"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

कुपोषण से बचाव, मानसिक दिव्यांगता और रतौंधी को रोकने में कारगर है ‘विटामिन ए’, बच्चौं को पिलवायें


शहर विधायक व सीएमओ ने दो-दो बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाकर यूपीएचसी बन्नादेवी पर कार्यक्रम का किया शुभारंभ


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़, 03 अगस्त 2022। बाल स्वास्थ्य पोषण माह के तहत जिले में बच्चों को सुपोषित रखने के लिए बुधवार को ‘विटामिन ए’ संपूर्ण कार्यक्रम की शुरुआत यूपीएचसी बन्नादेवी अस्पताल से हुई। शहर विधायक मुक्ता राजा जी व सीएमओ डॉ. नीरज त्यागी ने दो-दो बच्चों को 'विटामिन ए' की खुराक पिलाकर अभियान का शुभारंभ किया। यह अभियान यह अभियान एक माह तक चलेगा।


इसी दौरान  शहर विधायक मुक्ता राजा जी व पूर्व विधायक संजीव राजा जी ने अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए शहर विधायक मुक्ता राजा जी ने कहा - कि नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक देना बहुत जरूरी है। उन्होंने सभी लोगों व परिवारजनों से अपील की है कि बच्चों को ज्यादा से ज्यादा अभियान के अंतर्गत विटामिन ए की खुराक अवश्य पिलाएं।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीरज त्यागी ने बताया कि 'विटामिन ए' बच्चों के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि 'विटामिन ए' ऐसे बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता पैदा होती है, इसके साथ ही कुपोषण से बचाव होता है। यह मानसिक दिव्यांगता  और रतौंधी को रोकने में भी कारागार है। 


सीएमओ ने बताया कि नौ माह से पांच वर्ष तक के 4.61 लाख बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जानी है। जिसमें बच्चों का टीकाकरण के साथ-साथ 'विटामिन ए' की अतिरिक्त खुराक पिलाने का अभियान शुरू किया जा चुका है। अभियान के दौरान बच्चों को आयरन फोलिक एसिड की सिरप का वितरण भी दिया गया। साथ ही यह अभियान बुधवार एवं शनिवार को ग्रामीण और शहरी स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस पर चलेगा। स्वास्थ्य केंद्रों के टीकाकरण कक्ष में भी विटामिन ए की निःशुल्क खुराक पिलाई जाएगी।


जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके माथुर ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार नौ माह से लेकर पांच वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जानी है। इसके लिए 4.61 लाख बच्चों को चिह्नित किया गया है। अभियान के दौरान बुधवार से शुरू होकर एक माह तक चलाया जाएगा। इसके लिए आशा व आंगनबाड़ी वर्कर को भी प्रशिक्षित किया जा चुका है। 

उप जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि बच्चों को 'विटामिन ए' की नौ खुराक देने का प्रावधान है 9 से 12 माह के बच्चों को एमआर प्रथम टीके के साथ आधा चम्मच डी विटामिन ए, 16 से 24 माह तक बच्चों को एमआर दूसरे डीजे के साथ पूरा चम्मच व दो से पांच वर्ष तक के बच्चों को छह माह के अंतराल में पूरा चम्मच विटामिन ए की खुराक दी जाएगी।


यूपीएचसी बन्नादेवी अस्पताल की प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. हेरा सिराज ने बताया कि बाल स्वास्थ्य पोषण माह अभियान के अंतर्गत कार्यक्रम का आयोजन अस्पताल में बन्ना देवी के फील्ड में कराया गया। जिसमें नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को 'विटामिन ए' की खुराक पिलाई गई और बच्चों के परिवार जनों को आयरन फोलिक एसिड एवं स्तनपान के लाभों के बारे में जानकारी दी गई। 


इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. नीरज त्यागी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एमके माथुर, प्रशासनिक अधिकारी रोहित सक्सेना, डिप्टी डीआईओ शरद गुप्ता व प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. हिरा सिराज, जिला कार्यक्रम प्रबंधक एमपी सिंह, जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक कमलेश चौरसिया एवं सीसीपीएम राम अवतार, फार्मासिस्ट मुनीश कुमार और पीएचसी का सभी स्टाफ मौजूद रहा।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.