"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय निर्माण स्थल का प्रशासनिक अधिकारियों ने किया निरीक्षण



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ 27जुलाई(सूवि)| जिला अधिकारी श्री इंद्र विक्रम सिंह ने माननीय विधायक कोल श्री अनिल पाराशर, मंडल आयुक्त अलीगढ़ श्री गौरव दयाल, राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज विश्वविद्यालय के उपकुलपति श्री चन्द्र शेखर के साथ राज्य विश्विद्यालय के गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध निर्माण एवं परिसर से जलभराव की समस्या को खत्म करने के संबंध में स्थलीय निरीक्षण किया। इस अवसर पर कार्यदायी संस्था के इंजीनियर एवं तकनीकी सलाहकार और लोक निर्माण व जल निगम के मुख्य अभियंता भी उपस्थित रहे।


    डीएम ने मंडलायुक्त अलीगढ़ की अध्यक्षता में निर्माण स्थल पर आहूत बैठक में कार्यदायी संस्था के सलाहकार एवं इंजीनियर के साथ भवन मानचित्र को बड़ी ही बारीकी एवं गहनता से समझा। तकनीकी सलाहकारों द्वारा बताया गया कि राज्य विश्वविद्यालय निर्माण स्थल कटोरे की शक्ल में है। ऐसे में जल निकासी को सही स्वरूप देने के लिए विभिन्न बिंदुओं पर विचार करना जरूरी होगा। तकनीकी विषय विशेषज्ञों द्वारा एकमत से राय दी गई कि निर्माण स्थल के साथ आसपास के क्षेत्र की कंटूर मैपिंग करा ली जाए। इससे जानकारी प्राप्त हो सकेगी कि क्या विश्वविद्यालय परिसर के पानी के अलावा बाहरी क्षेत्र का पानी भी परिसर में प्रवेश कर रहा है या करेगा? यदि हां तो ऐसे में बाउंड्री वॉल के किनारे किनारे जल निकासी के लिए बड़ा नाला, नाली का निर्माण कर वर्षा जल भराव को खत्म किया जा सकता है। तकनीकी विषय विशेषज्ञों द्वारा बताया गया कि रेन वाटर हार्वेस्टिंग पिट पर्यावरण की दृष्टि से जल संरक्षण के लिए सहायक हो सकते हैं। परंतु जल निकासी के लिए पूरी तरह से उस पर निर्भर नहीं रहा जा सकता। उसकी अपनी अलग तरह की तकनीकी समस्याएं हैं जो कुछ समय बाद देखने को मिलती हैं। हम रूफ टॉप वाटर हार्वेस्टिंग कर सकते हैं, शेष वर्षा जल को साधारण जल निकासी ही देनी होगी। साइट निरीक्षण के दौरान लोनिवि एवं जल निगम के विषय विशेषज्ञों ने यह भी सुझाव दिए कि परिसर के भूमि के प्राकृतिक स्तर पर किसी प्रकार की छेड़छाड़ करना भवन निर्माण एवं जल निकासी के लिए उचित नहीं होगा। 


मंडलायुक्त ने कार्य संस्था के तकनीकी सलाहकार को 2 दिनों में कंटूर मैपिंग कर प्रत्येक दृष्टिकोण से विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग ने सिद्दीकी, मुख्य अभियंता जल निगम आगरा परिक्षेत्र एसके कंसल, अधीक्षण अभियंता सिविल जल निगम डीपी सिंह, अधीक्षण अभियंता इलेक्ट्रिकल एवं मैकेनिकल राजीव कुमार, अधिशासी अभियंता जल निगम पंकज रंजन, उप जिलाधिकारी कोल संजीव ओझा समेत अन्य अधिकारी एवं कार्यदायी संस्था के तकनीकी सहायक भी उपस्थित रहे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.