"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

बहुत खूब... अपने जिले के कलेक्टर तो बड़े दयालु है जनाब, मिट्टी के बर्तन बनाने वाले को 5हजार और किसानो की मदद को दिए १०हजार

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ 12 अक्टूबर (सू0वि0) |मीडिया लोकतंत्र में चौथे स्तंभ का स्थान रखती है। मीडिया को समाज का आईना भी कहा गया है। मीडिया समय समय पर आलोचना के साथ ही जिला प्रशासन के लिए आंख और कान का भी काम करती है। दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर ’’कैसे करेंगे बेटी के हाथ पीले..’’का संज्ञान लेते हुये कुशल प्रशासक जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार वर्मा को निर्देशित किया कि वह बारिश से प्रभावित व्यक्ति उदय राम के घर जाकर खबर की वास्तविकता की जांच करें। समाचार पत्र में अंकित पते गोविंद नगर पहुॅच नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार वर्मा ने मिट्टी के बर्तन बनाने वाले प्रजापति समाज के उदय राम से बातचीत कर उनका हाल जाना। खबर की वास्तविकता को देखते हुए नगर मजिस्ट्रेट ने बारिश से प्रभावित व्यक्ति को जिलाधिकारी विक्रम सिंह के सम्मुख कलक्ट्रेट में पेश किया और बताया कि समाचार पत्र में प्रकाशित खबर सही है। त्योहारी सीज़न के चलते उदय राम द्वारा बिक्री के लिए तैयार किये गए मिट्टी के बर्तन बारिश में घुल जाने से काफी नुकसान हुआ है।


     कुशल प्रशासक जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने उदय राम से बातचीत कर उनको ढांढ़स बंधाया। उदय राम ने बताया कि मिट्टी के बर्तन बनाने का कार्य विरासत में मिला है। वह 1500 से 2000 रुपए प्रतिमाह कमा लेते हैं। अभी त्योहारी सीजन के चलते काफ़ी मात्रा में मिट््टी के बर्तन और दीये बनाये थे, बाजार से बहुत उम्मीदें भी थीं। परंतु बेमौसम बरसात ने उनके सारे अरमानों को धो दिया। क्योंकि मिट्टी के बर्तन और दीये अभी पके नहीं थे, कच्चे होने से बारिश में घुल गए और उनके परिवार पर आर्थिक संकट आ पड़ा है।


    जिलाधिकारी ने उदय राम की आर्थिक समस्या का निराकरण करने के लिए नगर मजिस्ट्रेट से लोकवाणी मद से 5000 का चैक तैयार कराकर पीड़ित की आर्थिक मदद की। इतना ही नहीं उन्होंने शासकीय वाहन से उदय राम को उनके घर गोविंद नगर पहुंचाया। जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने समाचार पत्र को जनहित में खबर प्रकाशित करने के लिए धन्यवाद भी दिया है। 5000 की धनराशि का चैक पाकर उदय राम ने डीएम इंद्र विक्रम सिंह की कार्यकुशलता की तारीफ की, वही उन्होंने प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह प्रदेश सरकार की मंशा को साकार कर रहे हैं।


...किसानों ने बताया कि वर्तमान में उनकी समस्याएं सुनी ही नहीं बल्कि निस्तारित भी की जा रही हैं

भारी बारिश एवं जलभराव से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। लोगों को विभिन्न प्रकार से समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ जहां शहरी जनजीवन प्रभावित हुआ है, वहीं दूसरी तरफ किसानों की फसल प्रभावित हुई है। रोजी रोजगार पर भी विपरीत प्रभाव पड़ा है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर प्रभावित व्यक्ति की यथासंभव मदद की जा रही है, उन्हें सहायता देने के साथ ही तात्कालिक राहत भी पहुंचाई जा रही है ताकि आमजन की रोजी-रोटी पर संकट न आये। फसल को और अधिक बर्बादी से बचाया जा सके और परिवार आपदा एवं भुखमरी से सुरक्षित रह सके।


   


