"..किसी भी खबर पर आपत्ति के लिए हमें ई-मेल से शिकायत दर्ज करायें"

क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेतृत्व में 26 को देश के सभी राज्यों में राजभवन मार्च करेंगें किसान



अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ| क्रांतिकारी किसान यूनियनत्र की सोमवार को संपन्न विशेष आनलाइन बैठक में आगामी 26 नवंबर को एसकेएम के राष्ट्रीय आह्वान पर सभी राज्यों में राजभवन मार्च में पूरी ताकत के साथ भागीदारी का निर्णय लिया। संयुक्त किसान मोर्चा की काॅडीनेशन कमेटी के सदस्य एवं यूनियन अध्यक्ष डा. दर्शन पाल की अध्यक्षता में संपन्न इस बैठक में पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के प्रमुख यूनियन नेताओं ने राजभवन मार्च की तैयारियों पर चर्चा की। बैठक के दौरान डा. दर्शन पाल ने पिछले साल 11 नवंबर को सरकार के वायदे पर स्थगित किए आंदोलन को अब दोगुनी शक्ति के साथ आगे बढ़ाने की अपील की। दिल्ली मोर्च की उस ऐतिहासिक याद को एकसाल बाद किसान देश भर की राजधानियों में फिर ताजा करेगा। उनका कहना था कि एकबार फिर पूरी दुनिया देश के किसानों की एकजुटता और ताकत देखेगी। 

उन्होंने जानकारी साझा की कि 14 नवंबर को एसकेएम की राज्य बैठक में आंदोलन के आगे का रास्ता और मोर्चा के सांगठनिक स्वरूप पर महत्वपूर्ण निर्णय के लिए देश भर  के किसान संगठनों के नेता जुटेंगें। उन्होंने केन्द्र सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ और बाकी मांगों पर देश भर के संघर्षशील किसान संगठनों  के साझा आंदोलनों के साथ यूनियन की एकजुटता का आह्वान भी किया। साथ ही संगठन विस्तार की रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया गया। बैठक में शामिल सभी किसान नेताओं ने अपने क्षेत्रों के अलावा अन्य क्षेत्रों में यूनियन के विस्तार में बढ़-चढ़कर भागीदारी की बात कही। 

 राज्यवार तैयारियों का ब्यौरा देते हुए यूपी में तैयारियों का ब्यौरा देते हुए बताया गया कि 11 नवंबर को लखनऊ में सभी किसान संगठनों साझा बैठक करेंगें। जिसमें राज्यस्तरीय मांगपत्र को अंतिम रूप दिया जाएगा। यूपी के अलावा सभी राज्यों में यूनियन नेता एसकेएम के अन्य संगठनों के साथ मिलकर आंदोलन की रणनीति बनाने में जुटे हैं। 
   बैठक में पंजाब से गुरमीत सिंह महमा, अवतार सिंह महमा, उत्तर प्रदेश से शशिकान्त, डा. हरी सिंह यादव, गजेन्द्र चौधरी, देवेन्द्र कुमार राना, जयवीर सिंह, संतोष परिवर्तक, अनिल प्रधान, प्रदीप यादव, अजय कुमार, कमलेश यादव, गोकुल करन, हरियाणा से सतीश आजाद,  अमोल, जय भगवान, कर्नेल सिंह और राजस्थान से पोकर सिंह झाझडिया, रामबिलास, प्रह्लाद कुलहरी शामिल रहे।


 Krantikari Kisan Union (KKU)| Farmers will march to Raj Bhavan on 26th

 AligarhMedia Desk, Aligarh,8 November| In the special online meeting of Krantikari Kisan Union held on Monday, it was decided to participate with full force in the march of Raj Bhavan in all the states on the national call of SKM on 26th November. In this meeting, held under the chairmanship of Dr. Darshan Pal, member of the Co-ordination Committee of United Kisan Morcha, prominent union leaders of Punjab, Haryana, Uttar Pradesh and Rajasthan discussed the preparations for the Raj Bhavan march. During the meeting, Dr. Darshan Pal appealed to take forward the movement which was suspended on November 11 last year on the promise of the government with double strength. A year later, the farmer will revive that historical memory of Delhi Front in the capitals across the country. He said that once again the whole world will see the unity and strength of the farmers of the country. He shared the information that in the state meeting of SKM on November 14, leaders of farmers' organizations from across the country would gather to take an important decision on the way forward of the movement and the organizational nature of the front. He also called for the union's solidarity with the common movements of the struggling farmers' organizations across the country against the disobedience of the central government and on other demands. In addition, the strategy of organization expansion was also discussed. All the farmer leaders involved in the meeting talked about their participation in the expansion of the union in areas other than their own areas.
 Giving details of state-wise preparations, it was informed that on November 11, all farmers' organizations would hold a joint meeting in Lucknow. In which the state level demand letter will be finalized. Apart from UP, union leaders in all the states along with other organizations of SKM are busy in formulating the strategy of the movement.
   Gurmeet Singh Mehma , Avtar Singh from Punjab, Shashikant Aligarh, Dr. Hari Singh Yadav, Gajendra Chaudhary, Devendra Kumar Rana, Jaiveer Singh, Santosh Parivartarak, Anil Pradhan, Pradeep Yadav, Ajay Kumar, Kamlesh Yadav, Gokul Karan from UP, Satish Azad, Amol, Jai Bhagwan, Kernel Singh from Haryana and Poker Singh Jhajhadia, Rambilas, Prahlad Kulhari from Rajasthan were included in the meeting.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.