जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

स्वास्थ्य केंद्रों पर विद्युत संयोजन कराते हुए निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाए: आयुक्त

0


आयुक्त अलीगढ़ मण्डल, अलीगढ़ की अध्यक्षता में विकास कार्यों की मण्डलीय बैठक सम्पन्न


सभी जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी सुनिश्चित करें कि निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय से पूरा किया जाए


प्रतिदिन संरक्षित किए जा रहे गौवंशों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए


अमृत योजना में खोदी गई सड़कें पुराने स्वरूप में लौटाई जाएं, आनाकानी की दशा में ठेकेदार के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराएं


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़।  आयुक्त अलीगढ़ मण्डल अलीगढ़ रविन्द्र की अध्यक्षता में कमिश्नरी सभागार में मण्डलीय विकास कार्यों की बैठक आयोजित की गई। मण्डलायुक्त रविन्द्र के मण्डल अलीगढ़ में कार्यभार संभालने के उपरांत उनकी यह प्रथम बैठक रही। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि विकास एवं निर्माण कार्यों, लाभार्थीपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं में लापरवाही बर्दाश्त नहीं कि जाएगी। सभी जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी सुनिश्चित करें कि निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय से पूरा किया जाए। पात्र एवं जरूरतमंद को केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्राथमिकता से उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संचालित योजनाएं ऑनलाइन हो चुकीं हैं। सत्यापन का कार्य भी ऑनलाइन ही किया जाता है, अधिकारी कार्य की व्यस्तता का बहाना न बनाएं, बल्कि निर्धारित समय में सत्यापन करते हुए आवेदन को आगे अग्रसारित करें। उन्होंने कहा कि बैठक का उद््देश्य आवंटित लक्ष्य की प्राप्ति में आने वाली कमियों पर विचार-विमर्श कर कठिनाईयों को दूर करना है, इसलिए आवश्यक है कि ऑकड़े सही प्रस्तुत किये जाएं।


     आयुक्त ने मण्डलीय विकास कार्यों की बैठक के आरम्भ में सभी जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों, एडीएम एवं मण्डलीय अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया। संयुक्त आयुक्त उद्योग बीरेंद्र कुमार ने स्वरोजगार की योजनाओं में हाथरस और कासगंज को और अधिक कार्य करने की आवश्यकता बताई। निवेश मित्र पोर्टल पर कोई प्रकरण लम्बित नहीं है। अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई द्वारा बोरिंग के आँकड़े गलत प्रस्तुत करने पर पुनरावृत्ति न होने की भविष्य के लिए चेतावनी दी। सिंचाई विभाग को निर्देशित किया कि सुनिश्चित करें कि टेलों तक पानी पहंचे और सिंचाई हो। यह भी कहा कि पानी पर्याप्त मात्रा में पहुंचे, जिससे किसान लाभान्वित हो। एडी हेल्थ को निर्देशित किया कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर विद्युत संयोजन हो और निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। झटपट पोर्टल पर अलीगढ़ में 39, एटा में 39, कासगंज में 242 और हाथरस में 212 समय सीमा के अंतर्गत लंबित रहने पर आँकड़ों पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए कहा कि अलीगढ़ में इतनी कम आवेदन और अन्य जनपदों में तीन गुना से ज्यादा क्यों, बैठक के उपरांत स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिए। नई सड़कों के निर्माण एवं चौड़ीकरण में एसई ने बताया कि 164 के सापेक्ष 130 पर कार्य प्रगति पर है। एसई नहीं बता सके कि कहाँ-कहाँ कार्य अनारम्भ है, आयुक्त ने कहा कि पीडब्ल्यूडी नोडल विभाग है सभी जानकारियां लेकर बैठक में उपस्थित हों। एसई ने 39 प्रतिशत गड्ढ़ामुक्त किए जाने की जानकारी देते हुए नवम्बर तक कार्य पूरा करने का आश्वासन दिया।