      जिला मजिस्ट्रेट इन्द्र विक्रम सिंह बुधवार को कलेक्ट्रेट में जन समस्याओं को सुन रहे थे। ऐसे में मदनपुर छबीला ग्राम के प्रगतिशील किसान अपने कुछ साथी किसानों के साथ जिलाधिकारी से मिले। अपनी समस्या को जिलाधिकारी के सम्मुख रखते हुए उन्होंने बताया कि वर्तमान में धान की फसल कुछ किसानों द्वारा काटी जा रही है या कटने को तैयार है। बेमौसम बरसात से खेतों में धान की फसल डूब गई है और तेज़ हवाओं से गिर गयी है। खेतों में जलभराव की समस्या से फसल को काफी नुकसान हुआ है, यदि जल्द ही खेतों से पानी नहीं निकाला गया तो यह नुकसान और अधिक होगा। समस्या का समाधान बताते हुए किसानों बताया कि यदि उनको 800 मीटर लंबाई का पाइप मिल जाए तो वह इंजन लगाकर अपने खेतों का पानी निकाल सकते हैं।


     कुशल प्रशासक जिला मजिस्ट्रेट इंद्र विक्रम सिंह ने किसानों की समस्या एवं उसका निदान जानकर तत्काल 10,000 रूपये की आर्थिक मदद करते हुए कहा कि वह इससे पाइप खरीद कर खेतों का पानी निकालकर फसल को और अधिक नुकसान से बचाएं। राजवीर सिंह ने जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की कार्यशैली की तारीफ करते हुए प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में किसानों की समस्याओं को सिर्फ सुना ही नहीं जा रहा है बल्कि तत्काल निदान भी किया जा रहा है। उन्होंने जिलाधिकारी को विश्वास दिलाया कि इस पाइप से वह अपने खेतों का पानी तो निकालेंगे ही बल्कि अन्य सभी साथी किसानों के खेतों में भरे पानी को पाइप के माध्यम से निकालने में भी उनकी मदद करेंगे। इससे जहां फसल को सुरक्षित कर सकेंगे वहीं पशुओं को चारा भी प्राप्त होगा। प्रगतिशील किसान ने डीएम को आश्वस्त किया कि वह इस पाइप का सार्वजनिक रूप से प्रयोग कर फसल बचाएंगे।


..अधिवक्ताओं एवं लोगों से भी किया संवाद


जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह द्वारा बुधवार को कचहरी परिसर, बार एसोसिएशन और कलक्ट्रेट का निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी प्रायः कलेक्ट्रेट परिसर का निरीक्षण करते रहते हैं। बुधवार को जिलाधिकारी ने पार्कों में चल रहे सौंदर्यकरण कार्यों पर विशेष ध्यान देने को कहा। कलेक्ट्रेट में साफ-सफाई रखने के साथ ही कार्यालय के आस-पास रास्तों की सफाई रखने के निर्देश दिए जिससे आम जन को आने में कोई दिक्कत न हों। अधिवक्ताओं से मिलकर उन्होंने उनसे कचहरी परिसर को साफ और स्वच्छ रखने के साथ अपने चैंबर को भी सुव्यवस्थित रखने के निर्देश दिए। परिसर में लगे पेड़ो की छंटाई करने के निर्देश भी दिए। उसके बाद डीएम बार एसोसिएशन में पहुंचे और लाइब्रेरी और मीटिंग हाल का जायजा लिया जो सुव्यवस्थित मिले। शहीद सुधाकर पार्क स्मृति उद्यान की साफ-सफाई के निरीक्षण के साथ स्वर्ण जयंती स्तंभ पार्क में चल रहे निर्माण कार्यों को परखा। जिला बचत कार्यालय के पास लगे पेड़ के टूटे चबूतरे को हटाने के निर्देश दिए। मालखाना में रखी पुरानी और मजबूत रैक को उपयोग में लाने का निर्देश दिया।



          ज़िला पूर्ति अधिकारी कार्यालय के पास भटक रहे दिव्यांग को देखकर आने का कारण पूछा तो उसने राशन कार्ड न बनने की समस्या बताई जिलाधिकारी ने डीएसओ को बुलाकर तत्काल राशन कार्ड बनाने का निर्देश दिया। उसके बाद जिलाधिकारी ने जय स्तंभ पार्क का मुआयना किया। पेड़ो की छंटाई के साथ अनावश्यक पौधों को हटाकर एक थीम के पौधे लगाने का निर्देश दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.