"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

अलीगढ़| डीएम ने जल जीवन मिशन के तहत की ’’हर घर नल-हर घर जल’’ योजना की समीक्षा


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़| जिला अधिकारी इंद्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में ’’जल जीवन मिशन’’ के अंतर्गत ’’हर घर नल-हर घर जल योजना’’ की जल निगम एवं कार्यदायी संस्था के साथ बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा कि हर घर नल-हर घर जल केंद्र एवं प्रदेश सरकार की जनहित में महत्वाकांक्षी एवं शीर्ष प्राथमिकता की योजना है, इस योजना के धरातल पर क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कार्यदायी संस्था आयन एक्सचेंज द्वारा कार्य योजना प्रस्तुत न करने पर जमकर फटकार लगाते हुए कार्यशैली में सुधार लाने के निर्देश दिए।


      जल जीवन मिशन के तहत भूजल आधारित पाइप पेयजल योजना की समीक्षा करते हुए डीएम ने परियोजना के तहत कराए जा रहे कार्याे में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि शासन के नवीन निर्देशों के बाद सभी राजस्व ग्रामों में हर घर नल-हर घर जल योजना के अंतर्गत पेयजल पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि योजना को गति प्रदान करने के लिए मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन द्वारा समीक्षा की जा रही है। किसी तरह की लापरवाही क्षम्य न होगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिदिन 600 घरों को जल संयोजन का कार्य किया जाना है, जबकि वर्तमान में जनपद में प्रतिदिन बमुश्किल 100 घरों को ही संयोजन दिया जा रहा है। ऐसे में प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य होता दिखाई नहीं दे रहा है, जिस पर जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने कड़ी फटकार लगाते हुए कार्यदाई संस्था आयन एक्सचेंज के अधिकारियों अभियंताओं को निर्देशित किया कि वह इस संबंध में अपनी कार्ययोजना प्रस्तुत करें अन्यथा की दशा में उन्हें कठोरतम कार्रवाई करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।


         उन्होंने निर्धारित समय में अपेक्षित कार्य न करने पर कार्यदायी संस्था एवं अधिशासी अभियंता को खूब खरी-खोटी सुनाते हुए कार्य मेें सुधार लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि सरकार द्वारा प्रतिदिन 600 जल संयोजन का लक्ष्य दिया गया है। कार्यदायी संस्था आयन एक्सचेंज के पास प्रतिदिन 600 जल संयोजन दिए जाने के लिए कोई कार्ययोजना भी नहीं है, ऐसे में स्पष्ट प्रतीत होता है कि शासन द्वारा आवंटित लक्ष्य निर्धारित समय में पूरा न हो सकेगा। जिलाधिकारी ने कार्यदाई संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर को निर्देशित किया कि वह 22 जुलाई की प्रातः कार योजना प्रस्तुत करें।


       अधिशासी अभियंता जल निगम मौहम्मद इमरान ने बताया कि 2024 तक सभी ग्रामों में 435429 जलापूर्ति संयोजन देने के लिये दो एजेसिंयों आयन एक्सचेंज एवं पीएनसी द्वारा कार्य किया जा रहा है। परियोजना के तीसरे चरण में 317 ग्रामों में भूमि मिल गयी है। 92 राजस्व ग्रामों की डीपीआर तैयार हो गयी है। वर्तमान में दूसरे चरण के लिए 105 ग्रामों में तेजी के साथ कार्य प्रगति पर है। इस अवसर पर सीडीओ अंकित खण्डेलवाल, कार्यदायी संस्था पीएनसी से गौरव शर्मा एवं आयन एक्सचेंज परियोजना अधिकारी आकाश गोयल, उपस्थित रहे। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.