17 सेतुओं के सापेक्ष अलीगढ़ में 3 कार्य पूर्ण हो गए 11 पर प्रगति में है। सोलर पंप स्थापना न होने के सबन्ध में संयुक्त निदेशक कृषि राकेश बाबू स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। आयुक्त ने अगली बैठक में पूरी तैयारी के साथ उपस्थित होने की चेतावनी दी। संयुक्त निदेशक कृषि द्वारा बताया गया कि अलीगढ़ में 16959, एटा में 6363, कासगंज में 6733 एवं हाथरस में 6083 किसानों ने फसल बीमा योजना में मण्डल भर में 36138 किसानों ने ही पंजीकरण कराया है। मण्डल में 1161831 किसान हैं। निराश्रित गौवंश संरक्षण में अपर निदेशक पशुपालन को निर्देश दिए कि सड़क पर घूम रहे गौवंश को गौशालाओं में संरक्षित किया जाए। गौवंश को खाने पीने की परेशानी न होने दी जाए। सड़कों पर घूमने वाले छुट्टा गौवंश की सूचना प्राप्त करने की व्यवस्था भी जानी। डीएम को निर्देशित किया कि वह प्रतिदिन संरक्षित किए जा रहे गौवंशों की नियमित मॉनिटरिंग करें।


स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में गोल्डन कार्ड बनाने की शिथिल प्रगति की वजह जानने की कोशिश करते हुए सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। यह भी कहा कि पात्र व्यक्ति परिवार को ही लाभ दिया जाए। गोल्डन कार्डधारक को चिकित्सालय में समुचित उपचार मिलना चाहिये, साथ ही चिकित्सालयों का भुगतान भी समय से किया जाए। मण्डल में 903 के सापेक्ष 873 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर क्रियाशील हैं। अलीगढ़ एटा में 15-15 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर क्रियाशील होना शेष हैं। एटा में ब्लड कम्पोनेंट सेपरेशन यूनिट की स्थापना न होने पर नाराजगी प्रकट करते हुए सीएमओ एटा को फील्ड के कार्यों में भी रुचि लेने के निर्देश दिए, कहा कि 6 माह में स्थापित होना था, आज 2 साल हो गए। दवाओं की उपलब्धता एवं कमी पर सभी सीएमओ को जानकारी रहनी चाहिए। नियमित टीकाकरण में कोई बच्चा या गर्भवती महिला छूटनी नहीं चाहिए। अधूरे निर्माण कार्यों की समीक्षा में सभी सीएमओ को निर्देशित किया कि समय से आवंटित धनराशि कार्यदाई संस्था को दें और उपयोगिता प्रमाणपत्र भी समय से भेजा जाए।


मण्डलायुक्त ने अमृत योजना में खोदी गई सड़कें पुराने स्वरूप में लौटाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस प्रकार के सभी कार्य कल से शुरू हो जाएं। आनाकानी की दशा में विभाग सबंधित ठेकेदार के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराए। उन्होंने कहा कि परियोजनाओं को लंबित न रखते हुए तेजी से पूरा कराया जाए। स्मार्ट सिटी समीक्षा में निर्देश दिए कि गुणवत्तापूर्ण कार्य होना चाहिए। हाल की बारिश में कुछ जगह मैनहॉल धँस गए हैं, उन्हें ठीक कराया जाय। अपशिष्ट प्रबन्धन मानक के अनुरूप नहीं होने पर आपत्ति जताई। नगर में सफाई और यातायात में बहुत अधिक कार्य करने की जरूरत बताई। ओडीएफ प्लस फेज़ दो में कुछ अच्छा करने की मंशा से बेहतर कार्य किए जाएं। लाभार्थीपरक योजनाओं में पूरी तरह से पारदर्शिता बरती जाए। ग्रामीण पाईप पेयजल योजना में 1878 पर कार्य चल रहा है, 251 कार्य अनारम्भ पाए गए। कार्य मानक व गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरा करने के निर्देश दिए। घरों को जलापूर्ति संयोजन की शिथिल प्रगति पर चिंता व्यक्त करते हुए संयोजन बढ़ाने के निर्देश दिए। सामूहिक विवाह योजना में 1178 के सापेक्ष हाथरस में लक्ष्य पूरा कर लिया गया है, अन्य जनपदों में शुभ महूर्त आने पर शादियां कराई जाएंगी। कन्या सुमंगला योजना में अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों का पंजीकरण कराने के निर्देश दिए।


बैठक में जिलाधिकारी अलीगढ़ इन्द्र विक्रम सिंह, डीएम हाथरस कंचन वर्मा, डीएम कासगंज हर्षिता माथुर, डीएम एटा प्रेम रंजन, नगर आयुक्त अमित आसेरी, समस्त सीडीओ समेत मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)