प्रदेश सरकार प्राकृृतिक खेती को हब के रूप में बनाने के लिए प्रयासरत: कृषि मंत्री

0

*मा0 कृषि मंत्री ने सर्किट हाउस में की प्रेस वार्ता*

पीएम मोदी और सीएम योगी किसानों की खुशहाली और समृृद्धि के लिए हैं प्रतिबद्ध

*ड्रोन तकनीक से कृषि क्षेत्र का होगा कायाकल्प*


अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ 03 सितम्बर 2022(सू0वि0)।  पीएम मोदी और सीएम योगी के कुशल नेतृत्व में किसानों की खुशहाली और समृृद्धि के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। विगत वर्षाें से किसान कल्याण निधि के रूप में अभियान चलाकर किसानों की कठिनाइयों को दूर किया गया है। कृृषि विभाग भी केन्द्र और प्रदेश सरकार से मिलने वाली योजनाओं से किसानों को लाभान्वित करा रहा है। ड्रोन तकनीक से कृषि क्षेत्र का कायाकल्प करने की तैयारी कर ली गयी है। ड्रोन के माध्यम से अब किसान भाई अपनी फसलों और बागानों में स्प्रे से लेकर अन्य क्षेत्रों में इसका लाभ उठा रहे हैं। नवीन तकनीक के प्रयोग से पेस्टीसाइड्स और उर्वरक की लागत कम होगी वहीं इसके मानव स्वास्थ्य पर न्यूनतम असर पडे़ेगा। 

प्रदेश के मा0 मंत्री कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान विभाग श्री सूर्य प्रताप शाही जी शनिवार को सर्किट हाउस सभागार में प्रेस प्रतिनिधियों से वार्ता कर रहे थे। प्रेस कांफ्रेंस में मा0 मंत्री जी ने कहा कि मा0 मंत्री जी ने बताया कि जनपद अलीगढ में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 375138 कृषकों को 11 वीं किश्त के रूप में 674 करोड़ की धनराशि से किसानों को लाभान्वित किया गया है। जनपद में 370404 किसानों के सापेक्ष 244158 किसानों ने केवाईसी करायी है जिस पर मंत्री जी ने कहा कि शेष बचे किसान शीघ्र केवाईसी से आधार से सत्यापन करा लें अन्यथा उनकी 12वीं किश्त का भुगतान नहीं हो पायेगा। मा0 मंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार प्राकृृतिक खेती को हब के रूप में बनाने के लिए प्रयासरत है। सभी किसान रासायनिक कीटनाशकों को छोडकर गौ आधारित प्राकृृतिक खेती करना शुरू करें। हम बुंदेलखण्ड में भी प्राकृृतिक खेती को प्रोत्साहित कर रहे हैं। सरकार द्वारा किसानों को कुसुम योजना के अन्तर्गत सोलर पंप भी दिए जा रहे हैं, जिससे किसानों को सिंचाई में असुविधा न हो। इसके अतिरिक्त प्रदेश सरकार किसानों के लिए 2100 नलकूप भी लगवा रही है, जिसके लिए सरकार 841 करोड 98 लाख रूपये खर्च करेगी। नमामि गंगे योजना के द्वारा भी किसानों को लाभान्वित किया जाएगा। एफपीओ के माध्यम से किसानों को सही कीमत मिल सके, इसके लिए कृृषि विभाग की तरफ से शक्ति पोर्टल लांच किया गया है, जिसमें किसानों से संबधित सारी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध है।

