#ALIGARH Breaking| हरे-फलदार पेड़ो को कटाने से मना किया तो पीटवा दिया किसान का बेटा, 24 घंटो बाद भी नहीं लिखी रिपोट, प्रधानपति के खौफ से परिवार पलायन को मजबूर

0

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| देश भर में लोग पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षारोपण करने और उन्हें सहेजने पर जोर दे रहे है वहीं उत्तर प्रदेश के अलीगढ जिले में ग्राम प्रधानपति अपनी गुंडई और वर्चस्व दिखने के लिए हरे-भरे फलदार वृक्षों को कटवा रहा है| पेड़ काटने की इस क्रूर हरकत का किसान के बेटे ने विरोध करते हुए वीडियो मोबाईल में कैद करना शुरू किया तो पेड़ कटाने वालो ने उसे पकड़कर  बेरहमी से पीट डाला| जिसमे किसान का बेटा घायल हो गया| पीड़ित ने मामले की शिकायत बन विभाग और पुलिस थाने में की लेकिन शिकायत के 24 घंटो बाद भी मामला दर्ज नहीं हो सका है| वही शिकायत वापस नहीं लेने पर प्रधानपति पूरे परिवार को अपने भट्टे में जिन्दा झोंकने की धमकी दे रहा है| प्रधानपति के खौफ से पीड़ित परिवार अब गांव से पलायन करने की तैयारी कर रहा है|


   जानकारी के मुताविक अलीगढ जनपद के हरदुआगंज थाना इलाके के उखलाना ग्राम पंचायत के माजरा सफ़ेदपुरा में मनरेगा से चकमार्गो पर मिटटी डालने का काम ग्राम पंचायत द्वारा कराया जा रहा है| शुक्रवार (२४ जून) को  इस कार्य में किसान प्रेमदेव सिंह के खेत पर चकमार्ग के किनारे नीम, बेल पत्थर और शहसूद के हरे-भरे पेड़ है| जिन्हे मनरेगा मजदूरों से कटवाया जा रहा था| खेत और चकमार्ग की मेड पर खड़े इन हरे-पेड़ो को कटता देख किसान का बेटा गजेंद्र ने इन्हे कटाने से मना किया और इसकी सूचना अपने भावी श्री मति चंचल वर्मा को दी जो उस ग्राम पंचायत वार्ड से पंचायत सदस्य है| उनके कहने पर गजेंद्र ने हरे-पेड़ काट रहे मजदूरों का वीडियो मोबाईल में कैद करना शुरू कर दिया तो मनरेगा मेठ ने प्रधानपति धर्मेंद्रसिंह चौहान के कहने पर मजदूरों से गजेंद्र की बेरहमी से पिटाई करावा दी| किसान के बेटे को मनरेगा मेठ के भाई ने लाठी-डंडो फावड़े और कुल्हाड़ी की बटो से जमकर पीटा और उसका मोबाईल तोड़ दिया| किसी तरह जान बचाकर भागे किसान के बेटे ने हरदुआगंज थाने में लिखित शिकायत दी| लेकिन पिटाई से घायल दर्द से कराह रहे किसान के बेटे गजेंद्र की शिकायत लेकर पुलिस ने अपने पास रख ली| आखिरकार पीड़ित ने एसएसपी कार्यालय आकर अपनी शिकायत दी| तब जाकर देर शाम पुलिस ने पीड़ित का मेडिकल कराया| पीड़ित गजेंद्र कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधानपति धर्मेद्र सिंह चौहान ने धमकी दी है कि अगर उसने शिकायत वापस नहीं ली तो उसको फर्जी मुकदमे में फसाकर पूरे परिवार को जिन्दा अपने भट्टे में झुकवा देगा| पीड़ित गजेंद्र का कहना है कि प्रधानपति की दबंगई और रुतवे के सामने कोई ग्रामीण भी उनकी मदद नहीं कर रहा है| ग्राम प्रधान पति धर्मेंद्र सिंह उन्हें कभी भी नुक़सान पंहुचा सकता है इसलिए अगर पुलिस उनकी कोई मदद नहीं करती है तो वह वह इस गांव से पूरे परिवार के साथ पलायन करने की तैयारी कर रहा है, हालाँकि उन्हें पुलिस से इंसाफ मिलने का भरोसा है|

  


मामले में पुलिस का कहना है कि पीड़ित की शिकायत मिली है उसकी जाँच की जा रही है घायल का शाम को मेडिकल करा दिया गया है कुछ गंभीर चोटों की जाँच के लिए घायल का शनिवार को एक्सरे करने के लिए भेजा जाएगा| परिवार के पलायन करने की तैयारी की जानकारी नहीं है| 

..आरोपी का फोटो और वीडियो आया सामने 
पीड़ित गजेंद्र सिंह के मुताविक जिस युवक ने उनके साथ मारपीट की और दूससे मनरेगा मजदूरों को मारपीट के लिए उकसाया वह युवक हल्के हरे रंग की टीशर्ट पहने हुए है, उसकी बहिन खुद को मनरेगा कार्य का मेठ बताती है| उस युवक के साथ कई अन्य बच्चे भी थे जो मनरेगा मजदूर नहीं थे लेकिन फिर भी हाथो में कुल्हाड़ी और फावड़े लिए हुए थे, जिसने वीडियो अब सामने आ रहे है|

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top