जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

सुरेन्द्र नगर पोखर पर सम्पवैल बन जाए तो आधे शहर की जलभराव की समस्या का हो सकता हैं निदान: मानवेन्द्र

0


*उत्तर प्रदेश विधान मण्डल की सार्वजनिक उपक्रम एवं निगम संयुक्त समिति द्वारा की गई समीक्षा*

*विकास कार्यों एवं परियोजनाओं में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए*- मनीष असीजा, मा0 सभापति*


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ़ 12 जुलाई 2023 (सू0वि0) उत्तर प्रदेश विधान मण्डल की सार्वजनिक उपक्रम एवं निगम संयुक्त समिति की प्रथम उपसमिति के द्वितीय अध्ययन दल की समीक्षा बैठक का आयोजन मा0 सभापति श्री मनीष असीजा की अध्यक्षता में सर्किट हाउस सभागार में किया गया। समीक्षा बैठक में मा0 सदस्य डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह, श्री अनिल पाराशर, ठा0 रवेन्द्रपाल सिंह, श्री आकाश अग्रवाल, श्री प्रभात कुमार वर्मा, श्री देवेन्द्र निगम, श्री किरत सिंह, श्री अनूप कुमार गुप्ता, श्री तूफानी सरोज, श्री कमाल अख्तर एवं श्रीमती सरिता भदौरिया भी प्रतिभाग किया गया। 

मा0 सभापति श्री मनीष असीजा ने समिति के आगमन के उद््देश्यों की जानकारी देते हुए बताया गया कि प्रदेश सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं एवं परियोजनाओं को गुणवत्ता एवं मानक के अनुरूप समयबद्धता से पूर्ण कराना है। उन्होंने कहा कि समीक्षा के दौरान अधिकारियों द्वारा जनहित में बेहतर कार्यों का किया जाना पाया गया। परन्तु विभागीय समन्वय में कमी महसूस की गयी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनहित के विकास कार्यों में जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित की जाए। परियोजनाओं के आरम्भ एवं पूर्ण होने के साथ ही समय-समय पर कार्य प्रगति का भी अवलोकन कराया जाए। अधिकारी भविष्य में संवेदनात्मक एवं भावनात्मक रूप से कार्यों का अंजाम दें। सदन द्वारा निर्देशित किया गया कि जो कार्य पूर्ण हो गए हैं, उनको जल्द से जल्द क्रियाशील किया जाए। 02 घण्टे चली बैठक में मा0 सभापति एवं सदस्यगणों द्वारा जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की सकारात्मक सोच, प्रस्तुतिकरण एवं हर विभाग व योजना के बारे में सटीक जानकारी व हाजिर-जबावी के लिए मुक्तकंठ से सराहना की गई। 

विद्युत विभाग की समीक्षा में सौभाग्य योजना, नगर निगम के बाहरी क्षेत्रों एवं नवगठित नगर पंचायतों में विद्युत कार्यों के लिए धनावंटन की जानकारी प्राप्त करते हुए जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि जनप्रतिनिधियों, नगर निगम एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर धनराशि का सदुपयोग कराएं। समिति के सदस्य डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह ने दुर्घटनाग्रस्त संविदाकर्मियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की बात कही। ट्यूबवैल कनेक्शन से आ रही ओवरलोडिंग की शिकायतों पर मा0 सभापति ने निर्देशित किया कि नया कनेक्शन निर्गत करने से पूर्व ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि करना सुनिश्चित करें। विद्युतिकरण में आ रही समस्याओं के सम्बन्ध में जिलाधिकारी एवं सम्बन्धित उपजिलाधिकारियों से समन्वय कर समस्याओं के निराकरण के निर्देश दिये गये। 

उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास निगम के अधिशासी अभियंता सस्मित कटियार ने बताया कि 15 कार्य पूर्ण हो गये हैं एवं 04 प्रगति पर हैं, धन की कोई कमी नहीं है। मा0 सभापति द्वारा कार्य प्रारम्भ करने, कब पूर्ण करना है एवं कब पूर्ण किया गया है कि तिथि सार्वजनिक करने के निर्देश दिये गये। यूपीसीडा द्वारा बताया गया कि विगत 05 वर्ष में 06 परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। मा0 सभापति ने परियोजनाओं में नाली निर्माण शामिल करने के साथ ही श्रमिकों की बुनियादी सुविधाआंे का ध्यान रखने के निर्देश दिये। यूपीपीसीएल के प्रोजेक्ट मैनेजर पवन सारस्वत ने बताया कि 12 परियोजनाएं हस्तातंरित हो चुकी हैं, 06 प्रगति पर हैं। महिला पॉलिटैक्निक हरदोई के अपूर्ण कार्य पर उन्होंने बताया कि रिवाइज एस्टीमेट गया हुआ है। मा0 सभापति ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी जी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा रिवाइज एस्टीमेट की परम्परा को समाप्त कर दिया गया है। जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि मुख्य कार्य पूर्ण हो गया है परन्तु छात्रावास एवं अन्य नये कार्य जुड़ जाने से रिवाइज एस्टीमेट भेजा गया है। 

राजकीय निर्माण निगम के हरिओम शर्मा द्वारा बताया गया कि 10 में से 06 कार्य पूर्ण हैं, 04 प्रगति पर हैं। प्रोजेक्ट मैनेजर सेतु निगम वीरेन्द्र सिंह द्वारा बताया गया कि 05 कार्य पूर्ण एवं 02 प्रगति पर हैं। समिति के सदस्य एवं मा0 विधायक कोल श्री अनिल पाराशर ने डीएफसीसी पुल के एलाइनमेंट की ओर ध्यानाकर्षण किया कि आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। जिस पर मा0 सभापति द्वारा प्रोजेक्ट मैनेजर को मा0 विधायक एवं जिलाधिकारी से समन्वय कर समस्या का निस्तारण करने के निर्देश दिये। अधिशासी अभियंता जल निगम नगरीय पंकज रंजन झा ने बताया कि 08 परियोजनाओं में 05 पूर्ण व 03 प्रगति पर हैं। समिति के सदस्यों द्वारा पाइप लाइन डाले जाने के उपरान्त खोदी गई सड़क की सही से मरम्मत न करने के बारे में कहा गया, जिस पर मा0 सभापति द्वारा सड़कों की सही ढ़ंग से मरम्मत करने के निर्देश दिये गये। समिति के सदस्य एवं मा0 विधायक छर्रा ठा0 रवेन्द्रपाल सिंह ने अमृत योजना के तहत विजयगढ़ में कार्य आरम्भ करने के दौरान जनप्रतिनिधियों की अनदेखी का आरोप लगाया जिस पर मा0 सभापति ने मा0 विधायक से कार्य का शुभारम्भ एवं लोकार्पण कराने के निर्देश दिये। 

मा0 सदस्य श्री अनिल पाराशर ने डीएवी इण्टर कॉलेज की भूमि पर लम्बित कार्य के बारे में समिति को अवगत कराया जिस पर मा0 सभापति ने मा0 उच्च न्यायालय में उचित पैरवी करने के साथ ही मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी को नियमित मॉनिटरिंग करने के दिये। मा0 सदस्य एवं एमएलसी डा0 मानवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि यदि सुरेन्द्र नगर पोखर पर सम्पवैल बन जाए तो आधे शहर की जलभराव की समस्या का निदान हो सकता है। उन्होंने मण्डलायुक्त नवदीप रिणवा को धन्यवाद दते हुए कहा कि उनके प्रयास से 06 वर्ष पुरानी समस्या का 06 मिनट में निस्तारण हो गया। जल जीवन मिशन के अधिशासी अभियंता अतुल त्यागी ने बताया कि हर घर नल-हर घर जल योजना में 720 परियोजनाएं स्वीकृत हुई हैं जिनमें से 580 पर कार्य चल रहा है। 1800 किलोमीटर की पाइप लाइन डाली गयी है 20 ग्रामों में जलापूर्ति शुरू हो गयी है। एडीडीओ एसके संध्या रानी बघेल ने जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी जिस पर मा0 सभापति द्वारा स्वच्छकार विमुक्ति योजना के बारे में जिलाधिकारी को व्यापक एडवाइजरी जारी करने का सुझाव दिया गया। उन्होंने कहा कि देश के मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की क्रांतिकारी सोच के कारण सामाजिक बदलाव संभव हुआ है। उन्होंने सीडीओ को निर्देशित किया कि 20 ग्रामों में प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत कराए गये विकास कार्यों का निरीक्षण कर एक माह में रिपोर्ट प्रस्तुत करें। 

