"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

अलीगढ में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान का विधायक ने किया शुभारंभ



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़, 01 जुलाई 2022। विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के अंतर्गत जनपद में शुक्रवार को मलखान सिंह जिला चिकित्सालय में संचारी रोग अभियान को सफल बनाने के लिए श्रीमती मुक्ता राजा जी व माननीय विधायक शहर, एवं पूर्व विधायक श्री संजीव राजा जी व सीएमओ डॉ. नीरज त्यागी, राज्य स्तर के नोडल अधिकारी डॉ. बीपी सिंह कल्याणी एवं जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. राहुल कुलश्रेष्ठ ने रैली का फीता काटकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। शुभारंभ के अवसर पर डेंगू व मलेरिया से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया गया। रैली का समापन प्रिंसिपल कुलदीप शर्मा ने किया। इस मौके पर नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमके माथुर एवं सीएमएस डॉ. रेनू शर्मा, डॉ. ईश्वरी देवी बत्रा शामिल रहे। 


सीएमओ डॉ नीरज त्यागी ने कहा कि यह अभियान 01 जुलाई से 30 जुलाई तक चलेगा। अभियान के अंतर्गत आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा गांवों में घर-घर भ्रमण कर प्रत्येक घर का विवरण जुटाया जायेगा और यदि कहीं भी संचारी रोग के रोगी पाए जाते हैं, तो उनका तत्काल इलाज कराया जायेगा। 


जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. राहुल कुलश्रेष्ठ ने बताया कि अभियान में आशाएं घर-घर जाकर लोगों के उनकी सेहत का हाल पूछेंगी। उन्होंने कहा साथ ही वह मच्छरों से बचाव के बारे में भी लोगों को जागरुक करेंगी। बुखार आने पर क्या करें इस बारे में भी बताएंगी। जिस घर में लोग बीमार होंगे वहां पर मरीजों को चिन्हित कर विभाग को सूचना देंगी।


------

कार्यक्रम का उद्देश्य - 


डीएमओ ने बताया कि शासन के निर्देश पर विशेष संचारी रोग नियंत्रण की शुरुआत की गई। जिसका उद्देश्य क्षेत्र के लोगों को गर्मी के मौसम में होने वाले बीमारियों तथा संक्रमण रोगों व मच्छरों के प्रकोप से सुरक्षा की जानकारी देते हुए जागरूक करना साथ ही उन्हें इन बीमारियों से बचाना है। उन्होंने बताया कि गर्मी के मौसम की शुरुआत होते ही विभिन्न तरह के बीमारियों का खतरा बढ़ने लगता है, जिसकी चपेट में बच्चे, बूढ़े और जवान सभी आने शुरू हो जाते हैं। गर्मी के मौसम में न सिर्फ बीमारियों का प्रकोप शुरू होता है, बल्कि मच्छरों से होने वाली बीमारियों का खतरा भी एक बड़ी समस्या का कारण होता है। जिसको लेकर शासन के द्वारा बड़े स्तर पर सुरक्षा व जागरूकता के कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाता है। 


जिला कार्यक्रम समन्वयक सतेन्द्र कुमार ने रैली के अवसर पर लोगों और कोयले वाली गली स्थित बेसिक प्राइमरी स्कूल के छात्र व छात्राओं को टीबी के बारे में जागरूक किया और उन्होंने कहा कि टीबी एक संक्रामक बीमारी है और अगर 14 दिन से अधिक खांसी होती है, भूख न लगना, तेजी से वजन कम होना, शाम के समय बुखार अथवा पसीना आना या किसी टीबी रोगी के संपर्क में रहना, तो वह टीबी के लक्षण हैं। तो तुरंत नजदीक के सरकारी अस्पताल में  टीबी की जांच कराएं । उन्होंने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों में टीबी की निःशुल्क जांच और उपचार उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि अगर सभी लोग जागरूक हो जाएंगे तो प्रधानमंत्री द्वारा डिए गए वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त भारत को हम जरूर प्राप्त कर लेंगे।


रैली के अवसर पर सहायक मलेरिया अधिकारी राजेश कुमार, पशु चिकित्सा अधिकारी संदीप मिश्रा, प्रिंसिपल कुलदीप शर्मा, यूनीसेफ के डीएमसी शादाब, व इमरान, मलेरिया निरिक्षक मोनू व उमा एवं जिला कार्यक्रम समन्वयक सतेन्द्र कुमार एवं सीसीपीएम राम अवतार व अन्य कम्रचारी मौजूद रहे।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.