जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

जिलाधिकारी ने कृष्णांजलि में आयोजित आशा सम्मेलन में आशा बहनों को किया सम्मानित

0

अलीगढ मीडिया न्यूज़, अलीगढ़: आशा स्वास्थ्य विभाग की सबसे छोटी परन्तु सबसे मजबूत कड़ी होती है। स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ शासन प्रशासन को भी आप सभी पर पूरा भरोसा है। सभी को मालूम है कि विषम परिस्थितियों में भी आप पूरी मेहनत और ईमानदारी के साथ सौंपे गए दायित्यों का अच्छे से निर्वहन करती हैं। फिर चाहे संचारी रोग नियंत्रण एवं मिशन इन्द्रधनुष के लिए घर-घर दस्तक अभियान हो या फिर कोरोना जैसी विश्व व्यापी महामारी, आप ने अपने परिश्रम से जता दिया कि आप क्या कुछ नहीं कर सकती हो। डिजिटल दस्तक अभियान में उपलब्ध कराए गए संसाधनों द्वारा रोगियों के लक्षण के आधार पर रैपिड जांच करने के साथ ही संभावित रोगियों को ई-कवच पोर्टल पर विभिन्न प्रकार की जानकारियां अपलोड करने का कार्य भी आप द्वारा बड़े अच्छे से किया गया। कोरोना काल में ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं को पहुंचाने के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा आपको ग्लोबल हैल्थ लीडर-2022 से भी सम्मानित किया गया, जोकि अत्यन्त ही गर्व की बात है। आप सभी आशा बहनें ग्रामीण इलाकों में साक्षात ईश्वर की दूत बनकर अपनी और अपने परिवार की जान की परवाह किए बिना मैदान में उतरीं और कोरोना का डटकर मुकाबला किया, जिससे एक बहुत बड़ी आबादी कोरोना के प्रकोप से सुरक्षित रह सकी।


    उक्त उदगार ज़िला मजिस्ट्रेट इन्द्र विक्रम सिंह ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत कृष्णांजलि में आयोजित आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ता के सम्मेलन में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि आशा बहनें स्वास्थ्य विभाग में रीढ़ की तरह कार्य करते हुए स्वास्थ्य मानकों के लक्ष्य को हासिल कर रही हैं। इसके साथ ही उनके द्वारा स्वच्छता, सुरक्षित प्रसव, टीकाकरण, रक्तचाप, टीबी उन्मूलन, जननी सुरक्षा योजना, कन्या संुमगला योजना एवं पोषण के क्षेत्र में भी सराहनीय कार्य किए जा रहे हैं। आशा बहनें सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं की जन-जन तक पहुंच सुनिश्चित कराने में अपना अहम योगदान दे रहीं हैं। केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए अभूतपूर्व निवेश किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में जन जन तक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हों, उसके लिए हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर संचालित किए गए हैं। हमारी आशाएं स्वस्थ भारत निर्माण में अहम किरदार निभा रहीं हैं।


          मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नीरज त्यागी ने आशा बहनों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप सभी अपने कार्य को रूचिकर बनाते हुए शासन द्वारा संचालित जनहितकारी योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुॅचाएं। उन्होंने कहा कि आपके रडार में आते ही गर्भवती महिला का खाता संख्या एवं आधार कार्ड दे दें, ताकि पोषक आहार के लिए दी जाने वाली धनराशि समय से लाभार्थी के खाते में जमा की जा सके। इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाली आशा बहनों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)