"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

नगर निगम के अधिकारियों की हेकड़ी निकल गई, 20 हजार का जुर्माना करने की बजाय 2हजार का कर सके...पढ़िए पूरी खबर

अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम,अलीगढ़। नंबर 52 जनकपुरी मैरिस रोड क्षेत्र में स्थित होटल मेलरोज के संचालक द्वारा की जा रही गुंडागर्दी, तानाशाही ब मनमानी  के तहत क्षेत्रीय जनता व पास के वुडबाइन स्कूल के बच्चों को आए दिन परेशानी झेलनी पड़ रही है। जिसका कारण बिना नियमावली के होटल का संचालन करना। जिसमें न ही प्रदूषण विभाग के नियमों को ध्यान में रखा गया है, ना ही पार्किंग की कोई व्यवस्था है, और नालों को पूरी तरह पाठ कर बंद कर दिया गया है जिससे जनकपुरी क्षेत्र की सभी नालियों का पानी बेक मार रहा है और नालों में होटल की गंदगी से अत्यधिक बदबू क्षेत्रीय जनता को झेलनी पड़ रही है। होटल के कर्मचारियों द्वारा रोड पर ही तानाशाही तरीके से स्कूल के सामने कूड़े के ढेर लगा दिए जाते हैं जिससे स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को बदबू और गंदगी का सामना करना पड़ रहा है नगर निगम विभाग की मिलीभगत से यह सुविधाएं दी जा रही है। आज क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र कुमार जादौन के क्षेत्र में भ्रमण करते समय क्षेत्रीय जनता द्वारा शिकायत करने पर क्षेत्रीय पार्षद पुष्पेंद्र जादौन ने क्षेत्र का निरीक्षण करने पर पाया की, होटल स्वामी ने अपना नाला पूरी तरह पाठ रखा है ,नाले को नगर निगम के सफाई कर्मचारियों द्वारा सांफ तक नहीं करने दिया गया और उन्हें वहां से भगा दिया गया और होटल के कर्मचारी खुलेआम अपने होटल का कूड़ा बाहर रोड पर डालते हैं और खुलेआम सड़क पर ही वाहनों का को खड़ा किया जाता है क्योंकि होटल की पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है नगर निगम कर्मचारी और क्षेत्रीय पार्षद के द्वारा इस पूरे प्रकरण की जब वीडियो बनाई गई और फोटो खींचने पर उसका विरोध होटल के कर्मचारी मैनेजर और । ठेकेदार करने लगे जिस पर नगर निगम के अधिकारी कर्मचारियों को भद्दी भद्दी गालियां देने लगे। इस पर नगर निगम के नगर आयुक्त महोदय को शिकायत करने पर परिवर्तन दल की टीम द्वारा और नगर निगम की सैनिटरी की टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया गया और उपरोक्त विषय को सही पाते हुए होटल स्वामी के ऊपर कार्रवाई की गई होटल स्वामी ने बड़े नेताओं का हवाला देते हुए कर्मचारियों और क्षेत्रीय पार्षद को धमकी दी जिस पर जो करा जाए वह कर ले मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता और उसने बताया जब नगर निगम के कर्मचारी 20000 का चालन कर रहे थे तो, मेरे अपनी नेतागिरी के दम पर यह चालन मात्र 2000 का कराया है और 1 साल से ए टू जेड का किराया भी नहीं दिया है। प्रदूषण विभाग की ,पार्किंग की कोई व्यवस्था नही है।

अलीगढ़ में होटल चलाता हूं और मेरे बड़े बड़े अधिकारी व नेता आकर मेरे होटल में रुकते हैं यह कहकर होटल के संचालक ने कर्मचारियों का विरोध किया। पब्लिक के ईखट्टा होने पर नगर निगम के अन्य अधिकारियों के आने पर मामले को रफा-दफा किया गया। और अधिकारियों ने बताया क्या करें हम तो माननीय मुख्यमंत्री जी के आदेश पर यह परिवर्तन दल द्वारा क्षेत्रीय जनता के सहयोग के लिए अतिक्रमण हटाने का सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के आधार पर शासन के दिशा निर्देश पर अतिक्रमण हटाने का कार्य कर रहे हैं लेकिन सत्ताधारी पार्टी के माननीय विधायक जी की शिफारस आने पर मजबूरन हमें मामले को रफा-दफा करना पड़ता है। जिसका फायदा अतिक्रमण करने वाले ऐसे व्यापारी उठाते हैं । क्षेत्रीय जनता व पार्षद को मौके से मजबूरन जाना पड़ा जिस तरह शहर व पूरे प्रदेश में डेंगू का कहर बरप रहा है ।

प्रदेश की न्याय प्रिय सरकार के निर्देश पर प्रशासन द्वारा प्रशासन के आला अधिकारियों द्वारा सराहनीय कार्य किए जा रहै है उस कड़ी में नगर निगम के निम्न स्तर के कर्मचारियों की सांठगांठ और मिलीभगत से होटल में संचालक महोदय अपनी तानाशाही और मनमानी को बढ़ावा देकर जनता को हानि पहुंचाने का कार्य तानाशाही के साथ कर रहै।अगर होटल स्वामी द्वारा होटल संचालन के नियमों के साथ नहीं चलाया और क्षेत्रीय जनता को किसी प्रकार की परेशानी होने पर इसकी शिकायत शासन श्रीमान कमिश्नर साहब व जिलाधिकारी महोदय के माध्यम से शासन तक को की जाएगी जिससे जनहित में क्षेत्रीय जनता और छोटे-छोटे बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.