"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

पत्नी को दूसरे युवक के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख पति ने उठाया ख़ौफनाक कदम, पढ़िये... पूरी क्राइम कहानी


 

 सात माह की गर्भवती पत्नी की हत्या कर पति पहुंचा थाने

गांव कोंडरा की वारदात, अवैध संबंधों के शक में दिया वारदात को अंजाम


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, हरदुआगंज/अलीगढ : थाना क्षेत्र के गांव कोंडरा में अवैध संबंध के शक में सात माह की गर्भवती पत्नी की हत्या कर पति थाने पहुंच गया। थाने में हत्या गुनाह कबूलने पर स्थानीय पुलिस व आला-अफसर घटना स्थल की ओर दौड़े। जहां घर के कमरे से महिला का शव कब्जे में लिया। हत्या की खबर पर गांव में सनसनी मरी रही। पुलिस हत्यारे पति से पूछताछ में जुटी है।

अलीगढ़ के थाना क्वार्सी के जाटव बगीची किशनपुर निवासी तिलक सिंह की बेटी शीतल का विवाह पांच साल पहले हरदुआगंज थाना क्षेत्र के गांव निधौला निवासी शेखर पुत्र प्रेमपाल के साथ हुआ था। शेखर एक साल पहले तालानगरी के निकटवर्ती गांव कोंडरा में बाहरी छोर पर मकान बनाकर यहां रह रहा था। जहां करीब तीन माह गांव कोंडरा के युवक से अवैध संबंधों होने के शक में शेखर व शीतल के मध्य घरेलू कलह पैदा हो गई थी, पंद्रह दिन पूर्व शेखर शीतल के साथ मारपीट कर घर से चला गया था। शुक्रवार को दोपहर बाद शेखर ने थाने पहुंचकर पुलिस को बताया कि मैंने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। हत्या का गुनाह कबूलने पर पुलिस महकमे में हडक़ंप मच गया। एसएचओ बृजपाल सिंह ने पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंच घर के कमरे का ताला तुड़वाकर देखा, शीतल का शव चारपाई पर पड़ा था। दुपटटे से चारपाई की पाटी से गर्दन बांधकर निर्ममता से गला घोंटकर मौत घाट उतारा गया था। सिर पर शरीर पर भी चोट के निशान थे। खबर पाकर एसपी देहात मुकेश चंद्र उत्तम, सीओ विशाल चौधरी ने पहुंचकर फोरेंसिक टीम की मदद से साक्ष्य संकलित कराकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। शेखर ने कोडरा गांव के जिस युवक पर शीतल से अवैध सबंध रखने का आरोप लगाया, पुलिस उसे भी हिरासत में लेकर जांच में जुटी है।




..पिता बोला, मांग पूरी न होने पर निर्दोष बेटी को मारा

शीतल के पिता तिलक सिंह का आरोप है कि शराब पीने का आदी शेखर कोई काम धंधा नहीं करता था, और मारपीट मायके से रुपये लाने की कहता था। मजबूरीवश शीतल खुद तालानगरी में मजदूरी करने लगी तो उसके चरित्र पर शक करते हुए प्रताडऩा देने लगा तो शीतल ने मजदूरी करना भी छोड़ दिया। इसके बाद भी शेखर का शक करना बंद नहीं हुआ। उसके मां-बाप व अन्य स्वजनों को बुलाकर समझाने का प्रयास करने पर सुधार नहीं हुआ। आरोप है कि पंद्रह दिन पहले शेखर के घर से जाने के बाद उसकी मौसी सुलह के बहाने आकर शीतल की बेटी पायल को भी लेकर चली गई थी। मृतका के पिता तिलक सिंह की तहरीर पर शेखर के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।


मुकेश चंद्र उत्तम, एसपी देहात का कहना है  कि युवक ने खुद थाने आकर पत्नी की हत्या करना स्वीकारा, घर से महिला का शव बरामद कर लिया गया है। हत्या की वजह जानने को पूछताछ की जा रही है।




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.