जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

प्रधानमंत्री टीवी मुक्त भारत अभियान के तहत जिला जेल में टीवी ग्रसित मरीजों को दिया गया पोषक आहार

0


*मा0 जिला जज ने डीएम-एसएसपी के साथ जिला जेल का किया निरीक्षण*

*साफ-सफाई एवं बन्दियों की उत्कृष्ठ कारीगरी की प्रशंसा की*

*कैदियों से वार्ता कर निशुल्क विधिक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए


अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो,अलीगढ़ 13 जुलाई 2023 (सू0वि0). मा0 जिला न्यायाधीश डा0 बब्बू सारंग, जिला मजिस्ट्रेट इन्द्र विक्रम सिंह एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी द्वारा संयुक्त रूप से जिला जेल का त्रैमासिक निरीक्षण किया गया। इस दौरान उन्होंने कैदियों से संवाद कर सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण दिनेश कुमार नागर को पात्र कैदियों को निःशुल्क विधिक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। अस्पताल का निरीक्षण कर प्रदत्त की जा रही चिकित्सकीय सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। स्वास्थ्य विभाग द्वारा चयनित 9 टीबी ग्रसित कैदियों को पोषक आहार का भी वितरण किया। महिला सशक्तिकरण की दिशा में आजाद फाउंडेशन द्वारा महिला कैदियों को दिए जा रहे कौशल प्रशिक्षण के उपरांत तैयार किए गए विभिन्न उत्पादों की प्रदर्शनी को भी देखा।

      मा0 जिला न्यायाधीश ने परिसर में साफ-सफाई व्यवस्था दुरूस्त पाए जाने पर संतोष प्रकट करते हुए कहा कि बन्दियों के भी अपने अधिकार होते हैं, ऐसे में उन्हें मूलभूत सुविधाएं एवं साफ-सफाई प्रदान करना हमारी नैतिक और संवैधानिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि यदि किसी बन्दी को कानूनी या विधिक सहायता की जरूरत हो तो उसे उपलब्ध कराया जाए। निरीक्षण के दौरान अधिकारीगणों ने खान-पान की गुणवत्ता को परखने के लिए जेल में संचालित मैस का भी निरीक्षण किया। खाने की गुणवत्ता पर संतोष प्रकट किया। आजाद फाउंडेशन द्वारा महिला सशक्तिकरण की दिशा में महिला कैदियों को दिए जा रहे कौशल प्रशिक्षण के उपरांत उनके द्वारा तैयार किए गए विभिन्न उत्पादों की उत्कृष्ठ कारीगरी की प्रशंसा किए बिना न रह सके। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा बन्दियों को विभिन्न प्रकार की कारीगरी में प्रशिक्षण प्रदान करने का मुख्य उद््देश्य यही है जब आप लोग यहां से वापस समाज की मुख्यधारा में लौटेंगे तो आप अपनी मेहनत के बल पर सम्मान के साथ अपना और अपने परिवार का जीवन यापन कर सकें। 

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के तहत जेल में 9 टीबी प्रभावित मरीजों को पोषक आहार प्रदान किया। उन्होंने बीमार कैदियों से कहा कि चिकित्सीय परामर्श से शुरु टीबी की दवा को चिकित्सीय परामर्श से ही बंद करें। एक दिन भी टीबी की दवा को खाना ना छोडें। इसके साथ ही पोषक आहार अवश्य लें।

इस अवसर पर सीएमओ डॉ नीरज त्यागी, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दिनेश कुमार नागर, जेल अधीक्षक बिजेन्द्र यादव एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

---

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)