"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

छात्रावास, क्लासरूम, लाइब्रेरी, शौचालय, किचिन परिसर का मंत्री जी ने किया निरीक्षण ...पढ़िए, क्या मिला?




अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, न्यूज़ डेस्क|  अलीगढ़ 13 मई 2022 (सू0वि0) मा0 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) समाज कल्याण, अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण श्री असीम अरूण द्वारा मा0 कोल विधायक श्री अनिल पाराशर के साथ मुकुन्दपुर स्थित डा0 भीमराव अम्बेडकर आईएएस-पीसीएस परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मा0 मंत्री जी द्वारा छात्रावास, क्लासरूम, लाइब्रेरी, शौचालय, किचिन समेत सम्पूर्ण परिसर का गहनता से मुआयना किया गया। उप निदेशक समाज कल्याण संदीप सिंह ने बताया कि सम्पूर्ण परिसर दो ब्लॉक में बंटा हुआ है, जिसमें पूर्व में 100-100 बालक एवं बालिकाओं के लिये अलग-अलग छात्रावास संचालित किये जाते थे। परन्तु वर्तमान में एक ही ब्लॉक केवल बालकों के लिये संचालित है। अब तक प्रशिक्षण केन्द्र में 90 छात्रों द्वारा पंजीकरण कराया गया है और वर्तमान में 52 छात्र इस आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र में अध्ययनरत हैं। उन्होंने बताया कि प्रत्येक छात्र को एक-एक बेड मच्छरदानी समेत, टेबिल, कुर्सी उपलब्ध कराई गयी है। लाइब्रेरी में उच्च गुणवत्ता एवं विभिन्न पाठ्यक्रमों की लगभग 1100 पुस्तकें उपलब्ध हैं। प्रशिक्षण केन्द्र पर विभिन्न विषयों के लिये 28 अध्यापकों की सेवाएं ली जा रहीं हैं।


          मा0 मंत्री जी ने इस दौरान अध्यापन कार्य करा रहे रिडायर्ड मण्डल कार्मिक अधिकारी नॉर्दन रेलवे आर0एस0 कौशिक से वार्ता कर उनके पाठ्यक्रम के विषय में जानकारी प्राप्त की। प्रशिक्षक द्वारा बताया गया कि वह पीसीएस की तैयारी के लिए इतिहास के मराठा और मुगलकाल विषय पर प्रशिक्षित कर रहे हैं। मा0 मंत्री जी ने सीधे छात्रों से सम्बोधित होते हुए कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा शिक्षा के हाइब्रिड मॉडल (ऑनलाइन ़ ऑफलाइन) को विकसित करने पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने छात्रों को आश्वस्त किया कि अभ्युदय योजना की भांति उन्हें भी टैबलेट व स्मार्टफोन से लाभान्वित किया जाएगा। उन्होंने छात्रों से खुले मन से अपने सुझाव एवं समस्याएं सामने रखने के लिये बोला तो छात्रों द्वारा सुझाव दिया गया कि तैयारी के आकलन के लिए नियमित टैस्ट एवं परीक्षाएं आयोजित की जाएं। जिस पर उन्होंने केन्द्र संचालक से इस विषय में छात्रों की तैयारी के अनुसार परीक्षाएं एवं टैस्ट लिये जाने के निर्देश दिये। छात्रों द्वारा विद्युत कटौती के सम्बन्ध में भी मा0 मंत्री जी को अवगत कराया गया, तदक्रम में मडराक फीडर से वार्ता कर समस्या के निस्तारण के निर्देश दिये गये।


 


प्रशिक्षण केन्द्र पर की गयी विभागीय मण्डलीय समीक्षा:


 


          मा0 मंत्री श्री असीम अरूण जी द्वारा प्रशिक्षण केन्द्र पर ही मण्डल भर के जिला समाज कल्याण अधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षा बैठक आहुत की गयी। उन्होंने निर्देश दिया कि प्रदेश सरकार जनकल्याणकारी योजनाओं मंे जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है, ऐसे में लाभार्थियों के वैरीफिकेशन में अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए पात्रों का ही चयन किया जाए। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में अधिकारी अपात्रों का चयन कर बचते रहे हैं, परन्तु अब प्रत्येक स्तर पर जवाबदेही तय करते हुए समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को लाभान्वित कराने के लिये प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है। उन्होंने समीक्षा के दौरान हाथरस में राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना में 600 अपात्रों का चयन होने पर विभागीय जांच एवं कार्यवाही से अवगत कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि वृद्धावस्था पेंशन से अभी भी बहुत से पात्र लाभार्थी वंचित हैं, वृद्धाश्रमों में निवासरत बुजुर्गो एवं वृद्धों की पात्रता की जांच कराते हुए उनको वृद्धावस्था पेंशन से लाभान्वित कराया जाए। बैठक में दशमोत्तर छात्रवृति योजना में किये गये प्राविधान के अनुसार बायोमेट्रिक के आधार पर 75 प्रतिशत उपस्थिति वाले छात्र-छात्राओं का ही ऑनलाइन पंजीकरण किये जाने में आ रही बाधाओं को दूर कराते हुए योजना का क्रियान्वयन पूर्ण पारदर्शिता से कराने के निर्देश दिये गये। सामूहिक शादी विवाह अनुदान योजना में कराई जाने वाली शादियों के शत-प्रतिशत मैरिज रजिस्ट्रार के माध्यम से पंजीकरण कराए जाने के निर्देश दिये गये ताकि योजना में पारदर्शिता बनी रहे। राजकीय छात्रावास के की समीक्षा में पाया गया कि अलीगढ़ में तीन, एटा में चार राजकीय छात्रावास संचालित हैं जबकि जनपद हाथरस एवं कासगंज में अभी तक छात्रावास नहीं है। इस पर उन्होंने दोनों जनपदों में छात्रावास के लिये भूमि चिन्हांकन करने के निर्देश दिये। उ0प्र0 अनुसूचित जाति एवं वित्त विकास निगम की समीक्षा के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी विकास संध्या रानी बघेल ने बताया कि पं0 दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना में 489 आवेदनों के लिये 390.61 लाख रूपये का ऋण स्वीकृत कराते हुए जनपद प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा। एटा के 35 एवं हाथरस के 53 आवेदन स्वीकृत किये जाने पर उन्होंने कड़ी नाराजगी प्रकट की जबकि कासगंज में 110 आवेदन स्वीकृत किये गये। इसके साथ ही टेलरिंग शॉप योजना, दुकान निर्माण, अत्याचार उत्पीड़न सहायता योजना समेत अन्य योजनाओं की बिन्दुवार समीक्षा की गयी।


          बैठक में मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर, संयुक्त निदेशक समाज कल्याण आर0के0 सिंह, उप निदेशक समाज कल्याण संदीप सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी अलीगढ़ सूरज कुमारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी शिव कुमार, रश्मि यादव, अधीक्षक मनोज कुमार, अधिशाशी अभियंता सिडको आर0के0 निरंजन समेत अन्य विभागीय अधिकारी व कार्मिक उपस्थित रहे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.