जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

व्यापारियों को इस योजना के तहत मिलेगा 10 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता का लाभ

0


*डीएम की अध्यक्षता में जिला उद्योग बंधु, एमओयू क्रियान्वयन एवं व्यापार बंधु बैठक सम्पन्न*

*नोडल अधिकारी व्यक्तिगत रुचि एवं निवेशकों के समन्वय से किए गए एमओयू के आधार पर ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए करें तैयार*

*निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए तालानगरी में लगेंगे टीपीएम*

*निवेश मित्र पोर्टल पर 50 आवेदन पत्र समय सीमा के बाहर लंबित और 7 समय सीमा के उपरांत निरस्त किए जाने पर डीएम ने जताई कड़ी नाराजगी*

*लापरवाह अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश*

*मुख्यमंत्री व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना में जीएसटी पंजीकृत व्यापारियों को दुर्घटना से मृत्यु या स्थायी अपंगता होने पर 10 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता देय*


अलीगढ मीडिया न्यूज़ डेस्क,अलीगढ़ 25 अगस्त 2023 (सू0वि0) जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में जिला उद्योग बंधु, एमओयू क्रियान्वयन एवं व्यापार बंधु बैठक का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा कि शासन-प्रशासन नवीन इकाइयों की स्थापना एवं सफल संचालन के प्रति संवेदनशील है। नोडल अधिकारी व्यक्तिगत रुचि लेकर निवेशकों से समन्वय स्थापित करते हुए उनके द्वारा किए गए एमओयू के आधार पर ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए उन्हें तैयार करें। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो निवेशक इकाई स्थापना के लिए संवेदनशील नहीं हैं, उनके समझौता पत्र पर निरस्तीकरण की कार्रवाई करें, ताकि विभाग संवेदनशील प्रकरणों को ज्यादा समय देते हुए उन्हें ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए तैयार कर सके। 

     डीएम ने उद्योग बंधु बैठक के दौरान निवेश मित्र पोर्टल पर समय सीमा के अंदर प्रकरणों का निस्तारण न करने पर कई अधिकारियों को चेतावनी, स्पष्टीकरण एवं प्रतिकूल प्रविष्टि निर्गत करने के निर्देश दिए। उन्होंने लापरवाह अधिकारियों के प्रति नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि जब उनके पास पोर्टल पर आवेदन पत्र निरस्त या स्वीकृत करने की सुविधा है, तो यह कार्य समय सीमा के भीतर न किया जाना अधिकारी की अकर्मण्यता को दर्शाता है। उद्योग बन्धु बैठक में औद्योगिक क्षेत्र तालानगरी में विद्युत आपूर्ति की समस्या के निस्तारण के लिए ट्रांसफॉमर्स पर टीपीएम लगाए जाने की सुझाव के लिए अध्यक्ष ताला नगरी औद्योगिक चेतना समिति उपेंद्र पांडे की सराहना करते हुए अधीक्षण अभियंता विद्युत को तीन माह के भीतर टीपीएम लगाए जाने की निर्देश दिए। सड़क दुर्घटनाओं को न्यून करने के लिए क्वार्सी चौराहे से तालानगरी तक डिवाइडर बनाए जाने के संबंध में लोक निर्माण विभाग द्वारा बताया गया कि 3.22 किलोमीटर लंबाई में 42 लाख का एस्टीमेट बनाकर भेज दिया गया है। तालानगरी औद्योगिक क्षेत्र परिसर में इंडस्ट्रियल फीडर से औद्योगिक कनेक्शन के संबंध में जिलाधिकारी ने अधीक्षण अभियंता विद्युत राघवेंद्र सिंह को निर्देशित किया कि बिना किसी भेदभाव के निर्णय लेते हुए प्रकरण का निस्तारण करें।

निवेश मित्र पोर्टल की समीक्षा में पाया गया कि 50 आवेदन पत्र समय सीमा के बाहर लंबित हैं और 7 आवेदन पत्र निर्धारित समय सीमा के उपरांत निरस्त किए गए हैं, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी प्रकट की गई। विस्तृत समीक्षा में पाया गया कि उपश्रमायुक्त स्तर पर 8, विद्युत विभाग पर 4, यूपीएसआईडीसी पर 7, एडीए पर 6, नगर निगम पर 5 प्रकरण निर्धारित समय सीमा के उपरांत लम्बित हैं। उप श्रम आयुक्त एवं सहायक अभियंता लघु सिंचाई द्वारा बैठक में प्रतिभाग न करने एवं प्रकरण लंबित रखने पर प्रतिकूल प्रविष्टि निर्गत करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार नगर निगम, विद्युत, यूपीएसआईडीसी, एडीए स्तर पर कार्य के लिए जिम्मेदार नोडल अधिकारी का दायित्व निर्धारित करते हुए प्रतिकूल प्रविष्टि निर्गत करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने नसीहत देते हुए बताया कि जो कार्य आपको समय सीमा के अंदर करना है यदि निर्धारित समय सीमा के बाद किया जाता है तो इससे जनपद की ग्रेडिंग पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। धारा 80 के दो प्रकरण निवेशक स्तर पर लम्बित रहने पर निवेशक को सचेत करते हुए प्रकरण असंवेदनशील मानकर निरस्त करने के निर्देश दिए। डीएम ने निर्देशित किया कि आगामी बैठक में सहायक निदेशक कारखाना एवं सीजीएसटी से भी सक्षम अधिकारी द्वारा बैठक में प्रतिभाग किया जाए।

उपायुक्त जीएसटी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा संचालित व्यापारी कल्याण योजना के तहत मुख्यमंत्री व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना प्रदेश में जीएसटी पंजीकृत व्यापारियों के लिए लागू है। इस योजना में पंजीकृत व्यापारियों की दुर्घटना के कारण मृत्यु या स्थायी अपंगता की स्थिति में 10 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान है। इस योजना में व्यापारी से कोई प्रीमियम भी नहीं लिया जाता है। 

 बैठक में एडीएम सिटी अमित कुमार भट्ट, एसपी ट्रैफिक मुकेश कुमार उत्तम, एटीपी एडीए प्रीती सागर, अपर नगर आयुक्त राकेश यादव, आरएम यूपीएसआईडीसी सीमा सिंह, डा0 रोहित गोयल, उद्यमी दिनेश चन्द्र वार्ष्णेय, चन्द्र शेखर शर्मा, लल्लू सिंह, कमल गुप्ता, विमल वार्ष्णेय, पवन कुमार, प्रमोद भारद्वाज, सौरभ गुप्ता, सतीश माहेश्वरी सहित अन्य उद्यमी एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे। बैठक का संचालन संयुक्त आयुक्त उद्योग बीरेन्द्र कुमार द्वारा किया गया।

----

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)