"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

अलीगढ| एएमयू शोधार्थियों ने अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत किया पेपर



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पीएचडी स्कालर इंजामुल सरकार (भाषा विज्ञान विभाग) और मुहम्मद सैफ (राजनीति विज्ञान विभाग) ने किंग्स कॉलेज, लंदन (लंदन विश्वविद्यालय, यूके) द्वारा आयोजित ‘दक्षिण एशिया में परिवर्तन और स्थिरताः पहचान, सुरक्षा और प्रौद्योगिकी समीक्षा’ सम्मेलन में ऑनलाइन शोध पत्र प्रस्तुत किया।


सम्मेलन का आयोजन सिंगापुर के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के दक्षिण एशियाई अध्ययन विभाग के सहयोग से हाइब्रिड तरीके से किया गया था। एएमयू शोधकर्ताओं के शोध प्रबंध का शीर्षक ‘दिल्ली के मुसलमानों की सांकेतिक पहचानः सामाजिक पृथक्करण, राजनीतिक वक्तव्य और उर्दू’ था, जिसके लिए उन्होंने जामिया नगर, निजामुद्दीन बस्ती का संदर्भ प्रस्तुत किया और पुरानी दिल्ली में विशिष्ट मुस्लिम आबादी वाले बस्तियों का दौरा किया, और उन्होंने यह जानकारी स्थानीय लोगों से बातचीत के जरिए जुटाई।


दोनों शोधार्थियों ने अपने शोध पत्र में मुसलमानों की विशिष्ट धार्मिक पहचान और उर्दू बोली के संबंध में समाज में पाई जाने वाली मान्यताओं पर चर्चा की। जो दिल्ली के शहरी आख्यान में मुसलमानों की स्थिति का निर्धारण करने में एक महत्वपूर्ण है। इसमें शहर के भीतर और बाहर मुसलमानों के आवास, समाज और संचार के मामले में उनके हाशिए पर जाने की एक जटिल तस्वीर पेश करता है। दोनों शोधार्थियों ने अपने सुपरवाइजर भाषा विज्ञान विभाग में प्रोफेसर एवं डीन, कला संकाय प्रोफेसर एस इम्तियाज हसनैन और प्रो इफ्तिखार अहमद (राजनीति विज्ञान विभाग) को उनके मार्गदर्शन और सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.