गिरफ्तार किए गए थे। हालांकि उस समय साक्ष्यों के अभाव में कोर्ट से बरी हो गए थे। दिसंबर 2000 में इस केस में एफआर लग चुकी है।

NCW प्रमुख बोलीं- जल्द गिरफ्तार हो साकार हरि बाबा
यूपी के हाथरस में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां फुलराई गांव में साकार हरि बाबा का सत्संग चल रहा था।। सत्संग समाप्त होने के बाद यहां से जैसे भी भीड़ निकलना शुरू हुई तो भगदड़ मच गई। कार्यक्रम में शामिल होने आए 121 लोगों की इस हादसे में मौत हो गई। हाथरस हादसे पर राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा कि नारायण हरि साकार जो भी हो। उसने एक गैरकानूनी गतिविधि की है। मुझे लगता है कि उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। तत्काल ही गिरफ्तार किया जाना चाहिए। साथ ही पता लगाया जाए कि आखिर ये सब किसके कहने पर हो रहा था। इसके पीछे की क्या योजना थी।

'कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं', अखिलेश के आरोपों पर सीएम योगी का पलटवार
उत्तर प्रदेश के हाथरस जनपद के थाना सिकंदराराऊ क्षेत्र के गांव रतीभानपुर में आयोजित भोले बाबा के सत्संग में अचानक भगदड़ मच गई। भगदड़ में अब तक 121 लोगों की मौत हुई है। मृतकों में कई महिलाएं और बच्चें भी शामिल हैं। बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस की दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में घायल हुए लोगों से बागला संयुक्त चिकित्सालय में भेंट कर उनका कुशल-क्षेम जाना। चिकित्सकों से उनके उपचार के संबंध में जानकारी प्राप्त की।मुख्यमंत्री ने कुशल चिकित्सकों के नेतृत्व में सभी का समुचित उपचार शीर्ष प्राथमिकता पर किए जाने के निर्देश भी दिए। सीएम ने कहा कि हादसे में 16 जिले के लोग शिकार हुए हैं। एक एसआइटी गठित की है। बहुत सारे पहलुओं की जांच होगी। सीएम ने कहा, कि दोषियों को सजा मिलेगी। घटना की न्यायिक जांच होगी। एसआईटी इ पूरे मामले की जांच कर रही है। सीएम योगी ने अखिलेश यादव के बयान पर जवाब भी दिया, कि कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं।

हाथरस हादसे में दोषी लोगों के विरुद्ध की जाए सख्त कार्रवाई- तारिक गांधी
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रदेश सचिव एवं सर सैयद विचार मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष तारिक गांधी के फिरदौस नगर स्थित कैंप कार्यालय पर एक शोक सभा हुई। शोक सभा में हाथरस जनपद के सिकंदराराउ की तहसील के गांव फूलरई में एक धार्मिक आयोजन के दौरान मची भगदड़ से हुए हादसे में 100 से अधिक हुई मौतें और लगभग 200 से अधिक हुए घायल लोगों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की तथा मृतक आत्माओं को शांति और घायलों को स्वास्थ्य लाभ के लिए ईश्वर अल्लाह से प्रार्थना की । कांग्रेस नेता तारिक गांधी ने कहा कि यह हादसा बहुत ही दुखद और हृदय विदारक है । मैं इस हादसे से बहुत दुखी हूं । पूरा देश आहत है । यह हादसा पूर्ण रूप से शासन प्रशासन और सरकार की लापरवाही का प्रमाण है। इस हादसे की उच्च स्तरीय जांच करके दोषी लोगों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए । छोटे से गांव में इतने बड़े आयोजन की अनुमति देना ही हादसे को न्योता देने के समान है । मृतक परिवारों को उचित आर्थिक सहायता दिलाई जाए । घायलों के इलाज के लिए समुचित व्यवस्था की जाए।इस शोक सभा में इंजीनियर फिरोज खान, प्रोफेसर लियाकत अली राव, अब्दुल लतीफ खान, इम्तियाज़ खान, निसार अहमद, अंजार साबरी, अहमर अली, मोहम्मद नदीम, नीरज दास, मोहम्मद अर्सलान, सरदार हरविंदर सिंह आदि उपस्थित रहे।


योगी सरकार यूपी के अलावा अन्य राज्यों से आए श्रद्धालुओं को भी देगी मुआवजा
हाथरस। मंगलवार को हाथरस में हुए हादसे में मारे गए श्रद्धालुओं में उत्तर प्रदेश के साथ-साथ 3 अन्य राज्यों के श्रद्धालु भी शामिल हैं। इनमें मध्य प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के श्रद्धालु शामिल हैं। वहीं, प्रदेश के अंदर 17 जनपदों के श्रद्धालुओं की भी मृत्यु हुई है। इन सभी मृतकों के परिजनों को योगी सरकार सहायता राशि प्रदान करेगी।


एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)