स्मार्ट सिटी कार्यों की समीक्षा के दौरान मुख्य अभियंता सुरेश चन्द्र ने बताया कि 37 स्मार्ट कार्यों में से 16 पूर्ण हो गये हैं, 21 प्रगति पर हैं। समीक्षा के दौरान मा0 सभापति द्वारा अलीगढ़ हैबीटेट संेटर का सम्बोधन भविष्य में कल्याण सिंह हैबीटेट सेन्टर के नाम से उच्चारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि एक वर्ष पूर्व लोकार्पित भव्य भवन का जनहित में सदुपयोग न होना क्षमा की श्रेणी में नहीं आता है। उन्होंने निर्देशित किया कि तीन माह के भीतर उपयोगी स्थानों का सदुपयोग किया जाए। सदन के समक्ष जवाहर पार्क सौन्दर्यीकरण का कार्य 15 अगस्त तक एवं अचल ताल के सौन्दर्यीकरण का कार्य 30 अगस्त तक पूर्ण करने का आश्वासन अधिकारियों द्वारा दिया गया। जबकि बारहद्वारी मल्टीलेबिल कार पार्किंग कार्य दिसम्बर मासान्त तक पूर्ण होने का आश्वासन दिया गया। मा0 सभापति द्वारा अन्य कार्यांे की समीक्षा के दौरान सख्ती बरतते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के कार्यों का समय से पूरा न होने का मुख्य कारण विभागों का आपसी समन्वय न होना एवं ठेकेदार द्वारा की जा रही लापरवाही पर अर्थदण्ड अधिरोपित न करना प्रतीत हो रहा है। उन्होंने जिलाधिकारी से अपेक्षा की  िकवह विभागीय तालमेल बैठाते हुए स्मार्ट कार्यांे की मॉनिटरिंग करते हुए लेटलतीफी ठेकेदारों पर अर्थदण्ड एवं दोषी अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही करें। मा0 सदस्य श्री अनिल पाराशर ने एबीडी एरिया के बाहर समुचित जल निकासी के लिए स्मार्ट सिटी से कार्य कराने का मामला उठाया जिस पर मा0 सभापति द्वारा स्टेट सेन्टर से स्कीम बनाए जाने के लिए प्रभावी प्रयास करने की बात कही गयी। 

बैठक के अन्त में जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम ने उत्तर प्रदेश विधान मण्डल की सार्वजनिक उपक्रम एवं निगम संयुक्त समिति की प्रथम उपसमिति के द्वितीय अध्ययन दल के मा0 सभापति एवं सदस्यों का जनपद आगमन पर आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि हर्ष का विषय है कि समिति द्वारा जनहितकारी योजनाओं की बारीकी से समीक्षा की गयी, इससे अवश्य ही परियोजनाओं को समय से पूर्ण होने में मदद मिलेगी। उन्होंने समिति को आश्वसत किया कि समीक्षा के दौरान जो निर्देश एवं मार्गदर्शन दिया गया है उसका अक्षरशः अनुपालन कराया जाएगा। 

बैठक में मा0 सांसद हाथरस श्री राजवीर दिलेर, सीडीओ आकांक्षा राना, एडीएम सिटी अमित कुमार भट्ट सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। 

-----

                                              

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)