इसके अतिरिक्त मंत्री जी ने जनपद में चल रही अन्य योजनाओं की प्रगति क बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उर्वरक वितरण 29845 मीट्रिक टन लक्ष्य के सापेक्ष 31299 मी0 टन का वितरण कराया गया है। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण बीमा योजना के अन्तर्गत 121 दावे स्वीकृत करते हुये पात्रों को लाभान्वित किया गया है। निर्विवादित विरासत अभियान के अन्तर्गत कुल 4492 आवेदनों में आदेश पारित किये गये है, खतौनी वितरण की जा चुकी है। मैप डिजिटाईजेशन कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद के 1331 ग्रामों में से 46 ग्राम के नक्शे अनुपलब्ध एवं जीर्ण-शीर्ण की दशा में छोड़कर शेष 1185 ग्रामों को खतौनी से लिंक करते हुये मैप डिजिटाईजेशन कार्यक्रम पूर्ण किया जा चुका है। स्वामित्व योजनान्तर्गत जनपद में 1083 ग्रामों में ड्रोन सर्वे की कार्यवाही पूर्ण की जा चुकी है। 220 ग्रामों में 30540 घरौनियां तैयार हो गयी है, जिनमें से 25562 घरौनियों का वितरण किया जा चुका है। मानव सम्पदा पोर्टल पर जनपद के भूलेख अनुभाग से सम्बन्धित समस्त 281 कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर फीड किया जा चुका है। दैवीय आपदा के अन्तर्गत विभिन्न आपदाओं से प्रभावित कुल 16 व्यक्तियों को 1386600 रूपये की धनराशि वितरित की गयी है। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत लक्ष्य 2810 व्यक्तिगत शौचालय निर्माण के सापेक्ष 2810 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कराया गया है। स्वच्छ भारत मिशन फेज-2 के अन्तर्गत 167 ग्रामों का चयन ओडीएफ प्लस के लिए किया गया है। 96 नये पंचायत भवनों का निर्माण किया गया। 236 पंचायत भवनों में सचिवालय संचालित कराये गये। कैच द रैन योजनान्तर्गत बरसात के पानी के लिये वाटर रिचार्ज हेतु शासकीय, अर्द्वशासकीय भवनों में 517 रैन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण कराया गया। मनरेगा योजनान्तर्गत 10.01 लाख मानव दिवस लक्ष्य के सापेक्ष 13.72 लाख मानव दिवस सृजित किये जा चुके है, जो कि लक्ष्य का 136.96 प्रतिशत है। अमृत सरोवर योजनान्तर्गत 146 लक्ष्य के सापेक्ष 174 अमृत सरोवर का कार्य प्रगति पर है। उ0प्र0 ग्रामीण आजिविका मिशन के अन्तर्गत 63 समूह गठन के सापेक्ष 634 समूह गठन किये गये है। ग्राम संगठन के 240 लक्ष्य के सापेक्ष 201 ग्राम संगठन का गठन किया गया है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनान्तर्गत लक्ष्य 6839 के सापेक्ष 6475 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। जननी सुरक्षा योजनान्तर्गत लक्ष्य 9095 के सापेक्ष 5620 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 323293 आयुष्मान कार्ड बनाये गये। 57774 आयुष्मान कार्ड धारकों का उक्त योजनान्तर्गत उपचार किया गया है। कोविड वेक्सीनेशन की बूस्टर की 424319 वेक्सीन डोज लगायी गयी है। तालाबों के पट्टे योजनान्तर्गत 12 हैक्टेयर लक्ष्य के सापेक्ष 13.03 हैक्टेयर आवंटन कर पूर्ति की गयी है। मत्स्य बीज आपूर्ति के प्राप्त लक्ष्य रू0 12.48 लाख के सापेक्ष रू0 29.16 लाख की पूर्ति की गयी है। मृदा परीक्षण योजनान्तर्गत लक्ष्य 50 के सापेक्ष 50 का मृदा परीक्षण किया गया है। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 175 जोडों के लक्ष्य के सापेक्ष 253 जोडों का सामूहिक विवाह सम्पन्न कराया गया। अब तक प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) 18360 आवास पूर्ण है, जिनमें 20935 लाभार्थियों को प्रथम किश्त, 18987 लाभार्थियों को द्वितीय किश्त तथा 13566 लाभार्थियों को तृतीय किश्त जारी कर, कार्य प्रगति पर है। पीएम स्वनिधि योजना (प्रथम चरण) में 22686 लाभार्थियों को ऋण वितरण किया गया है। स्कूल चलो अभियान के अन्तर्गत विद्यालयों में नवीन नामांकन के 54500 लक्ष्य  के सापेक्ष 51089 की पूर्ति की जा चुकी है। आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत 19 मूलभूत अवस्थापना सुविधाओं के अन्तर्गत 2115 परिषदीय विद्यालयों के लक्ष्य के सापेक्ष 1717 विद्यालयों में कार्य पूर्ण किया जा चुका है। 50 हैक्टेयर भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराकर 01 लाख पौधों का रोपण कराया गया तथा अन्यविभाग द्वारा वृक्षारोपण कार्यक्रम के अन्तर्गत 3962500 पौधों का रोपण किया गया। मा0 मुख्यमंत्री लघु सिंचाई योजनान्तर्गत उथले नलकूप हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में 51.54 लाख रूपये का आवंटन हुआ है। 540 उथले नलकूपों का चयन कर 540 नलकूपों की पूर्ति की जा चुकी है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनान्तर्गत ड्रिप, स्प्रिंकलर सिंचाई स्थापना के लिए 154 हैक्टेयर लक्ष्य के सापेक्ष 154 हैक्टेयर की पूर्ति की गयी। निराश्रित गौवंश संरक्षण योजनान्तर्गत 31104 गौवंशों को संरक्षित कर लिया गया है। मा0 मंत्री जी ने प्रेस वार्ता के दौरान किसान हित में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रदेश स्तरीय आंकड़े भी प्रस्तुत किये।  

इस अवसर पर राज्य महिला आयोग सदस्य रामसखी कठेरिया, एमएलसी चौ0 ऋषिपाल सिंह, एमएलसी डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह, मा0 विधायक छर्रा ठा0 रवेन्द्र पाल सिंह, मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर, बृज प्रान्त उपाध्यक्ष ठा0 श्योराज सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष ठा0 गोपाल सिंह, जिला महामंत्री शिव नारायण शर्मा, सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप वर्मा सहित अन्य अधिकारीगण व जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

-----------

                                                             

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)
...अपने इलाके की खबरों/वीडियो/फोटो अलीगढ मीडिया पर प्रकाशन हेतु व्हाट्सअप या ई-मेल करें:aligarhnews@gmail.com

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top