कृषि मंत्री ने 6.40 करोड़ से निर्मित लोधा में बीज विधायन संयंत्र का फीता काटकर किया लोकार्पण

0

 




अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़|  प्रदेश के मा0 कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा अपने जनपद भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत 6.40 करोड़ रूपये की लागत के राजकीय कृषि प्रक्षेत्र लोधा परिसर बीज विधायन संयंत्र का फीता काटकर लोकार्पण किया गया। मा0 मंत्री जी ने लोकार्पण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि मा0 प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जी द्वारा सदैव ही किसान हित को सर्वोपरि रखते हुए जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है। आज प्रदेश में कोई ऐसा गरीब या किसान नहीं है जो केन्द्र एवं प्रदेश सरकार की लाभार्थीपरक किसी न किसी योजना से अछूता रहा हो।


             

  मा0 मंत्री श्री शाही ने बताया कि इस बीज विधायन संयत्र की स्थापना राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के सहयोग से आगरा परियोजना के अन्तर्गत की गयी है और यह आगरा परियोजना का चौथा बीज विधायन संयंत्र है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र से मण्डल भर के बीज उत्पादक किसान लाभान्वित होंगे। यहां 20 हजार कुन्तल भण्डारण क्षमता के गोदाम स्थापित कराए गये हैं। जबकि इसकी वार्षिक विधायन क्षमता 40 हजार कुन्तल की है। किसानों की सुविधा के लिए संयंत्र पर ही ’’कृषक बीज विक्रय केन्द्र’’ की व्यवस्था की गयी है जिससे किसानों को उन्नतशील प्रजातियों का बीज सुगमता से मिल सकेगा। उन्होंने किसानों से आव्हान किया कि रासायनिक खादों का कम से कम प्रयोग करते हुए गौ आधारित खेती करें। गौवंश का खेती के कामों में उपयोग करें।


 


कृषि विज्ञान केन्द्र छेरत में जनपदस्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी का हुआ आयोजन:

मा0 कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही ने कृषि विज्ञान केन्द्र छेरत में आयोजित जनपदस्तरीय खरीफ उत्पादकता एवं प्राकृतिक खेती विषयक गोष्ठी में आये प्रगतिशील किसानों से सीधा सवाल किया कि क्या आपको याद है कि कभी तीन-तीन मंत्री एवं इतनी बड़ी संख्या में विधायकगण व एमएलसी आपके समक्ष इस तरह दूर-दराज के क्षेत्र में उपस्थित हुए हों। यह मा0 मोदी और मा0 योगी जी के नेतृत्व में बदली हुई संस्कृति का परिणाम है कि सरकार आपके द्वार पर खुद चलकर आई है। उन्होंने एक रोचक आंकड़ा प्रस्तुत करते हुए बताया कि वर्ष 1952 से उत्तर प्रदेश में कोई भी कृषि मंत्री दोबार चुनाव नहीं जीता लेकिन आप सभी किसान भाईयों के आशीर्वाद से उन्हें एक बार पुनः किसानों की सेवा का अवसर मिला है। उन्होंने मिट्टी की उर्वरा शक्ति एवं ऑर्गेनिक मैटेरियल की ओर किसानों का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि मिट्टी की जांच के लिए मा0 मोदी जी ने प्रदेश के 9.65 लाख किसानों 300 करोड़ रूपये व्यय कर मृदा परीक्षण कार्ड दिये गये थे। उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि इतनी बड़ी संख्या में कार्ड उपलब्ध कराने के बावजूद किसानों द्वारा उसका उपयोग नहीं किया जा रहा है। अपना उत्पादन बढ़ाने के लिये समय-समय पर मिट्टी की जांच अवश्य कराएं। मा0 कृषि मंत्री ने बताया कि पहले जहां डीएपी-यूरिया के लिए किसानों को लाठी खानी पड़ती थी योगी जी के नेतृत्व में डीएपी एवं यूरिया के मूल्य को स्थिर रखते हुए पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराई गयी है। फसलों की एमएसपी में लगातार बढ़ोत्तरी करते हुए किसानों की आय को बढ़ाने का कार्य किया गया है। किसानों को उनकी फसल का 72 घण्टे में भुगतान किया जा रहा है।


                मा0 राज्यमंत्री विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी श्री अजीत पाल सिंह ने किसानों से आव्हान किया कि वह कृषि वैज्ञानिकों द्वारा दिये गये सुझावों का उपयोग करते हुए खेती में तकनीक व प्रोद्योगिकी को अपनाएं और अपनी उपज में वृद्धि करें। उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता है कि हम एक ही समय में एक ही खेत से कई फसलें लें और यह सभी खेती में तकनीक के उपयोग से ही सम्भव है।


                इससे पूर्व मा0 मंत्रीगण ने कृषि विज्ञान केन्द्र के मुख्य द्वार एवं चाहरदीवारी का फीता काटकर लोकार्पण किया। तत्पश्चात मा0 मंत्रीगण कृषि विज्ञान केन्द्र में उगाए गये उन्नत प्रजाति के धान की फसल एवं आंवला के बाग का अवलोकन कर आवश्यक जानकारी प्राप्त की। उन्होंने 07 कमरे वाले कृषक छात्रावास को देखकर उसके समुचित संचालन एवं देख-रेख के निर्देश दिये। मा0 मंत्रीगण द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर में हरिशंकरी (पीपल, बरगद, पाकड़) भी रोपित की गयी। गोष्ठी में उन्नतशील किसान एवं एफपीओ संचालक 12 किसान- राजेन्द्र प्रसाद पचौरी, संतोष कुमार सिंह, अजयपाल सिंह, महेश चन्द्र शर्मा, सुरेन्द्र सिंह, ध्यान पाल सिंह, हीरा सिंह, राजवीर सिंह, देवराज सिंह, तेजवीर सिंह, राजकुमार एवं ओमप्रकाश को प्रशसित पत्र देकर सम्मानित किया गया। किसानों ने अपने विचारों एवं प्रदेश सरकार द्वारा प्रदत्त लाभ से मा0 मंत्रीगणों को भी अवगत कराया।

                कार्यक्रम में मा0 राज्यमंत्री संसदीय कार्य एवं औद्योगिक विकास श्री जसवंत सैनी, चन्द्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति डा0 डी0आर0 सिंह, मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर, मा0 विधायक छर्रा ठा0 रवेन्द्रपाल सिंह, मा0 विधायक इगलास राजकुमार सहयोगी, एमएलसी चौ0 ऋषिपाल सिंह, डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह, बृज प्रान्त उपाध्यक्ष ठा0 श्यौराज सिंह, ठा0 गोपाल सिंह, उपेन्द्र सिंह ’’नीटू’’, जिला महामंत्री शिव नारायण शर्मा, डा0 गोपाल माहेश्वरी, कृषि वैज्ञानिक डा0 सुधीर सारस्वत, डा0 ए0के0 सिंह, डा0 के0डी0 दीक्षित, डा0 अशरफ अली खान समेत उप निदेशक कृषि यशराज सिंह व अन्य विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। 


 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top