"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

अक्षय तृतीया, परशुराम जयन्ती एवं ईद पर अलीगढ वासियों को दीं बधाई एवं शुभकामनाये



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ 02 मई 2022(सू0वि0) जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने अक्षय तृतीया, परशुराम जयन्ती एवं ईद पर जनपदवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। अपने बधाई संदेश में डीएम ने कहा है कि भारतीय संस्कृति में अक्षय तृतीया को अत्यन्त पुण्यदायी तिथि माना गया है। भगवान विष्णु सारी सृष्टि के संरक्षक हैं। इसलिए अक्षय तृतीया की तिथि को भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त है। श्रद्धालुओं द्वारा इस तिथि को भगवान विष्णु के लक्ष्मीनारायण रूप का विशेष रूप से पूजन किया जाता है।


          अक्षय तृतीया की तिथि सभी शुभ एवं मांगलिक कार्यों के लिए उत्तम मानी जाती है। इसी तिथि को भगवान परशुराम की जयन्ती भी मनायी जाती है। समाज में धर्म एवं न्याय की स्थापना में महर्षि परशुराम का अतुलनीय योगदान है। उन्होंने कहा कि धर्म और न्याय के मार्ग का अनुसरण करके ही लोक कल्याण एवं लोक मंगल का संकल्प पूरा किया जा सकता है। उन्होंने लोगों से कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत सभी सावधानियां बरतते हुए आपसी भाईचारे एवं सौहार्दपूर्ण माहौल में मिल-जुलकर अक्षय तृतीया, परशुराम जयन्ती एवं ईद का त्योहार मनाए जाने की अपील की है।



बाल विवाह जैसी कुपृथा को समाप्त करने में बनें सहयोगी: डीएम, सेल्वा जे.

अलीगढ़ 02 मई 2022(सू0वि0) जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने बताया कि समाज के कुछ लोगों द्वारा लड़के और लड़की का विवाह निर्धारित आयु क्रमशः 23 वर्ष एवं 21 वर्ष के पूर्व ही कर दिया जाता है। प्रायः इस प्रकार के विवाह अक्षय तृतीया के अवसर पर होते हैं, जबकि इस सम्बन्ध में बाल-विवाह प्रतिषेध अधिनियम-2006 के अन्तर्गत बाल-विवाह होने 02 वर्ष की सजा अथवा 100000 रूपये का जुर्माना अथवा दोनों का प्राविधान है। इस वर्ष अक्षय तृतिया दिनांक 03 मई 2022 को है।


        ज़िला अधिकारी ने सभ्यजनों से अपील किया है कि बाल-विवाह को हतोत्साहित करें एवं बाल-विवाह की किसी भी घटना के सम्बन्ध में सूचना जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय, अलीगढ़, 181, महिला हेल्प लाईन एवं अपने नजदीकी थाने पर दें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.